मेरा भारत महान पर निबंध हिन्दी में My Country India is Great Essay in Hindi

आज के इस लेख में हमने मेरा भारत महान पर निबंध हिन्दी में (My Country India is Great Essay in Hindi) लिखा है। यह निबंध स्कूल और कॉलेज के छात्रों के लिए 1200 शब्दों में लिखा है। इससे हमें हमारे भारत देश के महत्व और महानता का ज्ञात होता है। तो आईये मेरा भारत महान निबंध को शुरू करते हैं।

Table of Content

मेरा भारत महान पर निबंध हिन्दी में (1200 Words)

भारत एक बहुत ही विशाल भू भाग और जनसंख्या वाला देश है। भारत मे अनेक धर्म और संस्कृतियां एक साथ सद्भावना के साथ रहती हैं। वैसे तो भारत मे बहुत सारी बोलियां और भाषाएं बोली जाती हैं, लेकिन हिन्दी यहां सबसे ज्यादा लोगों द्वारा बोली जाती है।

भारत एक प्रायद्वीपीय देश से जो तीन तरफ से समुद्र और महासागरों से घिरा हुआ है, जिसमें दक्षिण की तरफ हिंद महासागर, पूर्व मे बंगाल की खाड़ी और पश्चिम की तरफ अरब सागर मौजूद है। भारत के एक संसाधन संपन्न देश है। भारत मेरा देश है और एक भारतीय होने मे मैं बहुत गर्व महसूस करता हूँ। इसलिए में कहता हूँ मेरा भारत महान।

मेरा भारत महान अपने आध्यात्म, दर्शन, विज्ञान और तकनीक के लिए सारी दुनिया में जाना जाता है। भारत के हर हिस्से में हिंदू , मुस्लिम , सिख , ईसाई , बुद्ध समुदाय और जैन लोग एक साथ सौहार्दपूर्ण तरीके से रहते हैं। इतने सारे धर्मों के होने के बावजूद भारत का अपना कोई राष्ट्रीय धर्म और भाषा नहीं है, बल्कि भारत एक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र है। भारत की गोद में सभी धर्मों के लोग एक साथ खेलते हैं, और ये उनमे कभी किसी तरह का भेद भाव नहीं करता।

भारत महान नेताओं और व्यक्तियों का देश है। यहां पर सीमा पर तैनात हमारे जवान हमारे देश को किसी भी तरह के आतंकी हमले से सुरक्षित रखते हैं। महान लीडर्स जैसे छत्रपति शिवाजी महाराज , महात्मा गांधी , बाबासाहेब अम्बेडकर , महान वैज्ञानिक जैसे डॉ. जगदीश चंद्र बोस , डॉ. होमी जहांगीर भाभा , डॉ. सी वी रमन और समाज सुधारक जैसे मदर टेरेसा , राजा राम मोहन राय जैसी पुण्य आत्माओं ने यहां जन्म लेकर, भारत भूमि को धन्य कर दिया है। 

1. युवाओं मे कौशल विकास को बढावा देना

देश मे मौजूद सभी युवाओं को अपनी स्किल्स को निखारने और बढ़ाने के लिए उचित मार्गदर्शन और शिक्षा प्रदान करनी अनिवार्य है, ताकि आगे चलकर वे इस देश के लिए एक महत्त्वपूर्ण पूंजी के रूप में स्थापित हो सकें। युवाओं को ऐसे मंचों और संस्थानों तक पहुंचाना हमारी जिम्मेदारी है, जहां उन्हें प्रशिक्षण के साथ साथ कौशल विकास भी सिखाया जा सके। 

2. महिलाओं की देश के विकास और अर्थव्यवस्था में भागीदारी

3. दिव्यांग लोगों को कार्य के अवसर प्रदान करना.

शारीरिक विकलांगता से ग्रसित लोगों को कार्य के समान अवसर प्रदान करना। इसके लिए समय समय पर हमारी सरकारें ऐसे कार्यक्रम और मुहिम की शुरुआत करती हैं, जिससे दिव्यांग लोगों को भी काम सीखने और रोजगार अर्जन के मौके प्राप्त हो सके। 

इस लेख को शेयर करने के लिए धन्यवाद ! Kavi Agyat Inklab.in

my india is great essay in hindi

Similar Posts

जॉर्ज वाशिंगटन के 51 अनमोल कथन george washington quotes in hindi, गुरु नानक देव जी के अनमोल कथन guru nanak dev ji quotes in hindi, सोमनाथ ज्योतिर्लिंग मंदिर का इतिहास व कहानी somnath jyotirlinga temple history story in hindi, हिन्दू विवाह की सभी मुख्य रस्में hindu wedding rituals step by step in hindi, तेल की बढ़ती कीमतों पर निबंध essay on rising oil prices in hindi, स्वच्छता पर सुविचार best cleanliness quotes hindi – clean india स्वच्छ भारत, leave a reply cancel reply, one comment.

मेरा भारत महान पर निबन्ध | Essay on My Great Country: India in Hindi

my india is great essay in hindi

मेरा भारत महान पर निबन्ध | Essay on My Great Country: India in Hindi!

मेरा कृषि प्रधान भारत महान है । जहाँ पुरातन युग में यह आर्यावत नाम से पुकारा जाता था, वहाँ सोने की चिड़िया नाम से भी अपनी पहचान बनाए हुआ था । यहाँ के वासी आर्य कहलाते थे । महाप्रतापी राजा दुष्यंत के महावीर पुत्र भारत के नाम पर ही मेरे देश का नाम भारतवर्ष पड़ा है ।

सम्पूर्ण विश्व को मेरे भारत पर गर्व रहा है । मेरे भारत का शासक चक्रवर्ती सम्राट कहलाता था । यहाँ की सभ्यता और संस्कृति विश्व की संस्कृतियों की जननी रही है। यह नागराज का हिमकिरीह धारण किए हुए है ।

हिमालय से निकली शुद्ध-निर्मल जल की धाराओं से गंगा, यमुना, सतलज, कृष्णा, कावेरी, ब्रह्मपुत्र आदि अनेक नदियों का निर्माण हुआ है । इसकी पर्वत धरा असंख्य खनिज पदार्थो को अपनी गोदी में समेटेहुए है । कश्मीर, नैनीताल, शिमला, कुल्लू, मनाली और दार्जिलिंग आदि प्राकृतिक रमणीय स्थानों ने इसे स्वर्ग से अधिक सुंदर बना दिया है ।

ADVERTISEMENTS:

राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी जी ने अहिंसा और सत्याग्रह सरीखे अमोघ अस्त्रों के द्वारा उसे 15 अगस्त सन् 1947 ई. को अंग्रेजों के चंगुल से मुक्त कराया । यह दो हिस्सों में बंट गया । इसका दूसरा हिस्सा पाकिस्तान में है । इस विभाजन से मेरे भारत को बहुत क्षति पहुँची । नरसंहार में लाखों स्त्रियाँ की मांग का सिंदूर पोंछ दिया गया ।

बच्चों को अनाथ बना दिया गया । वैभव सम्पन्न परिवार भी शरणार्थी बन गए । देशअसंख्य समस्याओं से घिर गया था जिनमें से 45 वर्षों के अन्तराल में अधिकांश समस्याओं का समाधान हो चुका है । शेष के समाधान के लिए प्रधानमंत्री जी लगे हुए हैं ।

इस समय मेरा भारत 100 करोड़ संतानों को अपने कलेजे से लगाये हुए है । इसका क्षेत्रफल भी अपने परिवार के लिए छोटा पड़ रहा है । इसकी संतानों ने विभिन्न धर्म अपनाए हुए हैं, इसलिए यह धर्म-निरपेक्ष कहलाता है । 26 जनवरी, 1950 से इसने अपना संविधान लागू किया है । इसके संघ में 25 राज्य और 7 केन्द्र शासित क्षेत्र हैं। यह विज्ञान के क्षेत्र में छठे स्थान पर है और अणुशक्ति में सक्षम है ।

हिन्दी इसकी राष्ट्रभाषा है । वंदेमातरम् राष्ट्रीय गीत के रूप में और जन-गण-मन राष्ट्रीय गान के रूप में गाया जाता है । मेरे भारत का राष्ट्रीय पक्षी मोर और राष्ट्रीय पशु बाघ है । हमारे राष्ट्रपति का चिह्न तुला है जो न्याय का प्रतीक है । इसका भविष्य इक्कीसवीं सदी में और उज्जल है ।

मेरे देश ने काफी प्रगति की है । इसमें लोकतंत्र का विकास हुआ है । यहाँ पर आय में वृद्धि हुई है इसके अलावा निर्यात में वृद्धि औद्योगिक उत्पादन और कृषि उत्पादन में दिन दूनी रात चौगुनी प्रगति से हमेंसम्बल मिला है । हममें आत्मनिर्भरता की भावना घर कर गई है । आज देश में उत्तम शिक्षण व्यवस्था है । हम देश की रक्षा करने में सक्षम हैं ।

Related Articles:

  • मेरा देश भारत पर निबंध | Essay on My Country–India in Hindi
  • सिकन्दर महान पर निबन्ध | Essay on Sikandar – The Great Warrior in Hindi
  • अकबर महान पर निबन्ध | Essay on Akbar the Great in Hindi
  • हमारा देश भारत पर निबंध / Essay on Our Country in Hindi

दा इंडियन वायर

मेरा महान देश भारत पर निबंध

my india is great essay in hindi

By विकास सिंह

india essay in hindi

विषय-सूचि

मेरा देश भारत पर निबंध, my country india essay in hindi (100 शब्द)

भारत पूरी दुनिया में एक प्रसिद्ध देश है। भौगोलिक रूप से, हमारा देश एशिया महाद्वीप के दक्षिण में स्थित है। भारत एक उच्च जनसंख्या वाला देश है और प्राकृतिक रूप से सभी दिशाओं से सुरक्षित है। यह दुनिया भर में अपने महान सांस्कृतिक और पारंपरिक मूल्यों के लिए एक प्रसिद्ध देश है।

इसमें हिमालय नामक एक पर्वत है जो दुनिया में सबसे बड़ा पर्वत है। यह तीन दिशाओं से तीन बड़े महासागरों से घिरा हुआ है जैसे दक्षिण में हिंद महासागर के साथ, पूर्व में बंगाल की खाड़ी के साथ और पश्चिम में अरबी समुद्र के साथ। भारत एक लोकतांत्रिक देश है जो अपनी आबादी के लिए दूसरे स्थान पर है। भारत की राष्ट्रीय भाषा हिंदी है, लेकिन लगभग चौदह राष्ट्रीय मान्यता प्राप्त भाषाएँ यहाँ बोली जाती हैं।

india flag

मेरा भारत पर निबंध, my india essay in hindi (150 शब्द)

भारत एक सुंदर देश है और अपनी अनूठी संस्कृतियों और परंपराओं के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध है। यह अपने ऐतिहासिक आकर्षण और स्मारकों के लिए प्रसिद्ध है। यहां के नागरिक स्वभाव से बहुत विनम्र और समझदार हैं। यह ब्रिटिश शासन के तहत 1947 से पहले एक गुलाम देश था।

हालाँकि, महान भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों के कई वर्षों के कठिन संघर्षों और बलिदानों के बाद, भारत को 1947 में ब्रिटिश शासन से आज़ादी मिली। पं. जवाहरलाल नेहरू भारत के पहले प्रधान मंत्री बने और जब भारत को स्वतंत्रता मिली तो उन्होंने भारतीय ध्वज फहराया और उन्होंने घोषणा की कि “जब दुनिया सो जाएगी, भारत जीवन और स्वतंत्रता के लिए जागेगा”।

भारत एक लोकतांत्रिक देश है, जहाँ इसकी जनता देश की भलाई के लिए निर्णय लेने के लिए अधिकृत है। भारत “विविधता में एकता” कहने के लिए एक प्रसिद्ध देश है क्योंकि कई धर्मों, जातियों, संस्कृति और परंपरा के लोग एकता के साथ रहते हैं। भारतीय विरासत और स्मारकों में से अधिकांश को विश्व विरासत स्थलों में जोड़ा गया है।

मेरा भारत महान पर निबंध, my great india essay in hindi (200 शब्द)

भारत मेरी मातृभूमि है और मैं इसे बहुत पसंद करता हूं। भारत के लोग स्वभाव से बहुत ईमानदार और सच्चे हैं। विभिन्न अनूठी परंपराओं और संस्कृति के लोग यहां बिना किसी समस्या के साथ रहते हैं। मेरे देश की मातृभाषा हिंदी है, लेकिन कई भाषाएं यहां विभिन्न धर्मों के लोगों द्वारा बिना किसी रोकटोक के बोली जाती हैं।

भारत प्राकृतिक सुंदरता का एक महान देश है जहाँ महान लोगों ने समय-समय पर जन्म लिया और महान कार्य किए। भारतीय स्वभाव से बहुत दिल को छू लेने वाले होते हैं और वे अपने दुसरे देश के मेहमानों का दिल से स्वागत करते हैं।भारत में भारतीय जीवन दर्शन का अनुसरण किया जाता है जिसे सनातन धर्म कहा जाता है और यहाँ विविधता में एकता बनाए रखने का मुख्य कारक बन गया है।

भारत एक गणतंत्र देश है जहां उसके नागरिकों को देश के बारे में निर्णय लेने की शक्ति है। यहां कई प्राकृतिक विज्ञान, स्थान, स्मारक, प्राचीन समय की ऐतिहासिक धरोहरें आदि हैं, जो दुनिया के हर कोने से लोगों का मन मोह लेती हैं। भारत अपने आध्यात्मिक कार्यों, योग, मार्शल आर्ट आदि के लिए बहुत प्रसिद्ध है। भारत में प्रसिद्ध स्थानों, मंदिरों और अन्य विश्व धरोहर स्थलों की सुंदरता को देखने और इसका आनंद लेने के लिए तीर्थयात्रियों और भक्तों की भारी भीड़ यहाँ आती है।

मेरा प्यारा भारत पर निबंध, my lovely india essay in hindi (250 शब्द)

मेरा देश भारत शिव, पार्वती, कृष्ण, हनुमान, बुद्ध, महात्मा गांधी, स्वामी विवेकानंद, कबीर, आदि का देश है। यह एक ऐसा देश है जहां महान लोगों ने जन्म लिया और महान कार्य किए। मैं अपने देश से बहुत प्यार करता हूं और इसे सलाम करता हूं। यह अपने सबसे बड़े लोकतंत्र और दुनिया की सबसे पुरानी सभ्यता के लिए प्रसिद्ध है।

यह चीन के बाद दुनिया का दूसरा सबसे अधिक आबादी वाला देश है। यह एक ऐसा देश है जहाँ कई धर्मों और संस्कृतियों के विनम्र लोग एक साथ रहते हैं। यह राणा प्रताप, शिवाजी, लाल बहादुर शास्त्री, जवाहर लाल नेहरू, महात्मा गांधी, सरदार पटेल, सुभाष चंद्र बोस, बागत सिंह, लाज लाजपत राय और इतने सारे महान योद्धाओं का देश है।

यह एक समृद्ध देश है जहाँ महान लोगों ने साहित्य, कला और विज्ञान में योगदान दिया जैसे रवींद्रनाथ टैगोर, सारा चंद्र, प्रेमचंद, सी.वी. रमन, जगदीश चंद्र बोस, एपीजे अब्दुल कलाम, कबीर दास आदि भारत के ऐसे महान लोग हैं जिन पर देश को गर्व है। देश के सभी महान नेता गांवों से आए और देश को आगे बढ़ाने का नेतृत्व किया।

उन्होंने कई वर्षों तक संघर्ष किया और भारत को ब्रिटिश शासन से एक स्वतंत्र देश बनाने के लिए अपने जीवन का बलिदान कर दिया।भारत एक सुंदर देश है जो तीन तरफ से महासागरों से घिरा हुआ है। यह एक ऐसा देश है जहाँ लोग बहुत बौद्धिक और आध्यात्मिक हैं और भगवान और देवी में विश्वास करते हैं।

मेरा प्रिय देश भारत पर निबंध, my motherland india essay in hindi (300 शब्द)

भारत मेरी मातृभूमि देश है जहाँ मैंने जन्म लिया। मुझे भारत से प्यार है और मुझे इस पर गर्व है। भारत एक बड़ा लोकतांत्रिक देश है जो चीन के बाद जनसंख्या में दूसरे स्थान पर है। इसका समृद्ध और गौरवशाली अतीत है। इसे दुनिया की पुरानी सभ्यता का देश माना जाता है।

यह सीखने की भूमि है जहां दुनिया के कई कोनों के छात्र बड़े विश्वविद्यालयों में पढ़ने आते हैं। यह अपनी विभिन्न अनूठी और विविध संस्कृति और कई धर्मों के लोगों की परंपरा के लिए प्रसिद्ध है। विदेशों में कुछ लोग प्रकृति में आकर्षक होने के कारण भारतीय संस्कृति और परंपरा का पालन करते हैं।

विभिन्न आक्रमणकारियों ने आकर भारत की महिमा और बहुमूल्य वस्तुओं को चुरा लिया। उनमें से कुछ ने इसे एक गुलाम देश बना दिया, लेकिन देश के विभिन्न महान नेता 1947 में मेरी मातृभूमि को बिरिटशर मुक्त बनाने में सफल हो गए।जिस दिन हमारे देश को आजादी मिली उसका मतलब है कि 15 अगस्त को हर साल स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता है। पं. नेहरू भारत के पहले प्रधानमंत्री बने।

यह एक ऐसा देश है जो प्राकृतिक संसाधनों से समृद्ध है फिर भी यहाँ के निवासी गरीब हैं। यह रवीन्द्र नाथ टैगोर, सर जगदीश चंद्र बोस, सर सी.वी.रमन, श्री एच.एन.भाभा, आदि जैसे प्रख्यात लोगों के कारण प्रौद्योगिकी, विज्ञान और साहित्य के क्षेत्र में लगातार बढ़ रहा है। यह एक शांतिप्रिय देश है जहाँ कई धर्मों के लोग अनुसरण करते हैं। उनकी अपनी संस्कृति और परंपरा के साथ-साथ उनके त्योहार भी बिना किसी रोक-टोक के मनाए जाते हैं।

यहाँ कई शानदार ऐतिहासिक इमारतें, स्मारक, स्मारक और उद्यान हैं जो हर साल विभिन्न देशों के लोगों का मन मोह लेते हैं। ताजमहल भारत में एक महान स्मारक है और पृथ्वी पर स्वर्ग के रूप में शाश्वत प्रेम का प्रतीक है। यह प्रसिद्ध मंदिरों, मस्जिदों, चर्चों, गुरुद्वारों, नदियों, घाटियों, उपजाऊ मैदानों, सबसे ऊंचे पर्वत आदि का देश है।

हमारा भारत पर निबंध, our country india essay in hindi (400 शब्द)

भारत मेरा देश है और मुझे भारतीय होने पर गर्व है। यह दुनिया के सातवें सबसे बड़े देश के साथ-साथ दुनिया का दूसरा सबसे अधिक आबादी वाला देश है। इसे भारत, हिंदुस्तान और आर्यावर्त के नाम से भी जाना जाता है। यह एक प्रायद्वीप है जिसका अर्थ है जो तीन तरफ से समुद्र से घिरा हुआ है जैसे पूर्व में बंगाल की खाड़ी, पश्चिम में अरब सागर और दक्षिण में हिंद महासागर।

भारत का राष्ट्रीय पशु बाघ है, राष्ट्रीय पक्षी मोर है, राष्ट्रीय फूल कमल है और राष्ट्रीय फल आम है। भारत के ध्वज में तिरंगा है, केसर का अर्थ है पवित्रता (सबसे ऊपर), श्वेत का अर्थ है शांति (बीच में अशोक चक्र) और हरे रंग का अर्थ है उर्वरता (सबसे नीचे)। अशोक चक्र में समान रूप से विभाजित 24 तीलियाँ हैं। भारत का राष्ट्रगान “जन गण मन” है, राष्ट्रीय गीत “वंदे मातरम” है और राष्ट्रीय खेल हॉकी है।

भारत एक ऐसा देश है जहाँ लोग कई भाषाएं बोलते हैं और विभिन्न जातियों, पंथों, धर्मों और संस्कृतियों के लोग एक साथ रहते हैं। यही कारण है कि भारत “विविधता में एकता” के लिए प्रसिद्ध है। इसे आध्यात्मिकता, दर्शन, विज्ञान और प्रौद्योगिकी की भूमि के रूप में जाना जाता है।

हिंदू धर्म, बौद्ध धर्म, जैन धर्म, सिख धर्म, इस्लाम, ईसाई धर्म और यहूदी धर्म जैसे विभिन्न धर्मों के लोग प्राचीन काल से यहां एक साथ रहते हैं। यह अपने कृषि और खेती के लिए प्रसिद्ध देश है जो प्राचीन काल से इसकी रीढ़ हैं। इसका उपयोग वह स्वयं उत्पादित खाद्यान्न और फलों के लिए करता है।

यह एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है क्योंकि यह दुनिया भर के लोगों का मन मोह लेता है। यह स्मारकों, कब्रों, चर्चों, ऐतिहासिक इमारतों, मंदिरों, संग्रहालयों, प्राकृतिक सुंदरता, वन्य जीवन अभयारण्यों, वास्तुकला के स्थानों आदि में समृद्ध है, यह राजस्व का स्रोत हैं।

यह वह स्थान है जहाँ ताजमहल, फतेहपुर सीकरी, स्वर्ण मंदिर, कुतुब मीनार, लाल किला, ऊटी, नीलगिरी, कश्मीर, कजुराहो, अजंता और एलोरा की गुफाएँ, आदि चमत्कार मौजूद हैं। यह महान नदियों, पहाड़ों, घाटियों, झीलों और महासागरों का देश है। भारत की राष्ट्रीय भाषा हिंदी है।

यह एक ऐसा देश है जहाँ 29 राज्य और केन्द्र शासित प्रदेश हैं। इसके 28 राज्य हैं जिनमें फिर से कई छोटे गाँव हैं। यह एक प्रमुख कृषि प्रधान देश है जो गन्ना, कपास, जूट, चावल, गेहूं, अनाज आदि फसलों के उत्पादन के लिए प्रसिद्ध है। यह एक ऐसा देश है जहां महान नेता (शिवाजी, गांधीजी, नेहरू, डॉ. अंबेडकर, आदि), महान वैज्ञानिक (डॉ. जगदीशचंद्र बोस, डॉ। होमी भाभा, डॉ. सी. वी. रमन, डॉ. नारालिकर, आदि) और महान सुधारक ( मदर टेरेसा, पांडुरंगशास्त्री अल्हवले, टीएन शेषन) ने जन्म लिया। यह एक ऐसा देश है जहाँ विविधता मजबूत एकता और शांति के साथ मौजूद है।

भारत देश पर निबंध, essay on my country india in hindi (2000 शब्द)

भारत महान देश है। उसकी सभ्यता विशाल और विविध है। उसका इतिहास घटनाओं से भरा है। वह शुरुआती समय से बाहरी दुनिया के लिए जानी जाती थी। पूर्व में, उसे ज्ञान की भूमि के रूप में सम्मान मिला। पश्चिम में, वह धन की भूमि के रूप में प्रसिद्धि के लिए बढ़ी। युगों से, भारत के गौरव को विश्व इतिहास में जगह मिली।

भारत का मूल नाम भारतवर्ष है, या भारत भूमि है। पौराणिक आकृति के रूप में, भरत राजा दुष्यंत और शकुंतला के पुत्र थे, और एक शक्तिशाली नायक थे। प्राचीन आर्यों ने महान सम्राट के नाम पर अपनी भूमि का नाम दिया। एक अन्य मान्यता के अनुसार, भरत रुषभ देव का पुत्र था और एक महान राजा था। उनके नाम के बाद भारतवर्ष नाम दिया गया। यह नाम हिमालय से लेकर समुद्र तक की पूरी भूमि पर लागू था। इसमें संपूर्ण भौगोलिक भारत समाहित है। इस भूमि के लोगों को भरत-संतति या भरत के वंशज के रूप में वर्णित किया गया था।

भारत का नाम सिंधु नदी के नाम से पड़ा। पूर्वजों फारसियों ने उस नदी को ‘हिंदू’ कहा था। समय के साथ लोगों के लिए हिंदू नाम लागू किया गया और भूमि को हिंद कहा गया।

प्राचीन यूनानियों ने सिंधु नदी को इंदु कहा था। फारसियों को, यूनानियों और रोमियों ने भूमि को हिंद या भारत कहा था। अंत में, इन शब्दों से भूमि के लिए भारत का नाम आया। लोगों को ‘भारतीय’ कहा जाता था।

जैसा कि लोगों को हिंदू के रूप में जाना जाता था, मध्य युग तक, भूमि को हिंदुस्तान कहा जाता था।

भारत और भारतवर्ष के नामों का बहुत महत्व है। वे हिमालय से लेकर केप कोमोरिन और हिंदुकुश से लेकर बर्मा तक की पूरी जमीन के नाम हैं। जब प्राचीन यूनानी छोटे ग्रीस को अपनी मातृभूमि के रूप में नहीं सोच सकते थे, तो प्राचीन भारतीयों ने एक विशाल उप-महाद्वीप को अपनी मातृभूमि के रूप में सोचा था। राजनीतिक एकता में अपने शासकों के प्रयास से बहुत पहले उन्होंने इस एकता के बारे में सोचा।

भारत की भौगोलिक स्थिति

पूर्व के भूगोल में भारत अनुकूल स्थिति में है। वह एशियाई महाद्वीप के गुरुत्वाकर्षण के केंद्र की तरह है। अफगानिस्तान, ईरान, इराक, अरब, जॉर्डन, इजरायल, लेबनान, सीरिया और तुर्की जैसे छोटे राज्यों की श्रृंखला उसके उत्तर-पश्चिम में है। उसके दक्षिण-पूर्व में छोटे राज्यों की एक और श्रृंखला है जैसे बर्मा, मलेशिया, सिंगापुर, थाईलैंड, वियतनाम और इंडोनेशिया। भारत इस प्रकार उसकी भौगोलिक स्थिति से राजनीतिक रूप में लाभान्वित होता है।

भूगोल ने भी भारत को अलग अस्तित्व दिया है। वह दुनिया की सबसे ऊंची पर्वत श्रृंखलाओं, हिमालय की ओर से केवल उत्तर में बँधी हुई है। पूर्व, पश्चिम और दक्षिण में समुद्र और महासागर हैं। उत्तर-पश्चिम में, हिंदुकुश और सुलेमान पर्वत भारत को रूस, अफगानिस्तान और ईरान से अलग करते हैं। पूर्व में, अराकान पर्वत उसे बर्मा से अलग करते हैं। प्राकृतिक मोर्चे द्वारा केवल सभी पक्षों की रक्षा की, भारत अपनी खुद की स्पष्ट पहचान रखता है।

हालांकि अन्य देशों से अलग, भारत अलग और अलग भूमि नहीं है। समुद्र के ऊपर, उसने बाहरी दुनिया के साथ सांस्कृतिक और वाणिज्यिक संपर्क बनाए रखा। उत्तर पश्चिम में खैबर, बोलन और अन्य दर्रे से होकर, अलग-अलग समय में विदेशी जातियाँ भारत में प्रवेश करती हैं।

भारत की मजबूत भौगोलिक दीवारों के भीतर, उनके लोगों ने अपना सामाजिक, राजनीतिक और सांस्कृतिक जीवन विकसित किया। कंधे से कंधा मिलाकर, उन्होंने बाहरी प्रभावों के लिए अपने दरवाजे और खिड़कियां खुली रखीं।

भारत के प्राकृतिक प्रभाग:

भौगोलिक भारत उतना ही विशाल उप-महाद्वीप है। क्षेत्र में, यह रूस के बिना यूरोप जितना बड़ा है। चार लाख से अधिक वर्ग किलोमीटर अपने क्षेत्र पर बनाते हैं।

भारत को चार व्यापक प्राकृतिक विभाजनों में विभाजित किया गया है। सबसे पहले हिमालयी क्षेत्र है, जो ऊंचे पहाड़ों से नीचे दलदली जंगलों की ओर विस्तृत है। कश्मीर, कांगड़ा, टिहरी, कुमाऊं, नेपाल, सिक्किम और भूटान इस क्षेत्र में शामिल हैं।

दूसरा पंजाब से बंगाल तक का महान उत्तरी मैदान है, जिसे भारत-गंगा का मैदान कहा जाता है। सिंधु और उसकी सहायक नदियों की उपजाऊ घाटियाँ और गंगा, यमुना और ब्रह्मपुत्र द्वारा लाई गई जलोढ़ भूमि इस क्षेत्र को सबसे अधिक उत्पादक और सबसे अधिक आबादी वाला बनाती हैं।

तीसरा क्षेत्र मध्य भारतीय और डेक्कन पठार है। यह भौगोलिक रूप से भारत का सबसे पुराना हिस्सा है। पश्चिमी घाट और पूर्वी घाट डेक्कन के केवल दो तरफ हैं। चौथे डिवीजनों में पश्चिमी घाट और एक तरफ अरब सागर के बीच दक्षिण भारत के दो लंबे संकीर्ण तटीय मैदान हैं  ।

प्राकृतिक विभाजनों के बावजूद, भारत एक भौगोलिक इकाई बना हुआ है। यह दुर्भाग्य है; हालाँकि, भौगोलिक भारत आज तीन राजनीतिक राज्यों, अर्थात् भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश में विभाजित है। इस विभाजन ने हर हिस्से को नुकसान पहुंचाया है।

1947 में विभाजन के कारण भारत ने अपने भौगोलिक क्षेत्र का लगभग एक तिहाई हिस्सा खो दिया। फिर भी उसका आकार और जनसंख्या उसे एक महान देश बनाने के लिए पर्याप्त है।

भारत के लोग

भारत का आकार जितना विशाल है, इतनी ही विशाल इसकी आबादी है। भारत की जनसंख्या पृथ्वी में दूसरी सबसे बड़ी है। यह आबादी कई जातीय समूहों से बनी है। कहा जाता है कि भारत में किसी भी अन्य देश की तुलना में विभिन्न प्रकार के मानव शामिल हैं।

ये प्रकार फिर से कई जातियों और उप-जातियों में विभाजित हैं। इसके अलावा, लोग कई प्रमुख धर्मों और कई पंथों का पालन करते हैं। और, अंत में, लगभग दो सौ अलग-अलग भाषाएँ और बोलियाँ हैं जिनके माध्यम से लोग बोलते हैं। जातीय और भाषाई विचार से, भारत के लोगों को चार प्रमुख समूहों में विभाजित किया जा सकता है।

पहले समूह में मिट्टी के शुरुआती निवासी शामिल हैं। वे पहाड़ियों और पहाड़ों के आदिम निवासी हैं। इनमें से कुछ लोग जैसे टोडा, और संताल नए पाषाण युग के आदिम लोगों के वंशज हैं। कोल्हा, भील ​​और मुंडा प्रमुख आदिम जनजातियों का प्रतिनिधित्व करते हैं। वे रंग में गहरे हैं, चपटी नाक है और ऊंचाई में लम्बे नहीं है। वे आर्कटिक समूह से आई भाषाएँ बोलते हैं।

दूसरे समूह में मंगोल होते हैं। वे भूटान, सिक्किम और नेपाल में, असम की पहाड़ियों और हिमालय की निचली भूमि में देखे जाते हैं। गोरखा, भूटिया और खासी प्रकार के लोग इस समूह में हैं। इनका रंग पीला, चेहरा चौड़ा और नाक चपटी होती है।

तीसरे समूहों में दक्षिण के द्रविड़ लोग शामिल हैं। वे तमिल, तेलगु, मलयालम, कानेरी या कन्नड़ जैसी भाषाओं के द्रविड़ समूह को बोलते हैं। चौथे समूहों ने इंडो-आर्यन प्रकारों को कवर किया। वे कश्मीर, उत्तर प्रदेश के राजस्थानी क्षेत्रों और अन्य स्थानों पर फैले हुए हैं।

उनके शरीर लंबे हैं, रंग गोरा है, माथा चौड़ा है और नाक छोटी है। वे इंडो-आर्यन भाषाएँ प्राकृत और संस्कृत से ली गई भाषाएँ बोलते हैं। उनकी भाषाओं में गुजराती, हिंदी, बंगाली, उड़िया और मराठी आदि शामिल हैं। द्रविड़ और आर्य लोग इतने अधिक मिश्रित हैं कि कई स्थानों पर उनके बीच भेद को जानना मुश्किल है। इस तरह के नस्लीय संलयन के कारण कुछ क्षेत्रों के लोगों को आर्यो-द्रविड़ियन के रूप में वर्णित किया जाता है।

इन समूहों के अलावा, कुछ अन्य नस्लें भी बाहर से आईं और स्थायी रूप से रहीं। पहले के समय में फारसी, यूनानी, सीथियन, कुषाण, शक और हूण आते थे। इनमें से अधिकांश लोग भारतीय लोगों के साथ पूरी तरह विलीन हो गए। यहां तक ​​कि सबसे भयानक हूणों ने अपनी पहचान खो दी और राजपूतों के साथ घुल-मिल गए। इनके साथ साथ अरब, तुर्क, अफगान और मुगल भी आए। इस्लाम धर्म का पालन करते हुए वे भी भारतीय हो गए।

अनेकता में एकता

भारत अपने आपन में एक विश्व के समान है। यह कई जलवायु परिस्थितियों को प्रस्तुत करता है। इसकी भौगोलिक विशेषताएं बहुत भिन्न हैं। अनन्त हिमपात, शुष्क रेगिस्तान, घने जंगल, पठार, मैदान और नदी घाटियों के नीचे पर्वत शिखर हैं। अत्यधिक ठंड से लेकर अत्यधिक गर्मी, उच्चतम वर्षा से लेकर न्यूनतम वर्षा तक, घनी आबादी वाले क्षेत्रों से लेकर निर्जन जंगल तक, भारत प्रकृति की विविधताओं को प्रस्तुत करता है।

भारतीय लोग भी, विशाल विविधताएं प्रस्तुत करते हैं। वे रंग, पंथ जाति और रीति-रिवाजों में आपस में भिन्न हैं। वे कपड़े, त्योहारों और भोजन की आदतों में भिन्न होते हैं। वे अलग-अलग भाषाएं बोलते हैं। वहाँ आदिमानव भी हैं जो अभी भी जंगली जंगलों में रहते हैं और भोजन के लिए जानवरों का शिकार करते हैं। अधिकांश आधुनिक शहर के लोग हैं जो अल्ट्रा-आधुनिक जीवन जीते हैं।

अलग-अलग धर्म भी हैं। ब्राह्मणवादी हिंदू धर्म से जैन और बौद्ध धर्म दो अन्य महान धर्म सामने आए। मध्य युग के अंत में, सिख धर्म ने एक और धर्म को जन्म दिया। बाहर से फारसी पारसी धर्म, इस्लाम और ईसाई धर्म आए। इस प्रकार, भारत सात धर्मों का घर है।

भारत इस प्रकार विविधताओं के देश के रूप में प्रकट होता है। लेकिन यह एकता की कहानी है जो भारतीय इतिहास का सबक है। विविधता में एकता भारतीय जीवन पद्धति है। कई प्रकार के लोग हैं, लेकिन एक भारतीय राष्ट्र है। कई धर्म हैं, लेकिन सभी धर्मों को बढ़ावा देने और उनकी रक्षा करने के लिए धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र भारत है।

कई क्षेत्रीय संस्कृतियां हैं, लेकिन वे भारतीय सभ्यता के विभिन्न पहलुओं का प्रतिनिधित्व करती हैं। संक्षेप में, विविधता की तुलना में एकता अधिक वास्तविक है।

भारत की मूल एकता केवल निम्नलिखित कारकों पर टिकी हुई है:

सबसे पहले, सुदूर अतीत से, भौगोलिक भारत को एक देश के रूप में माना गया है। प्राचीन द्रष्टाओं ने पूरी भूमि को भारतवर्ष का नाम दिया। सभी लोगों को भरत-संतति या भरत की संतान बताया गया। इसने लोगों में एकता की मानसिकता पैदा की। भविष्यवक्ता, उपदेशक, दार्शनिक और कवि हमेशा भारत को एक मानते थे। इसने हर जगह लोगों को प्रभावित किया।

हिमालय और विंध्य को पवित्र माना जाता था। गंगा नदी को “माँ गंगा” के रूप में पूजा जाता है। लोगों को गंगा, यमुना, गोदावरी, सरस्वती, नर्मदा, सिंधु और कबेरी जैसी महान नदियों को लगभग दैनिक कर्तव्य के रूप में याद करना पड़ता था। अपने जीवनकाल में, हर भारतीय को भारत के सबसे दूर के छोर पर चार पवित्र स्थानों की यात्रा करने की उम्मीद थी।

वे बद्रीनाथ केवल हिमालय, कुमारिका के रामेश्वर और पश्चिमी तट पर द्वारका और पूर्वी तट के पुरी थे। किसी भारतीय की मृत्यु होने के बाद उसकी अस्थियों को प्रयाग में गंगा और यमुना के पवित्र पानी में बहाया जाता है इस तरह की प्रणालियों ने लोगों को अपनी मातृभूमि से गहराई से जोड़ा।

तीसरा, चक्रवर्ती राजा के रूप में आदर्श बनने के उद्देश्य से प्राचीन काल के शासकों को “हिमालय से सागर तक फैलने वाली भूमि के हजारों योजन” को जीतना आवश्यक था। इस आदर्श से प्रेरित होकर, महान नायकों ने भारत को राजनीतिक रूप से एकजुट करने का प्रयास किया।

चंद्रगुप्त मौर्य, अशोक, समुद्रगुप्त और हर्ष ने प्राचीन काल में इसका प्रयास किया था। जैसा कि परंपरा जारी रही, अल्लाउदीन, अकबर और औरंगज़ेब और हिंदू पेशवा बाजी राव जैसे मुस्लिम शासकों ने उसी मध्ययुगीन समय के लिए प्रयास किया। अंत में, अंग्रेजों ने विरासत का पालन किया और आधुनिक समय में भारत को एकजुट किया। इस प्रकार भारत की राजनीतिक एकता हर समय लक्ष्य के रूप में बनी रही।

चौथा, सुदूर समय से भाषाई एकता के रूप में विकसित हुआ। अशोक के शिलालेख प्राकृत में लिखे गए थे। आगे चलकर, संस्कृत सीखी गई अखिल भारतीय भाषा बन गई। आम भाषा के रूप में एकता के मजबूत बंधन के रूप में काम किया।

पांचवां, भारतीय धर्म भारत के सभी लोगों के लिए थे। वेदों, पुराणों और रामायण और महाभारत के महान महाकाव्य हर जगह भारतीय सोच पर हावी थे। कश्मीर में या कुमारिका में, तक्षशिला या तमिल भूमि पर, गुजरात या असम में महाकाव्यों ने सभी लोगों को समान रूप से सिखाया और आम लोगों को सबक प्रदान किया। इस प्रकार समाज ने कुछ बुनियादी मूल्यों को आम स्रोत के रूप में प्राप्त किया।

छठी बात, आम आस्था, दर्शन, साहित्य और कला के माध्यम से लोगों में सांस्कृतिक एकता के रूप में वृद्धि हुई। कला और वास्तुकला, स्थानीय अंतरों के साथ एक सामान्य उद्देश्य था। उदाहरण के लिए, पूजा के स्थान या चित्र एक स्थान से दूसरे स्थान पर अलग-अलग दिख सकते हैं, लेकिन हर जगह वे एक ही जरूरत को पूरा करते हैं। इस प्रकार, जैसा कि आम संस्कृति ने एकता को बढ़ावा दिया।

अंत में, भारत के इतिहास ने भारत के लोगों को एकता की भावना प्रदान की। लोगों ने भारत के आध्यात्मिक नेता, राजनीतिक नायकों की यादों को संजोया। अतीत की झलकियां गर्व के स्रोत के रूप में काम करती थीं। महान पूर्वजों के वंशजों के रूप में, और सभ्यताओं को विभाजित करने के लिए वारिस, लोगों ने एकता में अपने विश्वास को विकसित किया।

भारतीय एकता इस प्रकार मूलभूत कारणों के परिणामस्वरूप है। चीजों को संश्लेषित करने की क्षमता के साथ, भारत विविधता में एकता के लिए पहचाना जाता है।

इस लेख से सम्बंधित अपने सवाल और विचार आप नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

[ratemypost]

विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

Related Post

Paper leak: लाचार व्यवस्था, हताश युवा… पर्चा लीक का ‘अमृत काल’, केंद्र ने पीएचडी और पोस्ट-डॉक्टोरल फ़ेलोशिप के लिए वन-स्टॉप पोर्टल किया लॉन्च, एडसिल विद्यांजलि छात्रवृत्ति कार्यक्रम का हुआ शुभारंभ, 70 छात्रों को मिलेगी 5 करोड़ की छात्रवृत्ति, leave a reply cancel reply.

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Save my name, email, and website in this browser for the next time I comment.

गर्मी का प्रकोप: सूखता कंठ, छांव की तलाश, मजदूरों की मजबूरी…. भविष्य में इस संकट के और गहराने के आसार

Election in india: आचार संहिता (mcc) में ‘m’ से महज “model” नहीं, बल्कि “moral” भी बनाने की जरुरत, chabahar port deal: मध्य एशिया में भारत के नए अवसर का सृजन, मातृत्व दिवस विशेष: मातृत्व सुरक्षा के पथ पर प्रगतिशील भारत.

HindiEnglishessay

मेरा भारत महान पर निबंध । Hindi Essay on My Great India

my india is great essay in hindi

भारत एक स्वतंत्र देश है, यहाँ पर सभी लोगो को बोलने की आज़ादी है । भारत देश में कृषि सिंधु घाटी के सभ्यता के समय से चली आ रही है । हमारे भारत देश में लगभग 51% भू – भाग पर कृषि (खेती) किया जाता है ।

मेरे देश की संस्कृति काफी पुरानी संस्कृति मानी जाति है, यह अखण्डता में एकता को दर्शाता है । भारत देश का नाम पहले आर्यावर्त, भारत खंड, भारतवर्ष, हिंदुस्तान के नाम से भी जाना जाता रहा है । हमारे देश के संस्कृति बहुत देशों को भी अच्छी लगती है, इसलिए हम कहते है मेरा भारत महान है ।

हमें भारतीय होने पर गर्व होता है की हम एक भारतीय नागरिक है । यहाँ अलग – अलग धर्म के लोग आसानी से एक दूसरे के साथ घुल मिलकर रहते है बिना जाति व भेदभाव के । यहाँ पर मंदिर में पूजा भी होती है तो मस्जिद में अजान व चर्च में घंटी भी बजती है ।

भारत देश में सभी जाति व धर्म के लोग कोई भी आपदा आती है, तो वो सब मिलकर उसका सामना करते है । भारत की मिटटी को हम भारतमाता की नाम से पुकारते है जिससे हर बच्चे व बड़े बहुत प्रेम करते है । उसके हर कण – कण में लोगों के लिए प्रेम बसा हुआ है ।

यह एक ऐसा सुंदर देश है जिसे दूसरे देश लोग भी भारत की संस्कृति व लोगों से प्यार करते है । हम सब मिलकर भारत की एकता का मिसाल देते है ।

भारत देश में कई मौसम का बदलाव देखने को मिलाता है, जैसे की कभी गर्मी तो कभी सर्दी तो कभी बारिश आता रहता है । जब भी इस तरह के मौसम आते है तो लोगों के जेहन में अपने आप अलग – अलग तरीके के पकवान व घूमने के लिए स्थान नजर आता है । ये सब भारत की सुन्दरता को बढ़ता है ।

दुनिया का आठवाँ अजूबा ताज महल जो भारत देश के उत्तर प्रदेश राज्य के आगरा जिले के यमुना नदी के किनारे पर स्थित है । जो चाँदनी रात में झिलमिलाते पानी में भारत की सुन्दरता को दर्शाती है ।

भारत देश के राष्ट्र धरोहर

हमारे देश कई राष्ट्र धरोहर है उनमें से एक अशोक स्तम्भ है, जो हमें आज के समय अपने करेंसी रुपया में देखने को मिलता है ।

भारत के राष्ट्रीय भाषा हिंदी, राष्ट्रीय गीत वन्दे मातरम, राष्ट्र गान जन मन गण, राष्ट्रीय पक्षी मोर, राष्ट्रीय पशु बाघ, राष्ट्रीय चिन्ह तुला (जिसे अदालत में लगा देखते है), राष्ट्रीय फल आम है ।

मेरा भारत देश महान क्यों है ?

हमारे भारत देश की संस्कृति व परम्पराओं का दौर पुराने ज़माने से चला आ रहा है । जो भारत देश की वीरता, अखण्डता, व संस्कृति हर परिस्थितियों में आगे रहा है ।

इस देश में बहुत से प्रतापी व पराक्रम महान योद्धाओं ने जन्म लिए और हर परिस्थिति में अपने योगदान किसी न किसी रूप दिए जिसके वजह हम लोग आज भी उन्हें याद करते है ।

मेरे देश में कई सारी पवित्र नदियाँ बहती है जिसके बारे में हमें स्कूलों में सुनने को मिलता है । फिर भारत देश में घने जंगलों, वादिया, पहाड़ व स्वर्ग जैसा हिमालय पर्वत जो जम्मू कश्मीर में देखने को मिलता है । ये सब चीजे ही हमारे भारत देश को महान बनाती है ।

कृषि प्रधान देश

भारत एक कृषि प्रधान देश है । हमारे भारत देश में मौसमों के अनुसार फसलों की खेती की जातों है । इस देश के किसान भाई बड़ी मेहनत व लगन के साथ फसलों को उगाते है कहा जाता है की लगभग 50% लोगों की आजीविका कृषि से ही चलता (भरण पोषण होता) है ।

भारत के कृषि में कई तरह के पैदावार किया जाता है जैसे गेहूँ, चना, धान, बाजरा, जौ, दाल व अन्य हरी सब्जियों का भी खेती होता है ।

हरित क्रांति के बाद भारत देश में अनाज के पैदावार में बढ़ोतरी के लिया जाना जाता रहा है । यहाँ पर फलो का भी काफी अच्छा पैदावार किया जाता है जिसका आनन्द लोग मौसम दर मौसम लेते है ।

देश की संस्कृति

हमारे भारत देश की संस्कृति बहुत ही पुरानी है यह संस्कृति अनेकता में एकता के लिए जाना जाता है । यह संस्कृति पूरे देश पर लागू होती है जो हर विरासत के लिए होता है । हम लोग अपने संस्कृति का बढ़ावा देते है जिससे दूसरे देह के लोगों का ध्यान भी आकर्षित होता है ।

भारत की संस्कृति कला शिल्प, नृत्य, संगीत के लिए प्रसिद्ध है जो दूसरे देश में जाकर भी प्रदर्शन करते है । ये सभी कला कृतियाँ, पुरानी राजाओं महाराजाओं द्वारा स्थापित विरासत देखने के विदेशी लोग आता है ।

विज्ञान के क्षेत्र में भारत देश का योगदान

अगर हम भारत देश की विज्ञान की बात करें तो उसमें भी वो अपना एक अलग ही महत्वपूर्ण योगदान दिया है । शिक्षा में भारत कला संस्कृति के क्षेत्र में हमेशा से आगे ही रहा है । भारत देश को विज्ञान व प्रौद्योगिकी द्वारा काफी विकास देखने को मिला है ।

हमारे देश के सबसे महान वैज्ञानिक सी वी रमन, जगदीश चंद्र बसु, श्री निवास रामानुजन जैसे पूर्व वैज्ञानिकों द्वारा विज्ञानं के क्षेत्र में काफी योगदान दिया । एक नाम और है डॉ ए पी जे अब्दुल कलाम जी नाम आता है जिनकी खोज ही अद्भुत है उन्होंने भारतवासियों के लिए जो किया उसके लिए उन्हें कभी भुला नहीं जा सकता है ।

भारत देश की नदियाँ

इस देश में कई तरह पवित्र नदियाँ बहती है जिनका उदगम ऊंचे पर्वतों व हिमालयों से निकलती है और पूरे भारत में होते हुए विश्व में भी बहती है ।

हमारे भारत देश में कई शुद्ध व पवित्र नदिया है जैसे गंगा, यमुना, सरस्वती जो विश्व में काफी प्रसिद्ध है । इसमे भी कई ऐसे पर्यटक स्थल बनाये गए है जहाँ बहार से भी लोग आते है, जिसका नजारा स्वर्ग जैसा देखने में लगता है ।

भारत के महान शूरवीर

हमारे देश में कई शूरवीर पैदा हुए जिन्होंने अपना योगदान भारत के रक्षा करते हुए अपने जान की आहुति दे दी । उन शूरवीरो को हम आज भी याद करते है जैसे महात्मा गाँधी, भगत सिंह, सुभाष चन्द्र बोस, चंद्रशेखर आजाद, सुखदेव, रानी लक्ष्मीबाई, महाराज शिवाजी जैसे और भी कई शूरवीर जन्म लिए जो भारत माता के सच्चे सपुत्र थे ।

हमें चाहिए की जहाँ भी रहे वहाँ अपनी संस्कृति को नहीं भुला चाहिए । क्योंकि हमारे संस्कृति ही हमारा गर्व है । हमें अपने विदेशी ताकतों को कभी अपनाना नहीं चाहिए । भारत एक स्वतंत्र देश है यहाँ पर सभी लोगों की आज़ादी है ।

Related Posts

Dog essay in english for students & children, essay on air pollution in hindi l वायु प्रदूषण पर निबंध हिंदी में, बेटी बचाओ, बेटी पढाओ पर निबंध। beti padhao essay in hindi, crr क्या है & slr क्या है , what is crr & slr , नव वर्ष पर निबंध l new year essay in hindi, शिक्षक दिवस पर निबंध । essay on teachers day in hindi 2022, नशाबंदी पर निबंध । essay on prohibition in hindi, essay on my country india in english for all classes, most importance festivals of india, religious festivals – details here, दुर्गा पूजा पर लेख । article/essay on durga puja in hindi, durga puja par nibandh, 6 thoughts on “मेरा भारत महान पर निबंध । hindi essay on my great india”.

Pingback: 21वी सदी का भारत पर निबंध । Essay on 21st Century India in Hindi -

Pingback: Essay on Satyamev Jayate, History, Slogan in English -

Pingback: साहित्य का उद्देश्य- प्रेमचंद । Purpose of literature- Premchand in Hindi -

Pingback: भारत-अमेरिका संबंध पर निबंध । Essay on India-US Relations in Hindi

Pingback: दशहरा अथवा विजयदशमी पर निबंध । Essay on Dussehra in Hindi

Pingback: बाल मजदूरी पर निबंध l बाल श्रम l Child Labour Essay in Hindi

Leave a Comment Cancel Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Save my name, email, and website in this browser for the next time I comment.

logo

An Essay On India : मेरा प्यारा देश भारत पर हिन्दी निबन्ध

Meena Bisht

  • April 25, 2020
  • Hindi Essay

An Essay On India : मेरा देश भारत पर हिन्दी निबन्ध

निबंध हिंदी में हो या अंग्रेजी में , निबंध लिखने का एक खास तरीका होता है। हर निबंध को कुछ बिंदुओं (Points ) पर आधारित कर लिखा जाता है। जिससे परीक्षा में और अच्छे मार्क्स आने की संभावना बढ़ जाती है।

हम भी यहां पर “मेरा देश भारत /An Essay On India My Country” पर निबंध को कुछ बिंदुओं पर आधारित कर लिख रहे हैं। आप भी अपनी परीक्षाओं में निबंध कुछ इस तरह से लिख सकते हैं। जिससे आपके परीक्षा में अच्छे मार्क्स आयें।

An Essay On India

मेरा देश भारत पर हिन्दी निबन्ध.

  • प्रस्तावना (Introduction)
  • भारत का इंडिया (India ) नाम कैसे पड़ा।(Origin of India Word)
  • भारत के राष्ट्रीय प्रतीक (National Symbols of India)
  • मेरे देश भारत की विशेषताएं (Special Feature Of India)

भारत मेरा प्यारा देश , मेरी जन्म भूमि , मेरी मातृभूमि। मेरा देश दुनिया के नक्शे पर एशिया महाद्वीप के दक्षिणी भाग पर स्थित है। महाराज दुष्यंत और शकुंतला का वीर व महा प्रतापी पुत्र था भरत। उन्हीं के नाम पर हमारे देश का नाम “भारत” पड़ा। इसे “हिंदुस्तान” भी कहा जाता है।

भारत का इंडिया (India ) नाम कैसे पड़ा। 

दरअसल भारत का इंडिया (India) नाम अंग्रेजों की देन है। इंडिया शब्द की उत्पत्ति Indus शब्द से मानी जाती है। और सिंधु नदी को अंग्रेजी भाषा में Indus कहा जाता है। पहले सिंधु नदी के आसपास का पूरा क्षेत्र भारत का ही हिस्सा हुआ करता था।

अंग्रेजों ने इसी शब्द को लेकर भारत को इंडिया (India) कहना शुरू कर किया। जो भारत की आजादी के बाद भी अब तक चला रहा है। 

भारत के राष्ट्रीय प्रतीक

प्रत्येक स्वतंत्र राष्ट्र के कुछ राष्ट्रीय प्रतीक चिन्ह होते हैं , जो उस राष्ट्र की पहचान होते हैं। और वो देश की स्वतंत्रता व सांस्कृतिक गरिमा के प्रतीक भी होते हैं। राष्ट्रध्वज , राष्ट्रगान , राष्ट्रीय चिन्ह राष्ट्रीय पक्षी और राष्ट्रीय पशु आदि ऐसे विशिष्ट प्रतीक चिन्ह है जिनके माध्यम से भारत के राष्ट्रीय स्वरूप की पहचान होती है। 

  •   राष्ट्रीय ध्वज

भारत का राष्ट्रीय ध्वज / झंडा “तिरंगा” है।यह तीन रंगों से मिलकर बना हुआ है। सबसे ऊपर केसरिया जो वीरता , साहस , शौर्य , महानता  , त्याग , बलिदान का प्रतीक है। मध्य भाग में सफेद रंग शांति , सात्विकता , निर्मलता का संदेश देता है। और सबसे नीचे हरा रंग जो देश के धन-धान्य ,धरती की उर्वरकता और हरियाली का प्रतीक है।

झंडे के मध्य भाग में एक गोल चक्र बना है जिसके बीच में 24 तिलियां हैं। यह नीले रंग का है। यह चक्र सारनाथ के अशोक स्तंभ से लिया गया है जो जीवन की गतिशीलता को प्रदर्शित करता है। 

2 . राष्ट्रगान

हमारा राष्ट्रगान गुरुवर रवींद्रनाथ ठाकुर द्वारा रचित “जन गण मन” है। जबकि बंकिमचंद्र चटर्जी द्वारा रचित “वंदे मातरम” को राष्ट्रगीत का स्थान दिया गया है।

3 . भारत का राष्ट्रीय चिन्ह

भारत का राष्ट्रीय चिन्ह सारनाथ के अशोक स्तंभ से लिया गया है।इसमें 4 सिंह हैं। किंतु चित्र में सिर्फ तीन ही दिखाई देते हैं। इन सिंहों के नीचे घोड़े व बैल के चित्र बने हैं। इन दो चित्रों के बीच में एक चक्र बना है। इसके नीचे “सत्यमेव जयते” लिखा हुआ है।  भारत का आदर्श वाक्य भी “सत्यमेव जयते” ही है। 

4 . राष्ट्रीय फूल व राष्ट्रीय पक्षी

भारत का राष्ट्रीय फूल कमल है , तो राष्ट्रीय पक्षी मोर है।  

5 . राष्ट्रीय पशु , सर्वोच्च राष्ट्रीय पुरस्कार , राष्ट्रीय फल , राष्ट्रीय नदी

भारत का राष्ट्रीय पशु बाघ है। इसके अलावा भारत का सर्वोच्च राष्ट्रीय पुरस्कार “भारत रत्न” है ।तथा राष्ट्रीय फल के रूप में फलों के राजा आम को मान्यता दी गई है।

6 . राष्ट्रीय नदी व राष्ट्रीय पेड़

भारत की राष्ट्रीय नदी गंगा , राष्ट्रीय खेल हॉकी और राष्ट्रीय पेड़ बरगद को माना गया है। 

यह भी पढ़ें। … Essay on Flood in hindi

मेरे देश भारत की विशेषताएं (An Essay On India)

यह दुनिया का एक अद्भुत , अनोखा और बहुत सुंदर देश है। जहां अलग-अलग धर्म , संप्रदाय , जाति के लोग एक साथ मिलकर  रहते हैं और दुनिया को “अनेकता में एकता” का संदेश देते हैं। इस देश में एक नहीं हजारों विशेषताएं हैं। इनमें से कुछ निम्न है। 

  • भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक राष्ट्र है। भारत के उत्तर में गिरिराज हिमालय सीना ताने खड़े हैं , तो देश के दक्षिण में हिंद महासागर तथा पश्चिम में अरब सागर विराजमान है। पूर्व में बांग्लादेश व ब्रह्मदेश हैं।
  • गंगा , यमुना , ब्रह्मपुत्र , सिंधु , गोदावरी , कृष्णा ,कावेरी , नर्मदा आदि हमारे देश की पवित्र पावन नदियां हैं। इन नदियों के कारण ही हमारे  देश की भूमि इतनी उपजाऊ है।
  • भारत माता के माथे के मुकुट कश्मीर को “धरती का स्वर्ग” कहा जाता है क्योंकि इसकी प्राकृतिक छटा अति सुन्दर व मनोहारी है।  इसीलिए यह विश्व भर के पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र है। 
  • भारत दुनिया का सबसे प्राचीन देश है। इसकी गिनती दुनिया के सबसे पहले सभ्य होने वाले देशों में होती है। यहां की प्राचीन संस्कृति बहुत ही गौरवशाली व समृद्ध है।
  • भारत में इस वक्त लगभग 130 करोड़ की जनसंख्या निवास करती है। 
  • हमारा देश कभी भी सांप्रदायिक व संकुचित विचारों वाला देश नहीं रहा। इसीलिए इस देश में अनेक धर्म , जातियां एक साथ पनपे व फले फूले। यहां के जनजीवन में सदा विविधता के बावजूद एकता रही है। यहां विभिन्न जातियों एवं संप्रदायों के लोग मिलजुल कर रहते हैं।
  • भारत के हर प्रांत , हर राज्य में अलग अलग भाषाएं बोली जाती हैं। और हर प्रांत की वेशभूषा , खानपान , रहन-सहन , लोकसंगीत ,लोक संस्कृति बिल्कुल अलग है।
  • भारत के पवित्र वेद ,पुराण दुनिया के आदि ग्रंथ माने जाते हैं। रामायण और महाभारत जैसे महाकाव्य हमारे देश की शान है।
  • भारत प्राचीन काल से ही शिक्षा , कला , व्यापार , संस्कृति आदि सभी क्षेत्रों में सदैव आगे रहा है।
  • भारत के लोग मेहनती और ईमानदार होते हैं।
  • राम , कृष्ण , महावीर जैन , गौतम बुद्ध , अशोक आदि जैसे महाज्ञानियों , महापुरुषों की यह जन्मभूमि व कर्म भूमि हैं। 
  • झांसी की रानी लक्ष्मीबाई , वीरांगना पद्मावती , दुर्गावती , अहिल्याबाई , शिवाजी , महाराणा प्रताप , महात्मा गांधी , जवाहरलाल नेहरू , सुभाष चंद्र बोस ,भगत सिंह ,चंद्रशेखर आजाद  जैसे भारत माता के अनगिनत महान सपूतों ने इस धरती पर जन्म लेकर इसे और भी पावन व पवित्र कर दिया।
  •  भारत अपने शिल्प कला के लिए भीपूरी दुनिया में प्रसिद्ध है। अजंता एलोरा की गुफाएं , दक्षिण के सुंदर व भव्य मंदिर ,  ताज महल , लालकिला , कुतुब मीनार , लोटस टेम्पल आदि यहां दर्शनीय स्थल हैं।
  • गोवा , शिमला , मसूरी , नैनीताल , महाबलेश्वर ,स्टैचू ऑफ़ यूनिटी , आदि यहां के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल हैं।
  • वैष्णो देवी मंदिर  , अमरनाथ , शिर्डी साईं बाबा दरवार ,शिंगणापुर शनि मंदिर , 12 पवित्र ज्योतिर्लिंग , चारों धाम , तिरुपति बालाजी व दक्षिण के सभी भव्य मंदिर आदि अनेक अनगिनत यहां के पवित्र तीर्थ स्थल है। 
  • देश की राजधानी तो दिल्ली है। लेकिन मुंबई , कोलकाता , चेन्नई , बेंगलूर आदि यहां के प्रसिद्द औद्योगिक एवं  व्यवसायिक महानगर हैं।
  • लंबे समय तक हमारे देश में अंग्रेजों का शासन रहा।  इसके कारण यह देश पिछड़ गया। लेकिन आजादी पाने के बाद से देश लगातार आगे विकास के मार्ग पर चल रहा है। अब तो भारत एक परमाणु संपन्न राष्ट्र बन गया है।
  • संसार को आचार-विचार , व्यापार -व्यवहार , ज्ञान विज्ञान आदि की शिक्षा दीक्षा भारत से ही मिली है। क्षमा , उदारता , करुणा की त्रिवेणी इस देश में प्रचीन काल से ही बहती आ रही हैं।
  • संयम , सत्यता , त्याग , अहिंसा और विश्व बंधुत्व की भावना सदा भारतीय जीवन के आदर्श रहे हैं।
  • यह देश दिन प्रतिदिन विकास के पथ पर अग्रसर है। आज इस देश के वैज्ञानिकों , इंजीनियरों डॉक्टरों , करीगरों की प्रतिभा का लोहा पूरी दुनिया मानती है , और उनके सामने अपना सिर झुकाते हैं।
  • आकाश की ऊंचाइयां हों या पाताल की गहराइयां , परमाणु बम बनाने से लेकर मिसाइलों का परीक्षण तक सब में भारत ने अपना परचम फहराया है। 
  • सबसे महत्वपूर्ण बात अनेक प्रांत होते हुए भी समस्त भारत एक राष्ट्र के सूत्र में बांधा है। संपूर्ण देश की बागडोर संघ (केंद ) सरकार के हाथों में है।
  • भारतीय संस्कृति एवं जीवन दर्शन में एकरूपता है।
  • भारत बेशक एक कृषि प्रधान देश हैं।यहां की लगभग 70% आबादी आज भी कृषि क्षेत्र पर निर्भर करती है। लेकिन औद्योगिक और व्यापारिक दृष्टि से भी भारत ने अच्छी तरक्की की है 

उपसंहार (An Essay On India)

विविधता में एकता , अनेकता में एकता , वसुधैव कुटुंबकम की भावना यही भारत के मूल सिद्धांत है। दया , ईमानदारी , सत्य , अहिंसा , परोपकार के सर्वश्रेष्ठ मार्ग का ही भारत सदा अनुसरण करता रहा है।दुनिया के सभी देशो ,धर्मों , जातियों , संप्रदायों के लोगों का सम्मान भारत के संस्कारों में ही शामिल है। 

आज पश्चिम में विकसित कहे जाने वाले देश भी भारत की तरफ उम्मीद भरी निगाहों से देखते हैं। धीरे-धीरे भारत विश्व के लिए एक शांतिदूत व विश्व गुरु बन कर उभर रहा है।  भारत का भविष्य बहुत उज्ज्वल है। मेरा भारत मुझे मेरे प्राणों से भी अधिक प्यारा है।

जय जननी जन्मभूमि , जय भारत  …..  वंदे मातरम।

You are most welcome to share your comments.If you like this post.Then please share it.Thanks for visiting.

यह भी पढ़ें……

Essay on Tree Plantation in Hindi

Essay on Soldiers in hindi

Essay on My Favorite Book in hindi

Essay on Gandhi Jayanti in hindi

Essay on साँच बराबर तप नहीं ,झूठ बराबर पाप ” in hindi

Essay On Dussehra in Hindi

Essay on Independence Day in hindi

Essay on Republic Day in hindi

Essay on Farmers in hindi

Related Posts

मजदूरों का पलायन एक गंभीर सामाजिक समस्या   .

  • August 19, 2021

भारत में ऊर्जा सुरक्षा : चुनौतियों और अवसर 

  • June 2, 2021

हरित ऊर्जा : जलवायु परिवर्तन का समाधान पर हिन्दी निबंध

  • May 30, 2021

हमारे देश का नाम भारत कोइ साधारण नाम नहीं है। जहाँ आर्यों की सभ्यता के कारण देश का नाम 'आर्यावर्त' पड़ा, वहीँ राजा दुष्यंत की पत्नी शकुंतला के गर्भ से उत्पन्न तेजस्वी पुत्र भारत के नाम पर 'भारत' पड़ा। सिंधु घाटी की सभ्यता (Indus Valley Civilization ) के नाम पर इस देश का नाम हिन्दुस्तान पड़ा।

यद्यपि हमारा देश किसी-न-किसी आक्रमण से ट्रस्ट रहा, बाद के दिनों में लगभग तीन सौ वर्षों तक तो अंग्रेजों से पददलित रहा तथापि इसने अपने प्राचीन संस्कृति का कभी त्याग नहीं किया। इसका भौगोलिक स्वरूप भी सचमुच अत्यंत मोहक है। सागर इसके चरण पखारते हैं और गिरिराज हिमालय इसके उज्जवल मस्तक हैं। 32 लाख 68 हजार 90 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ यह विशाल देश लगभग एक अरब से अधिक जनसंख्या से हरियाली युक्त है। क्षेत्रफल के हिसाब से दुनिया का सातवां तथा जनसंख्या के दृस्टि से यह विश्व का दूसरा देश है। सांस्कृतिक गरिमा की दृष्टि से यह विश्व का प्रथम देश है। भारत को दुनिया के देशों ने 'सोने की चिड़ियाँ' भी कहा है।

अनेक जातियों और देशों ने इस पर आक्रमण किये हैं और शासन करना पसंद किया है। वस्तुतः भारत दुनिया का सबसे सुन्दर देश है। इस देश की प्रतिष्ठा की एक - एक बात भी अद्वितीय है। संसार का सबसे प्राचीन ग्रन्थ 'वेद' यहां की श्रेष्ठतम आध्यातिमक सर्जना है। श्रीकृष्ण और मर्यादापुरुषोत्तम राम के अवतार लेने की भूमि भी यही है। भगवान महावीर और भगवान् बुद्ध तथा अन्य अनगिनत महर्षि-मुनियों की पवित्र भूमि यही है। आदि कवी वाल्मीकि और विश्व प्रसिद्द महाकवि तुलसीदास, सूरदास, कालिदास, भवभूति, माघ, डंडी, प्रभृति मनीषियों के आविर्भाव की पवित्र भूमि यही है। गंगा, युमना, सरयू, सतलुज, ब्रह्मपुत्र, कृष्णा, कावेरी जैसी पवित्र नदियों की धाराएं यहां की पवित्र भूमि पर ही श्वाश्वत प्रवाहमान है।

मातृभूमि की बलिवेदी पर अपने प्राण पुष्प आरपी करने वाले अनेकानेक वीर पुरुषों का आविर्भाव इसी भूमि पर हुआ। मोतीलाल नेहरू, जवाहरलाल नेहरू, महात्मा गांधी, सरदार भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद, खुदीराम बोस, राम प्रसाद बिस्मिल, प्रफुल्ल चंद्र चटर्जी, ठाकुर रोशन सिंह, सुभाष चंद्र बोस, ईश्वर चंद्र विद्यासागर, राजा राममोहन राय, रवींद्र नाथ टैगोर, स्वामी विवेकानंद, रामकृष्ण परमहंस, कस्तूरबा गांधी, ज्योतिबा फुले, महारानी लक्ष्मी बाई, वीर कुंवर सिंह जैसे व्यक्तियों की एक लम्बी सूची है जिसे केवल जानकर दुनिया के हौसले पस्त हो जाते है । ये सभी भारत की विभूतियाँ हैं जिनपर भारत को गर्व था, गर्व है, और गर्व रहेगा।

दुनिया के कितने आक्रमणकारियों ने भारत के अस्तित्व पर हमला किया, लूटा, फिर भी भारत उसी तरह आज भी समृद्ध, सभ्य, सुसंस्कृत और सलज्ज बनकर दुनिया को अपने अचल अस्तित्व का बोध करा रहा है। इसकी प्रकृति और सपड़ा पर आज भी पूरी दुनिया ललचाती है। भारत के अलावा कौन - सा देश है। जहां छह ऋतुएं है। ऋतुओं का यह बहुरंगा स्वरूप किसी भी देश को मयस्सर नहीं है कहीं ग्रीष्म है तो कहीं सिर्फ शिशिर। मगर एक भारत है जहां वसंत, ग्रीष्म, वर्षा, शरद, हेमंत और शिशिर की झांकियां चित्त को चुरा लेती है।

आज हमारा देश आजाद है। दुनिया का सबसे बड़ा गणतंत्र भारत आज भी विश्व को मार्ग-दर्शन ही कराता है। आज भी दुनिया में शान्तिकामना की जाती है तो सभी भारत का मुंह ताकते हैं। इसीलिए की विश्व-शान्ति के ले भारत पहल करने की शक्ति रखता है। दुनिया की सबसे बड़ी और ताकतवर संस्था संयुक्त राष्ट्र संघ में भी भारत की एक अलग छवि और प्रतिष्ठा है। चाहे निरस्त्रीकरण की बात हो या सी०टी०बी०टी० पर हस्ताक्षर करने की बात हो, भारत किसी भी मुद्दे पर दो टूक कहने में नहीं चूकता है।

भारत की भूमि रत्न गर्भा है। यहां प्रत्येक वास्तु का प्राचुर्य है यहाँ के मंदिरों को लूटकर आक्रमणकारियों ने सोने की भूख मिटाई है। यहां की खानों में सोना, चांदी, अभ्रक, तांबा, हीरा कितनी हे बहुमूल्य धातुएं हैं।

आज भारत अपन प्राचीन गौरव की रक्षा के लिए पूर्णरूप से जागरूक नहीं रहा। यही सबसे बड़ी कमी हो गयी है की लोग जीवनादर्श और नैतिकता के महत्त्व को तेजी से भूल रहे हैं। लोग पाश्चात्य संस्कृति से तीव्रता से प्रभावित होते जा रहे हैं आवर फैशन परस्ती का शिकार हो रहे हैं। ऐसी स्थिति में लाचार होकर कवी को कहना पड़ा है।

हमारे सपनों के भारत में आज की भाँती घोटाले नहीं होंगे, भ्रष्टाचार नहीं होगा, अपराध नहीं होंगे। मानव मूल्य की रक्षा के लिए देश का हर नागरिक चिंतित रहेगा। विश्व बंधुत्व की भावना और बलवती होगी । हमारे सपनों का भारत वही भारत होगा जहां देवता भी स्वर्गलोग से आने को तत्पर और इच्छुक रहते हैं।

Nibandh

मेरा भारत महान पर निबंध

ADVERTISEMENT

मेरे भारत का नाम संपूर्ण विश्व में गर्व की बात है मेरा देश परंपरा वीरता संस्कृति या यू कहे भौगोलिक सभी परिस्थिति में महान है। मेरा भारत देश कृषि प्रधान देश है यहां पर हर तरह के अनाजौ की पैदावार होती है जेसे मक्का ,ज्वार ,गेंहू ,बाजरा ,इत्यादि। मेरा भारत देश कृषि प्रधान होने के साथ अन्य देशों में भी अग्रणी है।

मेरे देश में लोकतंत्र है। मेरे देश में सभी के लिए समान कानून लागू होता है और उसका पालन करना मेरे देश के हर नागरिक को के लिए आवश्यक है।

मेरे भारत में वैज्ञानिक खोजों के लिए कई वैज्ञानिक शामिल है। जिसमें सी.वी. रमण ,जगदीश चंद्र बसु, श्रीनिवास रामानुजन ,और भी कई वैज्ञानिक हुए। इन्होने भौतिकी विज्ञान, चिकित्सा विज्ञान, खगोलीय विज्ञान सभी में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है और मेरे देश का नाम रोशन किया है।

मेरे भारत में महात्मा गांधी जी जैसे राष्ट्रपिता ने जन्म लिया जिन्होंने स्वतंत्रता के लिए अपने प्राणों के बलिदान दे दिया.मेरे भारत ने करोड़ों संतानों को अपने कलेजे से लगाया हुआ है। मेरे भारत की राष्ट्रभाषा "हिंदी" है। "वंदे मातरम" राष्ट्रगीत है। "जन गण मन" राष्ट्रीय गान है। मेरे भारत का राष्ट्रीय पक्षी "मोर" है। मेरे भारत का राष्ट्रीय पशु "बाघ" है। राष्ट्रीय चिन्ह "तुला" है। जो न्याय का प्रतीक है। मेरे भारत का भविष्य और भी उज्जवल था और आगे भी उज्जवल रहेगा।

मेरे भारत के बारे में लिखना चाहे तो शब्द कम पड़ जाएंगे। मेरा भारत देश जिसे एक सोने की चिड़िया कहा जाता था उस सोने की चिड़िया को अंग्रेज चुरा कर ले गए थे। परंतु आज मेरे भारत ने अपनी मेहनत, लगन और ईमानदारी से वही स्थान प्राप्त करने में कोई कसर नहीं छोड़ी मुझे मेरे देश पर गर्व है।

Nibandh Category

Essay On India In Hindi

Essay On India In Hindi | मेरा देश भारत पर निबंध हिंदी में 500 शब्दों का

नमस्ते स्टूडेंट्स! “भारत पर निबंध” (Essay On India In Hindi) के इस महत्वपूर्ण विषय पर आपका स्वागत है। भारत, विश्व का सबसे विविध और प्राचीन देश है, जिसका इतिहास विशाल है और जिसमें संस्कृति, ऐतिहासिक धरोहर, और अनगिनत धार्मिक और सांस्कृतिक परंपराएँ मिलती हैं। भारत एक ऐसा देश है जो समृद्धि और विकास की ओर अग्रसर हो रहा है, लेकिन यहाँ के लोग भी अपनी मूल भूमि के महत्व को समझते हैं।

आज इस My India Essay In Hindi में हम आपको बहुत ही आसान भाषा में India Par Nibandh In Hindi के बारे में बात करने वाले हैं। हम इस Bharat Par Nibandh In Hindi में भारत के सौंदर्य, इतिहास, संस्कृति, और विकास के पहलुओं को जांचेंगे, ताकि हम इस महान देश के बारे में और अधिक जान सकें। चलिए अब बिना किसी देरी के आसान भाषा में About India In Hindi Essay के बारे में जानते हैं:

Essay On India In Hindi 500 Words

परिचय: भारत, एक विशाल और विविध देश है जो दक्षिण एशिया में स्थित है। यह विश्व का सबसे प्राचीन और समृद्ध देशों में से एक है, जिसका इतिहास हजारों वर्षों पुराना है। भारत ने अपनी संस्कृति, विविधता और प्रेरणादायक विभिन्नता के लिए विश्व में पहचान बनाई है। यहाँ की संस्कृति, भूगोल, और इतिहास का एक अद्वितीय मिश्रण है जो इसे विशेष बनाता है।

भूगोल: भारत एक महान भूगोलिक विस्तार वाला देश है। यहाँ हरित प्रदेशों से लेकर ठंडे हिमालय तक सब कुछ है। यहाँ के सुंदर नदियाँ, जलवायु, और जीवन का संगम हर किसी को आकर्षित करता है।

संस्कृति: भारतीय संस्कृति बहुत ऋचियता और विविधता से भरी हुई है। यहाँ की विभिन्न भाषाएँ, धर्म, रंग, और समृद्ध संस्कृति हमें अन्य देशों से अलग बनाती हैं। भारतीय त्योहार और उत्सव भी दुनिया भर में मशहूर हैं।

भारत की आधिकारिक भाषा: भारत की आधिकारिक भाषा हिंदी है, जो कि विश्व की एकता का प्रतीक है। हिंदी के अलावा, भारत में कई अन्य भाषाएँ भी बोली जाती हैं जैसे कि अंग्रेजी, तमिल, तेलुगु, बंगाली, गुजराती आदि।

भारतीय खानपान: भारत का खानपान भी अत्यधिक प्रसिद्ध है। यहाँ की विविधता और स्वादिष्टता भारतीय खाने को अन्य देशों से अलग बनाती है। भारतीय खाने में मसाले, चावल, दाल, रोटी, और सब्जियाँ शामिल हैं, जो स्वाद में अद्वितीय होते हैं।

भारत का इतिहास: भारत का इतिहास बहुत गहरा और प्रचीन है। यहाँ के इतिहास में महान सम्राट, योद्धा, और विचारकों की कहानियाँ छुपी हैं। भारतीय इतिहास में भगवान बुद्ध, महात्मा गांधी, भगत सिंह जैसे महान व्यक्तित्वों का जन्म हुआ, जिन्होंने दुनिया को अपनी विचारधारा से परिचित किया।

आज का भारत: आज के भारत में विज्ञान, तकनीक, और कला में विकास हो रहा है। यहाँ के युवा वैज्ञानिक, डॉक्टर, इंजीनियर, चित्रकला के कलाकार और खेल के चमकते सितारे दुनिया में मशहूर हैं।

India Par Nibandh In Hindi 100 Words

भारत एक विशाल देश है जो एशिया महाद्वीप में स्थित है। यह क्षेत्रफल के हिसाब से सातवाँ सबसे बड़ा देश है। भारत की जनसंख्या लगभग 1.4 अरब है, जो इसे दुनिया का दूसरा सबसे अधिक आबादी वाला देश बनाती है। भारत एक सांस्कृतिक रूप से विविध देश है, जिसमें कई अलग-अलग धर्म, भाषाएँ और रीति-रिवाज हैं।

भारत एक प्राचीन देश है जिसका इतिहास हजारों साल पुराना है। भारत ने कई महान सभ्यताओं को जन्म दिया है, जिनमें सिंधु घाटी सभ्यता, मौर्य साम्राज्य और मुगल साम्राज्य शामिल हैं। भारत ने दुनिया को कई महान कला, साहित्य और संगीत की रचनाएं दी हैं।

आज, भारत एक लोकतांत्रिक गणराज्य है। भारत एक तेजी से बढ़ता हुआ देश है, जिसमें एक मजबूत अर्थव्यवस्था है। भारत दुनिया की सबसे बड़ी आबादी वाले देशों में से एक है, और यह एक प्रमुख वैश्विक शक्ति बनने की क्षमता रखता है।

इस लेख के माध्यम से हमने आपको Essay On India In Hindi 500 Words | मेरा देश भारत पर निबंध हिंदी में  के बारे में जानकारी दी। आशा करते हैं आपको Essay/ Paragraph On India In Hindi  पसंद आया होगा। अगर आप My Country India Essay In Hindi  के बारे में कोई सवाल करना चाहते हैं तो निचे कमेंट में पूछ सकते हैं। धन्यवाद!

यह भी पढ़े –  Mere Sapno Ka Bharat Essay In Hindi 

Digital India Essay In Hindi | डिजिटल इंडिया पर निबंध 1000 शब्दों में

1 thought on “Essay On India In Hindi | मेरा देश भारत पर निबंध हिंदी में 500 शब्दों का”

Very nice essay

Leave a Comment Cancel reply

Save my name, email, and website in this browser for the next time I comment.

HindiKiDuniyacom

मेरे सपनों का भारत पर निबंध (India of My Dreams Essay in Hindi)

मेरे सपनों का भारत

भारत एक ऐसा देश है जहां विभिन्न संस्कृतियों और धर्मों के लोग एक-दूसरे के साथ सद्भाव में रहते हैं। हालांकि अभी भी देश के कई हिस्सों में किसी व्यक्ति के लिंग, जाति, पंथ, धर्म और आर्थिक स्थिति के आधार पर भेदभाव किया जाता है। मेरे सपनों का भारत ऐसा भारत होगा जहां किसी से ऐसा कोई भेदभाव नहीं है। भारत ने पिछले कुछ दशकों में विज्ञान, प्रौद्योगिकी, शिक्षा और अन्य क्षेत्रों में बहुत विकास देखा है। मैं एक पूरी तरह से विकसित देश के रूप में भारत का सपना देखता हूं, जो न केवल उपर्युक्त क्षेत्रों में उत्कृष्टता हासिल करेगा बल्कि अपनी सांस्कृतिक विरासत को भी बरकरार रखेगा।

मेरे सपनों का भारत पर छोटे तथा बड़े निबंध (Long and Short Essay on India of My Dreams in Hindi, Mere Sapno ka Bharat par Nibandh Hindi mein)

निबंध 1 (300 शब्द).

भारत एक बहु-सांस्कृतिक, बहुभाषी और बहु-धार्मिक समाज है, जिसने पिछली शताब्दी में विभिन्न क्षेत्रों में स्थिर प्रगति देखी है। मेरे सपनों का भारत वो भारत है जो इससे भी अधिक गति से प्रगति करे और जल्द ही विकसित देशों की सूची में शामिल हो।

यहां पर उन महत्वपूर्ण क्षेत्रों की जानकारी दी गई है जिनमें भारत को बेहतर बनाने के लिए ध्यान देने की आवश्यकता है:

  • शिक्षा और रोजगार

मैं ऐसे भारत का सपना देखता हूं जहां हर नागरिक शिक्षित होगा और हर किसी को योग्य रोजगार के मौके मिल सकेंगे। शिक्षित और प्रतिभाशाली व्यक्तियों से भरे राष्ट्र के विकास को कोई रोक नहीं सकता।

  • जाति और धार्मिक मुद्दे

मेरे सपनों का भारत एक ऐसा भारत होगा जहां लोगों को उनकी जाति या धर्म के आधार पर भेदभाव नहीं किया जाएगा। जाती और धार्मिक मुद्दों को दरकिनार करके कार्य करना राष्ट्र को मजबूत करने में काफी महत्वपूर्ण कदम होगा।

  • औद्योगिक और तकनीकी विकास

​​भारत ने पिछले कुछ दशकों में औद्योगिक और तकनीकी विकास दोनों को देखा है। हालाँकि यह विकास अभी भी अन्य देशों के विकास के समान नहीं है। मेरे सपनों का भारत तकनीकी क्षेत्र के साथ-साथ अन्य क्षेत्रों में तेज़ी से प्रगति करेगा।

देश में बहुत भ्रष्टाचार है और इसकी दर हर दिन तेज़ी से बढ़ रही है। आम आदमी भ्रष्ट राजनेताओं के हाथों पीड़ित है जो केवल अपने स्वार्थी उद्देश्यों को पूरा करने में रुचि रखते हैं। मेरे सपनों का भारत भ्रष्टाचार से मुक्त होगा। यह एक ऐसा देश होगा जहां लोगों की भलाई सरकार का एकमात्र एजेंडा होगी।

  • लिंग भेदभाव

यह देखना अत्यंत दुखदायी है कि जीवन के हर क्षेत्र में खुद को साबित होने के बाद भी महिलाओं को अब तक पुरुषों से नीचा माना जाता है। मेरे सपनों का भारत में कोई लिंग भेदभाव नहीं होगा। यह ऐसा स्थान होगा जहां पुरुषों और महिलाओं को बराबर माना जाता हो।

संक्षेप में, मेरे सपनों का भारत एक ऐसा स्थान होगा जहां लोग खुश और सुरक्षित महसूस करते हैं और अच्छे जीवन की गुणवत्ता का आनंद लेते हैं।

निबंध 2 (400 शब्द)

हमें गर्व है की भारत में विभिन्न जातियों, धर्मों और धर्मों से संबंधित लोग एक साथ रहते है। हमारा देश अपनी समृद्ध संस्कृति और विविधता में एकता के लिए जाना जाता है। पिछले कुछ दशकों में भारत ने विभिन्न उद्योगों में भी तेजी देखी है। हालांकि, हमें अभी भी इसकी खुशहाली के लिए लंबा रास्ता तय करना है।

यहां कुछ ऐसे क्षेत्रों के उदाहरण दिए गए हैं जिन पर काम करके भारत को आदर्श देश बनाने में सहायता मिल सकती है:

देश में आर्थिक असमानता बहुत अधिक है। यहां अमीर दिन प्रतिदिन और अमीर हो रहे हैं और गरीब और गरीब बनते जा रहे हैं। मैं ऐसे भारत का सपना देखता हूं जहां धन समान रूप से नागरिकों के बीच वितरित किया जाता हो।

राष्ट्र की वृद्धि में शिक्षा का अभाव मुख्य बाधाओं में से एक है। सरकार शिक्षा के महत्व के बारे में जागरुकता फैलाने के प्रयास कर रही है। हालांकि यह सुनिश्चित करने के लिए भी कदम उठाने चाहिए कि देश में प्रत्येक व्यक्ति को शिक्षा का अधिकार मिलना जरुरी है।

देश में अच्छे रोजगार के अवसरों की कमी है। यहां तक ​​कि जो लोग योग्य हैं वे अच्छी नौकरियां पाने में असमर्थ रहे हैं। बेरोजगारों के बीच असंतोष का स्तर बहुत अधिक है और वे अक्सर सड़क पर अपराध करते हुए पाए जातें हैं। मेरे सपनों का भारत वो भारत है जो सभी के लिए बराबर रोजगार के अवसर प्रदान करता है जिससे कि हम सभी हमारे देश के विकास और सुधार के लिए काम करें।

जातिवाद एक और बड़ा मुद्दा है जिस पर काम करने की आवश्यकता है। मेरे सपनों का भारत एक ऐसा स्थान होगा जहां लोगों से जाति, पंथ या धर्म के आधार पर भेदभाव नहीं किया जाता हो।

मेरे सपनों का भारत एक ऐसा स्थान होगा जहां महिलाओं को सम्मान दिया जाता है और पुरुषों के बराबर महत्व दिया जाता हो। यह एक ऐसी जगह होगी जहां महिलाओं की सुरक्षा अत्यंत महत्वपूर्ण होगी।

मैं ऐसे भारत का सपना देखता हूँ जो भ्रष्टाचार से मुक्त हो। यह एक ऐसी जगह होगी जहां राजनीतिक नेता अपने स्वयं के स्वार्थ को पूरा करने के बजाय देशों की सेवा में समर्पित रहेंगे।

  • तकनीकी विकास

भारत ने प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में तेजी से वृद्धि देखी है। मैं चाहता हूं कि मेरे सपनों का भारत और अधिक गति से आगे बढ़े और प्रथम श्रेणी के देशों में अपनी जगह बनाने के लिए नई ऊंचाइयों को हासिल करे।

मेरे सपनों का भारत वो भारत है जहां विभिन्न जातियों, पंथों, धर्मों, जातीय समूहों और आर्थिक एवं सामाजिक स्थिति के लोग एक-दूसरे के साथ पूर्ण सामंजस्य में रहते हैं। मेरे सपनों के भारत में सरकार को अपने सभी नागरिकों के लिए समान रोजगार के अवसर सुनिश्चित करने चाहिए।

Essay on India of My Dreams in Hindi

निबंध 3 (500 शब्द)

मेरे सपनों का भारत एक ऐसा देश होगा जहां समानता की स्वतंत्रता अपने वास्तविक अर्थों में मिली है। यह ऐसी जगह होगी जहां किसी व्यक्ति की जाति, पंथ, धर्म, सामाजिक या आर्थिक स्थिति के आधार पर कोई भेदभाव नहीं किया जाता हो। मैं इसे एक ऐसे स्थान के रूप में भी देखता हूं जिसने औद्योगिक और तकनीकी क्षेत्रों में तेज़ी से विकास को देखा हो। यहां कुछ ऐसे क्षेत्रों में विशेष रूप से ध्यान देने की आवश्यकता है:

महिला सशक्तिकरण

आज के समय में अधिक से अधिक महिलाएं अपने घरों से बाहर निकल रही हैं और अलग-अलग क्षेत्रों में अपनी एक पहचान बना रही हैं लेकिन फिर भी हमारे देश की महिलाएं आज भी काफ़ी भेदभाव का शिकार होती है। स्त्री भ्रूणहत से लेकर महिलाओं को घरेलू कार्यों में सीमित करने तक अभी बहुत सारे क्षेत्रों में काम करने की आवश्यकता है। महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए कई गैर-लाभकारी संगठन आगे आए हैं। हालांकि हमें समाज की मानसिकता को बदलने पर बहुत काम करना है। मैं ऐसे भारत का सपना देखता हूं जहाँ महिलाओं को बराबरी का दर्जा प्राप्त होगा।

हालांकि भारत सरकार शिक्षा की मांग के महत्व को बढ़ावा देने के प्रयास कर रही है पर अभी भी देश में बहुत से लोग इसके महत्व को महसूस नहीं कर रहे हैं। मेरे सपनों का भारत एक ऐसा स्थान होगा जहां शिक्षा सभी के लिए अनिवार्य हो। सबकी शिक्षा सुनिश्चित करने के लिए सरकार को जरुरी कदम उठाने चाहिए ताकि देश में कोई भी बच्चा शिक्षा से रहित नहीं ना रहे।

रोजगार के अवसर

देश के कई योग्य युवाओं को रोजगार के अवसर नहीं मिल रहे है। अवसर या तो सीमित होते हैं या योग्य उम्मीदवारों की जरुरत के अनुपात में नहीं होते हैं। इसके पीछे मुख्य कारण कमजोर औद्योगिक वृद्धि है। इसके अलावा कुछ अन्य कारक हैं जैसे कि आरक्षण जो कि योग्य उम्मीदवारों को अच्छा अवसर प्राप्त करने से रोकते हैं। भारत में रोजगार के अवसरों को पाने में असफल रहने वाले कई युवा विदेशों में चले जाते हैं और अपने कुशल दिमाग का अन्य देशों के आर्थिक विकास के लिए काम करते हैं जबकि कुछ लोग सारी उम्र काम नहीं मिलने की वजह से बेरोजगार घूमते हैं।

जाति भेदभाव

देश अभी भी जाति, पंथ और धर्म के आधार पर भेदभाव से मुक्त नहीं है। यह देखना अत्यंत दुखदायी है कि अभी भी कैसे देश के कुछ हिस्सों में कमजोर वर्गों के लोग अपने मूल अधिकारों से वंचित रह रहे हैं।

इसके अलावा कई विभिन्न कट्टरपंथी और अलगाववादी समूह है जो लोगों को अपने धर्म का प्रचार करने और दूसरों के धर्म बारे में गलत बात का प्रचार करने के लिए उकसातें हैं। इससे देश में अक्सर अशांति फैलती है। मैं ऐसे भारत का सपना देखता हूँ जहां लोगों से जाति और धर्म के आधार पर भेदभाव नहीं किया जाता हो।

भारत के विकास की गति में मुख्य अवरोध भ्रष्टाचार है। ऐसा लगता है कि देश की सेवा करने के बजाय यहां के राजनीतिक नेता अपनी जेब भरने में व्यस्त हैं। मेरे सपनों का भारत वह होगा जहां के मंत्री पूरी तरह से देश और उसके नागरिकों के विकास के लिए समर्पित रहे।

मेरे सपनों का भारत एक ऐसा देश होगा जो अपने सभी नागरिकों को समान मानता हो और किसी भी मापदंड के आधार पर उनसे भेदभाव नहीं करता हो। मैं एक ऐसी जगह का सपना देखता हूँ जहां महिलाओं का सम्मान किया जाता है और उन्हें पुरुषों के समान देखा जाता हो। मैं चाहता हूं कि आने वाले समय में विज्ञान, प्रौद्योगिकी, कृषि और शिक्षा के क्षेत्र में भारत प्रगति करे।

निबंध 4 (600 शब्द)

भारत एक ऐसा देश है जहां विभिन्न जातीय समूहों, जातियों और धर्मों के लोग सौहार्दपूर्ण ढंग से रहते हैं। भारत को अपनी समृद्ध, विविध सांस्कृतिक विरासत पर गर्व है। हालाँकि भारत ने अपनी आजादी के बाद से अब तक एक लंबा सफर तय किया है। पिछले कुछ दशकों में इसने एक विशाल सामाजिक और आर्थिक विकास को देखा है पर देश के कई हिस्सों में अभी भी आर्थिक और सामाजिक असमानताएं मौजूद है। देश के कई हिस्सों में लोगों को उनकी जाति और धार्मिक प्राथमिकताओं के आधार पर नीची नजरों से देखा जाता है। मेरे सपनों का भारत एक ऐसा स्थान होगा जहां हर नागरिक को समानता की वास्तविक स्वतंत्रता प्राप्त होगी।

सुधार के क्षेत्र

देश को आगे बढ़ाने और विकसित करने के लिए अभी भी काफी काम करने की ज़रूरत है। यहां चार प्रमुख क्षेत्रों पर एक नज़र डाली गई है जिन पर तत्काल ध्यान देने की आवश्यकता हैं:

शिक्षा किसी भी देश की मजबूती की नीवं है। हमारे देश की प्रमुख कमियों में से एक यह है कि लोग अभी भी शिक्षा के महत्व को नहीं पहचानते हैं। गरीबी या गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले लोग विशेष रूप से शिक्षित होने के महत्व को अनदेखी करते हैं। उन्हें नहीं पता है कि शिक्षा की कमी गरीबी के लिए जिम्मेदार मुख्य कारकों में से एक है। सरकार अनिवार्य शिक्षा के अधिकार को बढ़ावा देने तथा वयस्क शिक्षा विद्यालय खोलने के माध्यम से यह सुनिश्चित करने के लिए कदम उठा रही है कि अधिक से अधिक लोगों को अपने बच्चों के लिए मुफ्त शिक्षा की पहुंच हो। मेरे सपनों का भारत एक ऐसा स्थान होगा जहां हर नागरिक शिक्षित और कुशल हो।

लिंग भेदभाव एक और मुद्दा है जिस पर काम करने की जरुरत है। महिलाओं को लगातार उनके अधिकारों के बारे में जागरूक किया जा रहा है और वे विभिन्न क्षेत्रों में अच्छा प्रदर्शन भी कर रही हैं, फिर भी महिलाओं को समाज में अपनी जगह बनाने के लिए कई बाधाओं से लड़ना होगा।

देश के कई हिस्सों में लड़की का जन्म अभी भी एक अभिशाप माना जाता है। उच्च शिक्षा के लिए लड़कियों को प्रोत्साहित नहीं किया जाता है। यहां तक ​​कि महिलाएं जो योग्य हैं उनसे भी यह अपेक्षा की जाती है कि वे विवाह के बाद बाहर काम करने की बजाए अपने परिवार की देखभाल करे। काम पर महिलाओं को दी गई मजदूरी पुरुषों को दिए वेतन की तुलना में कम होती है। मैं ऐसे भारत का सपना देखता हूँ जो महिलाओं के खिलाफ भेदभाव से रहित हो।

  • तकनीकी उन्नति

हालांकि भारत ने विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में बहुत विकास और उन्नति देखी है फिर भी अभी इस क्षेत्र में कड़ी मेहनत करने की आवश्यकता है। यह देखना अत्यंत दुखदायी है कि तेज़ बुद्धि वाले व्यक्ति अपने देश के विकास में योगदान करने के बजाय विदेशों में रोजगार के अवसर तलाशने और उन देशों की तकनीकी और औद्योगिक उन्नति में योगदान देने चले जाते है। मेरे सपनों का भारत वो भारत है जो व्यक्तियों के लिए अच्छे रोजगार के अवसर प्रदान करता है और देश को तकनीकी प्रगति के पथ एक नई दिशा प्रदान करता है।

भारत में अपराध दर दिन-प्रतिदिन बढ़ रही है। बलात्कार, डकैती, दहेज और हत्या के कई मामले हर दिन दर्ज किए जा रहे हैं। कई मामलो की तो सुनवाई ही नहीं हो रही है। शिक्षा का अभाव, बेरोजगारी और गरीबी ने इस दिशा में बढ़ावा दिया है। मेरे सपनों का भारत एक ऐसा देश होगा जहां सरकार लोगों की सुरक्षा और सुरक्षा के प्रति अधिक संवेदनशील हो। तभी भारत अपराध और शोषण से मुक्त होगा।

भारत ने पिछले कुछ दशकों में तेजी से औद्योगिक विकास, तकनीकी उन्नति और कई अन्य क्षेत्रों में प्रगति देखी है। हालांकि अभी भी सुधार की बहुत गुंजाइश है। भारत को पहले के समय में इसकी समृधि के कारण सोने की चिड़िया कहा जाता था। मैं चाहता हूं कि देश उस गौरव को फिर से प्राप्त करे। मैं चाहता हूँ कि वह ना सिर्फ आर्थिक समृद्धि का आनंद ले बल्कि सांस्कृतिक और सामाजिक रूप से भी अमीर हो। देश के सभी नागरिकों से समान व्यवहार हो और किसी से कोई भी भेदभाव या अन्याय नहीं होना चाहिए।

सम्बंधित जानकारी:

भारत पर निबंध

एक भारत श्रेष्ठ भारत पर निबन्ध

संबंधित पोस्ट

मेरी रुचि

मेरी रुचि पर निबंध (My Hobby Essay in Hindi)

धन

धन पर निबंध (Money Essay in Hindi)

समाचार पत्र

समाचार पत्र पर निबंध (Newspaper Essay in Hindi)

मेरा स्कूल

मेरा स्कूल पर निबंध (My School Essay in Hindi)

शिक्षा का महत्व

शिक्षा का महत्व पर निबंध (Importance of Education Essay in Hindi)

बाघ

बाघ पर निबंध (Tiger Essay in Hindi)

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Class Topper Logo

10 Lines on My Country India in Hindi – मेरा देश भारत पर 10 लाइन

my india is great essay in hindi

10 Lines on My Country India in Hindi: अगर आप मेरे देश भारत के लिए 10 लाइन खोज रहे हैं। यह आपके लिए सबसे अच्छी जगह है। यह निबंध सरल और याद रखने में आसान है। मुझे आशा है कि यह आपके जैसा है।

हमने अपने देश भारत के बारे में 10 लाइन के नीचे उल्लेख किया है। ये टिप्स और ट्रिक्स छात्रों को मेरे देश भारत में एक आदर्श निबंध लिखने में मदद करेंगे। यह आपके लिए सबसे अच्छा है।

10 Lines on My Country India in Hindi

Table of Contents

10 Lines on My Country India in Hindi

Pattern 1  –  10 Lines Essay  or  Shorts Essay  is very helpful for classes 1, 2, 3, 4, and 5 Students.

  • मैं भारत में रहता हूं।
  • भारत एक विशाल देश है।
  • नई दिल्ली भारत की राजधानी है।
  • हमारे पड़ोसी देश पाकिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल आदि हैं।
  • इसके उत्तर में हिमालय है।
  • जनसंख्या के हिसाब से देशों की सूची में भारत दूसरे नंबर पर है।
  • भारत कई संतों और नेताओं की भूमि है।
  • विभिन्न धर्मों के लोग एक साथ रहते हैं।
  • भारत में 28 राज्य और 8 केंद्र शासित प्रदेश हैं।
  • मुझे अपनी मातृभूमि पर गर्व है।

10 Lines on My Country India in Hindi

10 Lines on My Country India

Pattern 2 –   10 Lines Essay  or  Shorts Essay  is very helpful for classes 6, 7, 8, and 9 Students.

  • I live in India.
  • India is a vast country.
  • New Delhi is the capital of India.
  • Our neighboring countries are Pakistan, Bangladesh, Nepal, etc.
  • It has the Himalayas to its north.
  • India ranks number 2 in the list of countries by population.
  • India is the land of many saints and leaders.
  • The people of different religions live together.
  • India has 28 states and 8 Union Territories.
  • I am proud of my motherland.

10 Lines on My Country India in English

Short Essay on My Country India in Hindi

Pattern 3  –  10 Lines Essay  or  Shorts Essay  is very helpful for class 10,11 12, and Competitive Exams preparing Students.

मैं भारत में रहता हूं। भारत एक विशाल देश है। नई दिल्ली भारत की राजधानी है। हमारे पड़ोसी देश पाकिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल आदि हैं।

इसके उत्तर में हिमालय है। जनसंख्या के हिसाब से देशों की सूची में भारत दूसरे नंबर पर है। भारत कई संतों और नेताओं की भूमि है।

विभिन्न धर्मों के लोग एक साथ रहते हैं। भारत में 28 राज्य और 8 केंद्र शासित प्रदेश हैं। मुझे अपनी मातृभूमि पर गर्व है।

Also Read –

10 Lines on My Country in Odia for Students

Pattern 4  –  10 Lines Essay  or  Shorts Essay  is very helpful for classes 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, to Higher Class Students.

  • ମୁଁ ଭାରତରେ ରହେ
  • ଭାରତ ଏକ ବିସ୍ତୃତ ଦେଶ |
  • ନୂଆଦିଲ୍ଲୀ ହେଉଛି ଭାରତର ରାଜଧାନୀ।
  • ଆମର ପଡୋଶୀ ଦେଶ ହେଉଛି ପାକିସ୍ତାନ, ବାଂଲାଦେଶ, ନେପାଳ ଇତ୍ୟାଦି |
  • ଏହାର ଉତ୍ତରରେ ହିମାଳୟ ଅଛି |
  • ଜନସଂଖ୍ୟା ଅନୁଯାୟୀ ଦେଶ ତାଲିକାରେ ଭାରତ ଦ୍ୱିତୀୟ ସ୍ଥାନରେ ରହିଛି।
  • ଭାରତ ହେଉଛି ଅନେକ ସାଧୁ ଓ ନେତାଙ୍କ ଦେଶ |
  • ବିଭିନ୍ନ ଧର୍ମର ଲୋକମାନେ ଏକାଠି ରୁହନ୍ତି |
  • ଭାରତରେ 28 ଟି ରାଜ୍ୟ ଏବଂ 8 ଟି ୟୁନିଅନ୍ ଅଞ୍ଚଳ ଅଛି |
  • ମୁଁ ମୋର ମାତୃଭୂମି ପାଇଁ ଗର୍ବିତ |

10 Lines on My Country in Telugu for Students

Pattern 5  –  10 Lines Essay  or  Shorts Essay  is very helpful for classes 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, to Higher Class Students.

  • నేను భారతదేశంలో నివసిస్తున్నాను.
  • భారతదేశం విశాలమైన దేశం.
  • న్యూఢిల్లీ భారతదేశ రాజధాని.
  • మన పొరుగు దేశాలు పాకిస్థాన్, బంగ్లాదేశ్, నేపాల్ మొదలైనవి.
  • దాని ఉత్తరాన హిమాలయాలు ఉన్నాయి.
  • జనాభా ప్రకారం దేశాల జాబితాలో భారతదేశం రెండవ స్థానంలో ఉంది.
  • భారతదేశం ఎందరో సాధువులు మరియు నాయకుల భూమి.
  • వివిధ మతాల వారు కలిసి జీవిస్తున్నారు.
  • భారతదేశంలో 28 రాష్ట్రాలు మరియు 8 కేంద్రపాలిత ప్రాంతాలు ఉన్నాయి.
  • నా మాతృభూమి గురించి నేను గర్విస్తున్నాను.

Pattern 6  –  10 Lines Essay  or  Shorts Essay  is very helpful for classes 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, to Higher Class Students.

  • मी भारतात राहतो.
  • भारत हा एक विशाल देश आहे.
  • नवी दिल्ली ही भारताची राजधानी आहे.
  • आपले शेजारी देश पाकिस्तान, बांगलादेश, नेपाळ इ.
  • त्याच्या उत्तरेला हिमालय आहे.
  • लोकसंख्येनुसार देशांच्या यादीत भारत दुसऱ्या क्रमांकावर आहे.
  • भारत ही अनेक संत आणि नेत्यांची भूमी आहे.
  • विविध धर्माचे लोक एकत्र राहतात.
  • भारतात 28 राज्ये आणि 8 केंद्रशासित प्रदेश आहेत.
  • मला माझ्या मातृभूमीचा अभिमान आहे.

10 Lines on My Country India in Video

Last Word on 10 Lines on My Country India in Hindi

इस पोस्ट को पढ़ने क लिए आप सभी को धन्यवाद। हम छात्रों के पढ़ाई के लिए ही Article बनाते है। जो एक छात्रों के पढ़ाई में सके। कैसे एक Student आसानी से अपने  Homework, Essay, Short Essay के साथ साथ अपने  General Knowledge  को कैसे बढ़ा सकता है, सिर्फ उसीके बारे मै ही हमरे सारे Article बनाते हे। एक Student के लिए जीतने भी जरूरती Eassy है जो मदत कर सकता है उनके पढ़ाई मै वो सारे  Essay  को हमने पोस्ट किए है। आसा करते हे की ये 10 Lines about My Country India in Hindi आपको अच्छा लगा होगा।

अन्य पोस्ट देखें –  Short Essay  /  10 Lines Essay .

नीचे टिप्पणी अनुभाग में किसी भी संबंधित प्रश्न या सुझाव को बेझिझक छोड़ें। आपकी प्रतिक्रिया हमारे लिए मूल्यवान है! यदि आपको यह जानकारी दिलचस्प लगती है, तो इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करने में संकोच न करें, जो इसे पढ़ने का आनंद भी ले सकते हैं। साझा करना देखभाल है!

References Links:

  • https://en.wikivoyage.org/wiki/India
  • https://en.wikipedia.org/wiki/India
  • https://www.britannica.com/place/India

One Comment

I delight in, result in I found exactly what I used to be looking for. You’ve ended my four day long hunt! God Bless you man. Have a great day. Bye

Comments are closed.

You must be logged in to post a comment.

hindi parichay

मेरा देश भारत पर निबंध और 10 वाक्य

शीर्षक: 10 Lines Essay on My Country India in Hindi

हम सभी की आन और शान हमारा देश होता है और हमारी जिम्मेदारी है। अपने देश के प्रति वफादार और देश के लिए समर्पित होना चाहिए। भारत देश में करोड़ों की आबादी है। हमारे देश में सभी लोग भारतीय कहलाते है और इस बात पर हम सभी को गर्व है।

भारतीय होना एक गर्व की बात है। भारत देश भारत की आजादी के बाद से ही सर्वप्रधान है। भारत में कई भाषाएँ बोली जाती है। भारत में अलग अलग जाती धर्म के लोग एक साथ खुशी के साथ रहते है। भारत एक ऐसा देश है जहां खुद के मौलिक अधिकार है और संविधान में बहुत से कानून नियम बनाए गए।

दोस्तों छोटे बच्चों और बड़ों के लिए 10 Lines Essay on My Country India in Hindi 2021   ले कर आया हूँ। इन लाइनस को आप अपने हिसाब से प्रयोग में ला सकते हैं।

10 Lines Essay on My Country INDIA  in Hindi

1. मेरे देश का नाम “भारत” है।

2. यह एशिया महाद्वीप में स्थित है।

3. भारत को 15 अगस्त, 1947 में स्वतंत्रता मिली।

4. भारत पूरी दुनिया में एक प्रसिद्ध देश है।

5. भारत की राष्ट्रीय भाषा हिंदी है।

Grammarly Writing Support

6. भारत दुनिया का 7 वां सबसे बड़ा देश है।

7. भारत की राजधानी नई दिल्ली है।

8. भारत की मुद्रा रुपया है।

9. भारत का राष्ट्रीय पक्षी मोर है।

10. भारत के उत्तर में महान हिमालय हैं।

Essay on my India in Hindi 5 Lines

  • 👉 मेरे देश का नाम “भारत” है।
  • 👉 यह एशिया महाद्वीप में स्थित है।
  • 👉 भारत को 15 अगस्त, 1947 में स्वतंत्रता मिली।
  • 👉 भारत पूरी दुनिया में एक प्रसिद्ध देश है।
  • 👉 भारत की राष्ट्रीय भाषा हिंदी है।

देश भक्ति गीत

Essay on my Country in Hindi 10 Lines

1. ⇒ भारत दुनिया का 7 वां सबसे बड़ा देश है।

2. ⇒ भारत की राजधानी नई दिल्ली है।

3. ⇒ भारत की मुद्रा रुपया है।

4. ⇒ भारत का राष्ट्रीय पक्षी मोर है।

5. ⇒ भारत के उत्तर में महान हिमालय हैं।

6. ⇒ भारत की अधिकांश आबादी गाँवों की है।

7. ⇒ भारत कृषि प्रधान देश है।

8. ⇒ देश का अधिकांश भाग कृषि पर निर्भर है।

9. ⇒ मैं अपने देश से बहुत प्यार करता हूं।

10. ⇒ मुझे भारतीय होने पर गर्व है।

10 Lines Essay on My Country India in Hindi

  • 👉 भारत एक खूबसूरत देश है।
  • 👉 भारत दुनिया का 7 वां सबसे बड़ा देश है।
  • 👉 भारत की राजधानी नई दिल्ली है।
  • 👉 भारत की मुद्रा रुपया है।
  • 👉 भारत का राष्ट्रीय पक्षी मोर है।

My Country Essay in Hindi 10 Lines

  • भारत के उत्तर में महान हिमालय हैं।
  • भारत के लोग बहुत दयालु हैं।
  • मेरे देश के लोग बहुत मेहनती हैं।
  • मेरे देश के लोग बहुत ईमानदार हैं।
  • भारत एक शांतिपूर्ण देश है।
  • भारत की अधिकांश आबादी गाँवों की है।
  • भारत कृषि प्रधान देश है।
  • देश का अधिकांश भाग कृषि पर निर्भर है।
  • मैं अपने देश से बहुत प्यार करता हूं।
  • मुझे भारतीय होने पर गर्व है।

10 Lines on Mera Desh Bharat in Hindi

India Bharat Image

  • भारत विश्व में सबसे प्रसिद्ध है।
  • भारत अपनी संस्कृति और अनेकता में एकता के लिए माना जाता है।
  • भारत में अनेकों धर्म जाती के लोग आपस में एक समान रूप से रहते है।
  • भारत ब्रिटिश शासन के अधीन था।
  • भारत को ब्रिटीशियों से आजादी 15 अगस्त 1947 को मिली।
  • भारत की आजादी के बाद 26 जनवरी 1950 को गणतंत्र दिवस मनाया जाता है।
  • भारत की राजधानी दिल्ली है।
  • भारत विदेशों में निर्यात के लिए भी जाना जाता है।
  • भारत के लोगों में एक बात समान है भारत की रक्षा के लिए सभी हमेशा तत्पर रहते है।
  • गंगा, यमुना, सरस्वती यहां बहुत सी नदियां है जिसकी पूजा की जाती है।

10 Lines Essay On My Country India in English

  • India is the most famous country in the world.
  • India is considered for unity in its culture and diversity.
  • In India, people of many religions, castes, live equally among themselves.
  • India was under British rule.
  • India gained independence from the British on 15 August 1947.
  • Republic Day is celebrated on 26 January 1950 after India’s independence.
  • The capital of India is Delhi.
  • India is also known for its exports abroad.
  • One thing is common among the people of India, everyone is always ready to protect India.
  • Ganga, Yamuna, Saraswati There are many rivers here and they are worshipped.

उम्मीद करता हूँ कि आपको मेरा ये लेख अच्छा लगा होगा और हो सके तो आप इस लेख को साझा कर सके तो जरूर करें।

– 10 Lines Essay on My Country India in Hindi

Table of Contents

Similar Posts

भारत के स्वतंत्रता दिवस पर शायरी { 15 अगस्त } देश भक्ति मेसेज और कविता

भारत के स्वतंत्रता दिवस पर शायरी { 15 अगस्त } देश भक्ति मेसेज और कविता

15 अगस्त पर आप सभी भारत वासियों को HindiParichay.com की टीम की तरफ से हार्दिक शुभकामनायें| स्वतंत्रता दिवस के शुभ अवसर पर हम आपके लिए स्वतंत्रता दिवस पर शायरी का बेस्ट कलेक्शन लेकर आये है जिसको आप नीचे पढेंगे. 15 अगस्त के लिए हुए कठोर संघर्ष को कोई नहीं भुला सकता है | आजादी की लड़ाई में…

15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर निबंध – 6 देशभक्ति निबंध स्कूल छात्रों के लिए

15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर निबंध – 6 देशभक्ति निबंध स्कूल छात्रों के लिए

HindiParichay की टीम की तरफ से आपको और आपके परिवार वालो को 15 अगस्त की हार्दिक बधाई, आपका दिन मंगलमय हो| स्वतंत्रता दिवस के इस शुभ अवसर पर आज हम आपके लिए स्वतंत्रता दिवस पर निबंध का बेहतरीन लेख लेकर आये है जिसको आप स्कूल और कॉलेज में भी इस्तेमाल कर सकते हो. हमारे सभी त्योहारों…

Indian Republic Day 2024 | गणतंत्र दिवस: भारत की स्वतंत्रता और लोकतंत्र का उत्सव

Indian Republic Day 2024 | गणतंत्र दिवस: भारत की स्वतंत्रता और लोकतंत्र का उत्सव

भारतीय गणतंत्र दिवस भारत में हर साल 26 जनवरी को मनाया जाता है| गणतन्त्र (गण+तंत्र) का अर्थ है, जनता के द्वारा जनता के लिये शासन| इस व्यवस्था को हम सभी गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते हैं. भारत में गणतंत्र दिवस को राष्ट्रीय पर्व के रूप में मनाते हैं| इस पर्व का महत्व इसलिये भी बढ…

Top 15 Poem on Independence Day in Hindi For Students

Top 15 Poem on Independence Day in Hindi For Students

Heart Touching Desh Bhakti Poem on Independence Day in Hindi नमस्कार प्रिय देशभक्तों, आज के इस लेख में मैं आपके लिए बहुत सारी 15 अगस्त पर कविता लेकर आया हूँ उम्मीद करता हूँ कि आपको ये सभी स्वतंत्रता दिवस पर कविताएं अच्छी लगेंगी। मेरी सभी Independence Day Poem in Hindi सोशल साइट से निकाली हुई है।…

गणतंत्र दिवस 2021 पर अध्यापकों के लिए भाषण

गणतंत्र दिवस 2021 पर अध्यापकों के लिए भाषण

26 January 2021 Speech in Hindi, Speech on Republic Day 2021 for Teachers in Hindi: भारत देश में रहने वाले प्रत्येक भारतीय को अपने ऊपर गर्व होता है कि वो यहाँ एक संविधान पूर्ण और लोकतंत्र देश में जी रहे है और उनको सभी प्रकार के मानव अधिकार मिल रहे है। भारत की आजादी 15…

भारत का स्वतंत्रता दिवस का इतिहास – 15 अगस्त 2020 का महत्व व निबंध

भारत का स्वतंत्रता दिवस का इतिहास – 15 अगस्त 2020 का महत्व व निबंध

आज हम भारत का स्वतंत्रता दिवस का महत्व और इतिहास जानेंगे लेकिन उससे पहले हम ये जानेंगे कि भारतीय स्वतंत्रता दिवस क्यों मनाया जाता है ? भारत का स्वतंत्रता दिवस 15th अगस्त को मनाया जाता है| ये भारत का राष्ट्रिय त्यौहार है इस दिन हमारा भारत ब्रिटिश शासन से आजाद हुआ था. सन् 1947 को…

very very very bad if you think of your bad i am your dad

Leave a Reply Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

HiHindi.Com

HiHindi Evolution of media

मेरा देश भारत पर निबंध My Country Essay India In Hindi And English

आज का निबंध मेरा देश भारत पर निबंध My Country Essay India In Hindi And English  पर दिया गया हैं. यहाँ हम मेरे प्यारे देश भारत पर स्टूडेंट्स के लिए आसान भाषा में शोर्ट निबंध बता रहे हैं.

छोटी कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए मेरे देश पर कुछ पंक्तियाँ छोटा निबंध यहाँ दिया गया हैं. प्रिय विद्यार्थियों आज हम आपके साथ  भारत पर निबंध  अर्थात मेरा भारत महान हिंदी निबंध या मेरा प्यारा देश भारत पर एस्से आपके साथ शेयर कर रहे हैं. 

Essay on India in Hindi Language का उपयोग कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10 के स्टूडेंट्स भारतदेश पर निबंध लिखने में कर सकते हैं.

यहाँ आपकों 100, 200, 250, 300, 400 और 500 शब्दों में छोटा बड़ा निबंध मिलेगा.

मेरा देश भारत पर निबंध My Country Essay India In Hindi English

It’s human nature that he loves her lands, place, and things. we are Indian citizens and felt proud to be of nationality.

in this My Country Essay India In Hindi And English language for students and children, they read in class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9.

the short essay helps you to write a paragraph on our country India or me proud to be Indian. My Country ‘India why say great, what brief history of my country, all these short information you will get in this My Country Essay.

Short Essay On My Country India In English

India is my country. it is the seventh biggest country in the world according to the area. it has a noble past. Indian civilization and culture are the oldest in the world.

the Vedas are the best and oldest books in the library of the world. our policy has always been to live and live. our players have also won the name in many international games.

India is rich in forest wealth. it has many kinds of birds and animals. it has small villages where real India lives. it has big towns like Bombay and Calcutta. Delhi is the capital of our country.

India is a republic now. we have our national flag. it has three colors. the different colors for different virtues.

our national language is Hindi. Mahatma Gandhi, Jawaharlal Nehru, Lala Lajpat Rai, Subhash Chandra Bose, and many others are the gems of India.

it is a great country. it has always been a torch-bearer to the rest of the world. my country is a fit adobe for the gods.

100 words मेरा देश भारत पर निबंध My Country Essay India In Hindi

मेरे देश का नाम भारत है, क्षेत्रफल के लिहाज से दूसरा व जनसंख्या के अनुसार यह विश्व का दूसरा सबसे बड़ा देश है. भारत की सभ्यता एवं संस्कृति सबसे पुरानी है.

हमारे वेद विश्व संग्रहालय की सबसे प्राचीन रचनाओं में से एक है. भारत की विदेश निति हमेशा जियों और जीने दो की रही है. विदेशों में भारत के खिलाड़ियों द्वारा भी विभिन्न खेलों में देश का नाम रोशन किया है.

वन्य संपदा के लिहाज से हमारा देश पूर्ण सम्रद्ध है. यहाँ लगभग विश्व की जन्तु व पेड़ पौधों की अधिकतर जातियां पाई जाती है. भारत का असली स्वरूप गाँवों में बसता है. मुंबई व कोलकाता जैसे शहर है, नई दिल्ली भारत देश की राजधानी है.

१९४७ में अंग्रेजों के उपनिवेश से स्वतंत्र होने के बाद २६ जनवरी १९५० को भारतदेश गणतन्त्र बना. भारत का अपना एक राष्ट्रीय ध्वज है, जिसे तिरंगा भी कहा जाता है.

इसके तीनों रंग देश की विविधता में एकता को दर्शाते है. महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू, लाला लाजपत राय, सुभाष चंद्र बोस हमारे भारतरत्न हैं।

देव भूमि कही जाने वाली भारतभूमि पुरे संसार के लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र रही है. तभी तो कहा जाता है, मेरा भारत महान एवं मुझे ऐसे देश का नागरिक होने पर गर्व है.

250 Words Essay on India in Hindi Language in For Students

भारत मेरा देश हैं. इसका स्वरूप अत्यंत भव्य और विशाल हैं. इसकी धरती का भौगोलिक एवं प्राकृतिक सौन्दर्य अद्भुत हैं. इसके उत्तर में स्थित हिमालय पर्वत इसके मस्तक का हिम किरीट हैं.

दक्षिण में इसके चरण प्रक्षालन करता हिन्द महासागर हैं. पूर्व पश्चिम में बंगाल की खाड़ी और अरब सागर हैं. इसमें स्थित कश्मीर स्वर्ग से भी अधिक सुंदर हैं.

इसके मैदानी वक्षस्थल पर लहलहाती हरी भरी फसलें इसे और अधिक सौन्दर्ययुक्त बनाती हैं. इसकी गोद में बहती हुई नदियाँ इसकी शोभा को द्विगणित करती हैं.

हमारा देश प्राचीन सभ्यता और संस्कृति वाला देश हैं. यह संसार का गुरु हैं. ज्ञान विज्ञान का आविष्कार इसी ने किया हैं. सोने की चिड़ियाँ कहे जाने वाले इस देश की सम्पन्नता से आकर्षित होकर अनेक आक्रमणकारी जातियाँ यहाँ आई. इस देश की संस्कृति ने उन सबको अपने में रचा बसाकर अपनी उदारता का परिचय दिया.

हमारे भारत देश की सभ्यता और संस्कृति असाधारण हैं. इसकी संस्कृति में अन्य संस्कृतियों को अपने में आत्मसात करने की असाधारण क्षमता हैं. इसलिए हमारी संस्कृति मिश्रित संस्कृति हैं.

हमारे देश में अनेक धर्मों और जातियों के लोग आपस में मिलकर निवास करते हैं. जाति और धर्म के नाम पर उनमें किसी भी तरह का भेदभाव नहीं हैं. सभी अपने तीज त्यौहार अपनी अपनी रस्मों के अनुसार स्वतंत्रतापूर्वक मनाते हैं.

हमारे देश में प्राकृतिक, भौगोलिक, धार्मिक, भाषाई, रहन सहन रीती रिवाज आदि अनेक प्रकार की विभिन्नताओं के बाद भी यहाँ के निवासियों में भावनात्मक एकता हैं. इस प्रकार भारत देश महान हैं. इस महान देश में जन्म लेकर हम अपने प्राणों को धन्य मानते हैं.

यदि आपकों यहाँ दिया गया भारत देश पर निबंध अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे तथा इस लेख से जुड़ा आपका कोई सवाल या सुझाव हो तो हमें कमेंट कर जरुर बताएं.

भारत पर निबंध | Short Essay on India in Hindi Language

Hello Dear Students Today We Share With You Short & Long Essay on India in Hindi Language For School Students & Kids.

जन्म भूमि से स्वाभाविक प्रेम- 

अरुण मधुमय देश हमारा जहाँ पहुच अनजान क्षितिज को मिलता एक सहारा

स्वर्णिम देश है मेरा भारत, मुझे इससे गहरा प्रेम हैं. हर प्राणी को अपनी जन्मभूमि से स्वाभाविक प्रेम होता हैं. स्वदेश के अन्न, जल और वायु से ही मनुष्य को जीवन मिलता हैं.

इसका इतिहास और परम्पराएं उसके सिर को गर्व से ऊँचा करती हैं. अतः मुझे भी अपने भारत से असीम प्यार हैं. मुझे भारतीय होने पर गर्व हैं.

नामकरण और भौगोलिक स्थिति- ऐसा माना जाता है कि राजा दुष्यंत और शंकुतला के प्रतापी पुत्र सम्राट भरत के नाम पर हमारे देश का नाम भारत हुआ. भरतखंड, जम्बद्वीप, आर्यावर्त, हिंदुस्तान, इंडिया भी भारत के अन्य नाम रहे है.

हमारा देश एशिया महाद्वीप के दक्षिण में स्थित हैं. इसके उत्तर में हिमालय के धवल शिखर हैं और दक्षिण में हिन्द महासागर. पूर्वी सीमा पर असम, नागालैण्ड, त्रिपुरा और पश्चिम में राजस्थान तथा गुजरात प्रदेश हैं.

इतिहास एवं संस्कृति – भारत विश्व के प्राचीनतम देशों में गिना जाता है. भारत के प्राचीन वैभव का परिचय हमें वेद, उपनिषद और पुराण आदि ग्रंथों में मिलता हैं.

भारतीय संस्कृति संसार की प्राचीनतम और महानतम संस्कृति रही हैं. इस संस्कृति ने सर्वे भवन्तु सुखिनः अर्थात सभी सुखी रहें, सारी पृथ्वी के निवासी एक परिवार के समान हैं.

ऐसे महान संदेश दिए हैं.  इस संस्कृति ने सत्य, अहिंसा, परोपकार, दान, क्षमा आदि श्रेष्ठ जीवन मूल्यों को अपनाया हैं.

दधिची, शिवि, रंतिदेव, कर्ण जैसे दानी और परोपकारी राम, कृष्ण, अर्जुन जैसे वीर हरिश्चन्द्र जैसे सत्यनिष्ठ बुद्ध और महावीर जैसे अहिंसा के पालक भारतीय संस्कृति की ही देन हैं. भारतीय संस्कृति सभी धर्मों को सम्मान देने का संदेश देती हैं. अनेकता में एकता भारतीय संस्कृति की ही विशेषता हैं.

प्राकृतिक वैभव- मेरी भारत भूमि पर प्रकृति ने अपार प्रेम बरसाया हैं. बारी बारी से छः ऋतुएँ इसका श्रृंगार करती हैं. मधुकंठ विहगों की अवली नित मंगलगीत सुनाती हैं.

नभस्पर्शी हिमालय हरे भरे विस्तृत मैदान, बलखाती नदियाँ, दर्पण से झील ताल, वनस्पतियों से भरे वनांचल और सागर के अनंत विस्तार क्या नहीं दिया है प्रकृति ने भारत को.

वर्तमान स्थिति- आज मेरा भारत विश्व का विशालतम और स्थिर लोकतंत्र हैं. अपने बहुमुखी विकास में जुटा हुआ हैं.

ज्ञान विज्ञान, व्यवसाय, शिक्षा एवं आध्यात्म हर क्षेत्र में अपनी प्रगति के परचम फहरा रहा हैं. आज हमारा देश विश्व की महाशक्ति बनने की ओर अग्रसर हैं.

हमारा कर्तव्य- भारत फिर अपने प्राचीन गौरव को प्राप्त कर विश्व गुरु के आसन पर आसीन होगा. इस महायज्ञ में हम सभी भारतवासी अपनी अपनी आहुति दे.

राष्ट्रीय एकता और अखंडता की रक्षा के लिए अन्याय, शोषण, भ्रष्टाचार और आततायियों के विनाश के लिए कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हो जाए और एक बार फिर आकाश में गूंज उठे वन्दे मातरम्, वंदेमातरम्. किसी कवि ने ठीक ही कहा हैं.

जो भरा नहीं है भावों से, बहती जिसमें रसधार नहीं वह ह्रदय नहीं पत्थर है जिसमें स्वदेश का प्यार नहीं.

Leave a Reply Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मेरे सपनों का भारत पर निबंध (India Of My Dreams Essay in Hindi) 200, 300, 400, 500, शब्दों मे

my india is great essay in hindi

India Of My Dreams Essay in Hindi – भारत वह जगह है जहाँ विभिन्न संस्कृतियों और धर्मों के लोग एक दूसरे के साथ सद्भाव से रहते हैं। हालांकि, देश के कई हिस्सों में किसी व्यक्ति के लिंग, जाति, पंथ, धर्म और आर्थिक स्थिति के आधार पर भेदभाव किया जाता है। मेरे सपनों का भारत एक ऐसी जगह होगी जहां इस तरह का कोई भेदभाव नहीं होगा। भारत ने पिछले कुछ दशकों में विज्ञान, प्रौद्योगिकी, शिक्षा और अन्य क्षेत्रों में बहुत विकास देखा है।

मैं भारत को एक पूर्ण विकसित देश के रूप में देखने का सपना देखता हूं जो न केवल उपरोक्त क्षेत्रों में उत्कृष्टता प्राप्त करता है बल्कि अपनी सांस्कृतिक विरासत को बरकरार रखता है। परीक्षा या निबंध लेखन प्रतियोगिता के दौरान स्कूल में विषय के साथ आपकी मदद करने के लिए ‘मेरे सपनों का भारत’ पर अलग-अलग लंबाई के निबंध यहां दिए गए हैं।

मेरे सपनों का भारत पर 10 पंक्तियाँ (10 Lines on India of My Dreams in Hindi)

  • 1) मुझे अपने सपनों का भारत देखना अच्छा लगता है।
  • 2) मैं अपने देश में सभी को खुश देखना चाहता हूँ।
  • 3) राष्ट्र में कोई अपराध नहीं होना चाहिए।
  • 4) मैं चाहता हूं कि भारत में कोई भी गरीब न रहे।
  • 5) मैं चाहता हूं कि भारत में भ्रष्टाचार नहीं होना चाहिए।
  • 6) मैं चाहता हूं कि मेरे देश में सबसे अच्छी तकनीक हो।
  • 7) मैं चाहता हूँ कि भारत का प्रत्येक नागरिक शिक्षित हो।
  • 8) शिक्षित लोग भारत की प्रगति में मदद करेंगे।
  • 9) मैं चाहता हूं कि मेरे देश के लोग एकता के साथ रहें।
  • 10) मैं भारत को दुनिया का सबसे अच्छा और समृद्ध राष्ट्र बनाने का सपना देखता हूं।

मेरे सपनों का भारत पर 20 लाइनें (20 Lines on India of My Dreams in Hindi)

  • 1) एक राष्ट्र के रूप में मेरे सपनों का भारत भ्रष्टाचार से मुक्त होना चाहिए।
  • 2) मेरे सपनों के भारत में हर नागरिक शिक्षित और साक्षर हो।
  • 3) भारत में सभी नागरिकों को योग्य रोजगार के अवसर खोजने में सक्षम होना चाहिए।
  • 4) मेरे सपनों का भारत एक ऐसी जगह होगी जहां हर नागरिक को सद्भाव और शांति से रहना चाहिए।
  • 5) भारत को कुशल जनशक्ति के साथ विनिर्माण और स्वचालन का केंद्र बनना चाहिए।
  • 6) आधुनिक भारत में नागरिकों के बीच लिंग, जाति और पंथ के बीच कोई भेदभाव नहीं होना चाहिए।
  • 7) मेरे सपनों के भारत में महिलाओं को ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में अधिक सशक्त और सुरक्षित महसूस करना चाहिए।
  • 8) भारत में प्रत्येक नागरिक का जीवन स्तर सभ्य होना चाहिए जिसका अर्थ है स्वास्थ्य, आवास और शिक्षा तक बेहतर पहुंच।
  • 9) मेरे सपनों के भारत में सड़कों और रेलवे के मामले में बेहतर संपर्क होना चाहिए।
  • 10) वैज्ञानिकों का एक पूल बनाने के लिए भारत को अनुसंधान और विकास पर अधिक ध्यान देना चाहिए।
  • 11) मेरे सपनों के भारत में किसानों को जीवन की सभी बुनियादी सुविधाएं मिलनी चाहिए।
  • 12) मेरे सपनों के भारत में लोगों को यातायात के नियमों का ठीक से पालन करना चाहिए।
  • 13) भारत के लोगों को स्वास्थ्य और स्वच्छता को अत्यधिक महत्व देना चाहिए।
  • 14) मेरे सपनों का भारत एक ऐसा देश होगा जहां नागरिक और सरकार लोगों की सुरक्षा को महत्व देते हैं।
  • 15) भारत सांप्रदायिकता से मुक्त होना चाहिए और समान नागरिक संहिता को पारित करने के लिए प्रयास किया जाना चाहिए।
  • 16) मेरे सपनों के भारत में नियंत्रित जनसंख्या वृद्धि होनी चाहिए जिसे केवल साक्षरता और शिक्षा के माध्यम से प्राप्त किया जा सकता है।
  • 17) मेरे सपनों का भारत बिजली, सामान और सेवाओं के उत्पादन में अग्रणी होना चाहिए।
  • 18) प्रत्येक व्यक्ति को दूसरे व्यक्ति का सम्मान करना चाहिए और भाईचारे की भावना रखनी चाहिए।
  • 19) मेरे सपनों के भारत में हर नागरिक को एक एक पेड़ लगाने और पर्यावरण को प्रदूषण मुक्त बनाने की जिम्मेदारी लेनी चाहिए।
  • 20) भारत को लाखों लोगों को रोजगार देने वाली संस्कृति, कला, संगीत, नाटक, खेल, वास्तुकला और हस्तशिल्प के क्षेत्र में अग्रणी होना चाहिए।

इसके बारे मे भी जाने

  • Essay On Mobile Phone
  • Essay On Internet
  • Essay On Dussehra
  • Essay On Cricket

मेरे सपनों का भारत पर हिंदी में लंबा और छोटा निबंध

हमने नीचे हिंदी में मेरे सपनों का भारत पर छोटे और लंबे निबंध उपलब्ध कराए हैं। ये मेरे सपनों का भारत निबंध सरल हिंदी में लिखे गए हैं ताकि याद किया जा सके और आसानी से आवश्यकता पड़ने पर प्रस्तुत किया जा सके।

निबंधों को पढ़ने के बाद, आप एक आदर्श भारत को अपने सपनों का भारत बनाने के लिए आवश्यक आवश्यकताओं को जानेंगे।

आप यह भी जानेंगे कि शिक्षा, स्वास्थ्य, कानून और व्यवस्था के क्षेत्र में सुधार आपको अपने सपने को साकार करने में कैसे मदद करेगा। ये निबंध आपको स्कूल या कॉलेज की प्रतियोगिताओं जैसे निबंध लेखन, वाद-विवाद, भाषण देने आदि में मदद करेंगे।

मेरे सपनों का भारत पर निबंध 1 (200 शब्द)

भारत की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत है। विभिन्न जातियों, पंथों और धर्मों के लोग इस देश में शांति से रहते हैं। हालाँकि, लोगों के कुछ समूह लोगों को अपने निहित स्वार्थों की पूर्ति के लिए उकसाने की कोशिश करते हैं, जिससे देश में शांति बाधित होती है। मैं ऐसे भारत का सपना देखता हूं जो ऐसी विभाजनकारी प्रवृत्तियों से रहित हो। यह एक ऐसा स्थान होना चाहिए जहां विभिन्न जातीय समूह एक दूसरे के साथ पूर्ण सद्भाव में रहते हों।

मैं भारत को एक ऐसे राष्ट्र के रूप में देखने का भी सपना देखता हूं जहां हर नागरिक शिक्षित हो। मैं चाहता हूं कि मेरे देश के लोग शिक्षा के महत्व को समझें और यह सुनिश्चित करें कि उनके बच्चे कम उम्र में छोटे-मोटे काम करने के बजाय शिक्षा प्राप्त करें। वयस्क जो अपने बचपन के दौरान अध्ययन करने का अवसर खो चुके हैं, उन्हें भी बेहतर नौकरी खोजने के लिए शिक्षा प्राप्त करने के लिए वयस्क शिक्षा कक्षाओं में शामिल होना चाहिए।

मैं चाहता हूं कि सरकार सभी के लिए रोजगार के समान अवसर प्रदान करे ताकि युवाओं को योग्य नौकरियां मिलें और देश के विकास में योगदान दें। मैं चाहता हूं कि देश तकनीकी रूप से उन्नत बने और सभी क्षेत्रों में विकास देखे। अंत में, मैं चाहता हूं कि भारत एक ऐसा देश बने जहां महिलाओं के साथ सम्मान के साथ व्यवहार किया जाता है और उन्हें पुरुषों के समान अवसर दिए जाते हैं।

भारत के सपने पर निबंध 2 (300 शब्द)

भारत एक बहु-सांस्कृतिक, बहुभाषी और बहु-धार्मिक समाज है जिसने पिछली शताब्दी में विभिन्न क्षेत्रों में लगातार प्रगति देखी है। मैं भारत का सपना देखता हूं जो और भी तेज गति से आगे बढ़ता है और कुछ ही समय में विकसित देशों की सूची में शामिल हो जाता है। इसे बेहतर जगह बनाने के लिए यहां प्रमुख क्षेत्र हैं जिन पर ध्यान देने की आवश्यकता है:

  • शिक्षा और रोजगार

मैं भारत का सपना देखता हूं, जहां हर नागरिक शिक्षित हो और रोजगार के योग्य अवसर पाने में सक्षम हो। शिक्षित और प्रतिभाशाली व्यक्तियों से भरे हुए राष्ट्र की वृद्धि और विकास को कोई नहीं रोक सकता।

  • जाति और धार्मिक मुद्दे

मेरे सपनों का भारत एक ऐसी जगह होगी जहां लोगों के साथ उनकी जाति या धर्म के आधार पर भेदभाव नहीं किया जाएगा। यह राष्ट्र को मजबूत करने में काफी मददगार साबित होगा।

  • औद्योगिक और तकनीकी विकास

जबकि भारत ने पिछले कुछ दशकों में औद्योगिक और तकनीकी विकास देखा है, यह अभी भी कई अन्य देशों के बराबर नहीं है। मैं भारत का सपना देखता हूं जो तकनीकी रूप से आगे बढ़ता है और हर क्षेत्र में तेजी देखता है।

देश में बहुत भ्रष्टाचार है, और इसकी दर केवल दिन पर दिन बढ़ती जा रही है। आम आदमी भ्रष्ट राजनेताओं के हाथों पीड़ित है जो केवल अपने स्वार्थों को पूरा करने में रुचि रखते हैं। मैं भारत का सपना देखता हूं जो सभी स्तरों पर भ्रष्टाचार से मुक्त हो। यह वह जगह होगी जहां देश की बेहतरी सरकार का एकमात्र एजेंडा होगा।

  • लैंगिक भेदभाव

यह देखकर दुख होता है कि जीवन के हर क्षेत्र में खुद को साबित करने के बाद भी महिलाओं को पुरुषों से हीन समझा जाता है। मैं भारत का सपना देखता हूं, जहां कोई लैंगिक भेदभाव नहीं है। यह एक ऐसी जगह होगी जहां पुरुषों और महिलाओं को समान माना जाता है।

संक्षेप में, मेरे सपनों का भारत वह होगा जहां लोग खुश और सुरक्षित महसूस करें और जीवन की अच्छी गुणवत्ता का आनंद लें।

मेरे सपनों का भारत पर निबंध 3 (400 शब्द)

भारत को विभिन्न जातियों, पंथों और धर्मों के लोगों का घर होने पर गर्व है। यह देश अपनी समृद्ध संस्कृति और विविधता में एकता के लिए जाना जाता है। इसने पिछले कुछ दशकों में विभिन्न उद्योगों में भी उछाल देखा है। हालाँकि, हमें अभी भी एक लंबा रास्ता तय करना है। यहाँ कुछ ऐसे क्षेत्र हैं जिन पर हमें एक आदर्श राष्ट्र बनाने के लिए काम करने की आवश्यकता है:

देश में आर्थिक विषमता बहुत है। यहां के अमीर और अमीर होते जा रहे हैं और गरीब दिन पर दिन गरीब होते जा रहे हैं। मैं भारत का सपना देखता हूं, जहां धन नागरिकों के बीच समान रूप से वितरित किया जाता है।

शिक्षा का अभाव राष्ट्र के विकास में मुख्य बाधाओं में से एक है। सरकार शिक्षा के महत्व के बारे में जागरूकता फैलाने का प्रयास कर रही है। तथापि, इसे यह सुनिश्चित करने के लिए भी कदम उठाने चाहिए कि देश का प्रत्येक व्यक्ति शिक्षा प्राप्त करना चाहता है।

देश में रोजगार के अच्छे अवसरों की कमी है। यहां तक ​​कि जो अच्छी तरह से योग्य हैं, वे भी योग्य नौकरी पाने में असफल रहते हैं। बेरोजगार अत्यधिक असंतुष्ट हैं, और वे अक्सर अपराध की राह पकड़ लेते हैं। मैं भारत का सपना देखता हूं जो सभी के लिए समान रोजगार के अवसर प्रदान करता है ताकि हम में से प्रत्येक अपने देश के विकास और बेहतरी के लिए काम करे।

जातिवाद एक अन्य प्रमुख मुद्दा है जिस पर काम करने की आवश्यकता है। मेरे सपनों का भारत एक ऐसा स्थान होगा जहां लोगों के साथ उनकी जाति, पंथ या धर्म के आधार पर भेदभाव नहीं किया जाएगा।

मेरे सपनों का भारत एक ऐसी जगह होगी जहां महिलाओं को उचित सम्मान दिया जाता है और पुरुषों के बराबर माना जाता है। यह वह जगह होगी जहां महिलाओं की सुरक्षा अत्यंत महत्वपूर्ण होगी।

मैं भारत को भ्रष्टाचार मुक्त देश के रूप में देखने का सपना देखता हूं। यह एक ऐसा स्थान होगा जहां राजनीतिक नेता अपने स्वयं के स्वार्थों को पूरा करने के बजाय देश की सेवा करने के लिए समर्पित होंगे।

  • तकनीकी विकास

भारत ने प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में तेजी से विकास देखा है। मैं चाहता हूं कि यह और भी तेज गति से बढ़े और नई ऊंचाइयों को छूकर पहले दर्जे के देशों में अपनी जगह बनाए।

मैं भारत का सपना देखता हूं, जहां विभिन्न जातियों, पंथों, धर्मों, जातीय समूहों और आर्थिक/सामाजिक स्थितियों के लोग एक-दूसरे के साथ पूर्ण सद्भाव में रहते हैं। निष्पक्ष खेल होना चाहिए, और सरकार को अपने सभी नागरिकों के लिए समान रोजगार के अवसर सुनिश्चित करने चाहिए।

मेरे सपनों का भारत पर निबंध 4 (500 शब्द)

मेरे सपनों का भारत एक ऐसा देश होगा जहां समानता की स्वतंत्रता का वास्तविक अर्थों में आनंद उठाया जा सके। यह एक ऐसा स्थान होगा जहां किसी व्यक्ति की जाति, पंथ, धर्म या सामाजिक/आर्थिक स्थिति के आधार पर कोई भेदभाव नहीं किया जाता है। मैं इसे एक ऐसी जगह के रूप में भी देखता हूं जो औद्योगिक और तकनीकी विकास की प्रचुरता को देखता है। यहां कुछ ऐसे क्षेत्र हैं जिन पर विशेष रूप से ध्यान देने की आवश्यकता है:

महिला सशक्तिकरण

हालाँकि अधिक से अधिक महिलाएं अपने घरों से बाहर निकल रही हैं और विभिन्न क्षेत्रों में अपनी पहचान बना रही हैं, फिर भी हमारे देश में महिलाओं के खिलाफ बहुत भेदभाव है। कन्या भ्रूण हत्या से लेकर महिलाओं को घरेलू कार्यों तक सीमित करने तक, ऐसे बहुत से क्षेत्र हैं जिन पर काम करने की आवश्यकता है। महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए कई गैर-लाभकारी संगठन आगे आए हैं। हालाँकि, हमें अभी भी समाज की मानसिकता को बदलने के लिए बहुत काम करना है। मैं भारत का सपना देखता हूं जो महिलाओं को एक संपत्ति के रूप में देखता है, दायित्व के रूप में नहीं। मैं चाहता हूं कि यह वहां हो जहां पुरुषों और महिलाओं को समान माना जाए।

हालांकि भारत सरकार शिक्षा प्राप्त करने के महत्व को बढ़ावा देने के लिए प्रयास कर रही है, लेकिन देश में बहुत से लोग अभी भी इसके महत्व को नहीं समझते हैं। मेरे सपनों का भारत एक ऐसी जगह होगी जहां शिक्षा को सभी के लिए अनिवार्य कर दिया जाएगा। सरकार को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि देश का कोई भी बच्चा शिक्षा से वंचित न रहे।

रोजगार के अवसर

देश में कई योग्य युवाओं को रोजगार के अच्छे अवसर नहीं मिल पाते हैं। अवसर सीमित हैं या योग्य उम्मीदवारों को पर्याप्त भुगतान नहीं करते हैं। यह मुख्य रूप से कमजोर औद्योगिक विकास के कारण है। अन्य कारक, जैसे आरक्षण, योग्य उम्मीदवारों को अच्छे अवसर प्राप्त करने से रोकते हैं। कई युवा जो भारत में रोजगार के अच्छे अवसर प्राप्त करने में विफल रहते हैं, वे विदेश चले जाते हैं और अपना मन दूसरे देशों की आर्थिक वृद्धि के लिए काम करने में लगाते हैं, जबकि अन्य बेरोजगार घूमते हैं।

जातिगत भेदभाव

देश अभी भी जाति, पंथ और धर्म के आधार पर भेदभाव से पूरी तरह मुक्त नहीं हुआ है। यह देखना दुखद है कि कैसे देश के कुछ हिस्सों में निचले और कमजोर वर्गों के लोगों को उनके मूल अधिकारों से भी वंचित रखा जाता है। इसके अलावा, विभिन्न कट्टरपंथी और अलगाववादी समूह लोगों को अपने धर्म का प्रचार करने और दूसरों के बारे में गलत बातें करने के लिए उकसाते हैं। यह अक्सर देश में अशांति का कारण बनता है। मैं भारत का सपना देखता हूं, जहां लोग जाति और धर्म के आधार पर भेदभाव नहीं करते।

भ्रष्टाचार मुख्य कारणों में से एक है जिसकी वजह से भारत को उस गति से विकास नहीं करना चाहिए जैसा उसे करना चाहिए। यहां के नेता देश की सेवा करने के बजाय अपनी जेबें भरने में लगे हैं। मैं भारत का सपना देखता हूं, जहां मंत्री पूरी तरह से और पूरी तरह से देश और इसके नागरिकों के विकास के लिए समर्पित हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न: (FAQs)

Q.1 भारत का पूरा नाम क्या है.

उत्तर. भारत का पूरा नाम रिपब्लिक ऑफ इंडिया है।

Q.2 भारत कब अस्तित्व में आया?

उत्तर. भारत लगभग 250000 वर्ष पूर्व अस्तित्व में आया।

Q.3 बाघ से पहले भारत का राष्ट्रीय पशु क्या था?

उत्तर. बाघ से पहले एशियाई शेर भारत का राष्ट्रीय पशु था।

Q.4 भारत के किस राज्य को ‘भारत का मसाला उद्यान’ कहा जाता है?

उत्तर. दक्षिण भारतीय राज्य केरल को भारत का मसाला उद्यान कहा जाता है।

  • Choose your language
  • मुख्य ख़बरें
  • अंतरराष्ट्रीय
  • उत्तर प्रदेश
  • मोबाइल मेनिया

टी-20 विश्वकप

  • बॉलीवुड न्यूज़
  • मूवी रिव्यू
  • खुल जा सिम सिम
  • आने वाली फिल्म
  • बॉलीवुड फोकस
  • श्री कृष्णा
  • व्रत-त्योहार
  • श्रीरामचरितमानस
  • दैनिक राशिफल
  • आज का जन्मदिन
  • आज का मुहूर्त
  • वास्तु-फेंगशुई
  • टैरो भविष्यवाणी
  • पत्रिका मिलान
  • रत्न विज्ञान

लोकसभा चुनाव

  • स्पेशल स्टोरीज
  • लोकसभा चुनाव इतिहास
  • चर्चित लोकसभा क्षेत्र
  • भारत के प्रधानमंत्री

लाइफ स्‍टाइल

  • वीमेन कॉर्नर
  • नन्ही दुनिया

धर्म संग्रह

  • 104 शेयरà¥�स

हिन्दी निबंध

My Country Essay in Hindi | मेरा देश

my india is great essay in hindi

  • वेबदुनिया पर पढ़ें :
  • महाभारत के किस्से
  • रामायण की कहानियां
  • रोचक और रोमांचक

गर्मियों का ये फल है कई स्किन प्रॉब्लम्स का रामबाण इलाज

गर्मियों का ये फल है कई स्किन प्रॉब्लम्स का रामबाण इलाज

गर्मी में बार बार जाती है बिजली तो इन 5 तरीकों से रखें खुद को ठंडा

गर्मी में बार बार जाती है बिजली तो इन 5 तरीकों से रखें खुद को ठंडा

गर्मियों में घूमने जाने का है प्लान तो मेकअप-किट में रखना ना भूलें ये सामान

गर्मियों में घूमने जाने का है प्लान तो मेकअप-किट में रखना ना भूलें ये सामान

सुबह इस छोटी सी आदत को अपनाने से मिलेगी यंग लुकिंग स्किन और कई स्किन समस्याओं से छुटकारा

सुबह इस छोटी सी आदत को अपनाने से मिलेगी यंग लुकिंग स्किन और कई स्किन समस्याओं से छुटकारा

टीनएजर्स गर्ल्स मेकअप और स्किन केयर के लिए अपनाएं ये टिप्स

टीनएजर्स गर्ल्स मेकअप और स्किन केयर के लिए अपनाएं ये टिप्स

और भी वीडियो देखें

my india is great essay in hindi

क्या है स्टीम और सॉना बाथ में अंतर? कैसे हैं ये स्वास्थ्य और सौन्दर्य के लिए फायदेमंद?

क्या है स्टीम और सॉना बाथ में अंतर? कैसे हैं ये स्वास्थ्य और सौन्दर्य के लिए फायदेमंद?

क्या अकबर से हार गए थे महाराणा प्रताप?

क्या अकबर से हार गए थे महाराणा प्रताप?

महाराजा छत्रसाल, जिन्होंने मुगलों से कभी हार नहीं मानी, सदा विजेता रहे

महाराजा छत्रसाल, जिन्होंने मुगलों से कभी हार नहीं मानी, सदा विजेता रहे

09 जून : बिरसा मुंडा का शहीद दिवस, जानें उनकी कहानी

09 जून : बिरसा मुंडा का शहीद दिवस, जानें उनकी कहानी

60 दिव्यांग एथलीटों द्वारा व्हीलचेयर क्रिकेट टूर्नामेंट में हिस्सेदारी, विश्व को मानसिक शक्ति का एक शानदार संदेश

60 दिव्यांग एथलीटों द्वारा व्हीलचेयर क्रिकेट टूर्नामेंट में हिस्सेदारी, विश्व को मानसिक शक्ति का एक शानदार संदेश

  • हमारे बारे में
  • विज्ञापन दें
  • हमसे संपर्क करें
  • प्राइवेसी पालिसी

Copyright 2024, Webdunia.com

Essay on India For Students and Children

500+ words essay on india.

India is a great country where people speak different languages but the national language is Hindi. India is full of different castes, creeds, religion, and cultures but they live together. That’s the reasons India is famous for the common saying of “ unity in diversity “. India is the seventh-largest country in the whole world.

Geography and Culture

India has the second-largest population in the world. India is also knowns as Bharat, Hindustan and sometimes Aryavart. It is surrounded by oceans from three sides which are Bay Of Bengal in the east, the Arabian Sea in the west and Indian oceans in the south. Tiger is the national animal of India. Peacock is the national bird of India. Mango is the national fruit of India. “ Jana Gana Mana ” is the national anthem of India . “Vande Mataram” is the national song of India. Hockey is the national sport of India. People of different religions such as Hinduism, Buddhism , Jainism, Sikhism, Islam, Christianity and Judaism lives together from ancient times. India is also rich in monuments, tombs, churches, historical buildings, temples, museums, scenic beauty, wildlife sanctuaries , places of architecture and many more. The great leaders and freedom fighters are from India.

F lag of India

The indian flag has tricolors.

The first color that is uppermost color in the flag which is the saffron color, stands for purity. The second color i.e. the middle color in the flag is the white color and it stands for peace. The third color that is the lowest color in the flag is the green color and it stands for fertility. The white color has an Ashoka Chakra of blue color on it. Ashoka Chakra contains twenty-four spokes which are equally divided. India has 29 states and 7 union territories.

essay on india map

Follow this link to get a Physical and state-wise Map of India

My Favorite States from India are as follows –

Rajasthan itself has a glorious history. It is famous for many brave kings, their deeds, and their art and architecture. It has a sandy track that’s why the nuclear test was held here. Rajasthan is full of desert, mountain range, lakes, dense forest, attractive oases, and temples, etc. Rajasthan is also known as “Land Of Sacrifice”. In Rajasthan, you can see heritage things of all the kings who ruled over there and for that, you can visit Udaipur, Jodhpur, Jaisalmer, Chittaurgarh, etc.

Madhya Pradesh

Madhya Pradesh is bigger than a foreign (Italy) country and smaller than Oman. It also has tourists attractions for its places. In Madhya Pradesh, you can see temples, lakes, fort, art and architecture, rivers, jungles, and many things. You can visit in Indore, Jabalpur, Ujjain, Bhopal, Gwalior and many cities. Khajuraho, Sanchi Stupa, Pachmarhi, Kanha national park, Mandu, etc. are the places must visit.

Jammu and Kashmir

Jammu and Kashmir are known as heaven on earth . We can also call Jammu and Kashmir as Tourists Paradise. There are many places to visit Jammu and Kashmir because they have an undisturbed landscape, motorable road, beauty, lying on the banks of river Jhelum, harmony, romance, sceneries, temples and many more.

In Jammu and Kashmir, u can enjoy boating, skiing, skating, mountaineering, horse riding, fishing, snowfall, etc. In Jammu and Kashmir, you can see a variety of places such as Srinagar, Vaishnav Devi, Gulmarg, Amarnath, Patnitop, Pahalgam, Sonamarg, Lamayuru, Nubra Valley, Hemis, Sanasar,  Anantnag,  Kargil, Dachigam National Park, Pulwama, Khilanmarg, Dras, Baltal, Bhaderwah, Pangong Lake, Magnetic Hill, Tso Moriri, Khardung La, Aru Valley, Suru Basin,Chadar Trek, Zanskar Valley, Alchi Monastery, Darcha Padum Trek, Kishtwar National Park, Changthang Wildlife Sanctuary, Nyoma, Dha Hanu, Uleytokpo, Yusmarg, Tarsar Marsar Trek and many more.

It is known as the ‘God’s Own Country’, Kerala is a state in India, situated in the southwest region, it is bordered by a number of beaches; covered by hills of Western Ghats and filled with backwaters, it is a tourist destination attracting people by its natural beauty. The most important destinations which you can see in Kerela are the museum, sanctuary, temples, backwaters, and beaches. Munnar, Kovalam, Kumarakom, and Alappad.

India is a great country having different cultures, castes, creed, religions but still, they live together. India is known for its heritage, spices, and of course, for people who live here. That’s the reasons India is famous for the common saying of “unity in diversity”. India is also well known as the land of spirituality , philosophy, science, and technology.

Customize your course in 30 seconds

Which class are you in.

tutor

  • Travelling Essay
  • Picnic Essay
  • Our Country Essay
  • My Parents Essay
  • Essay on Favourite Personality
  • Essay on Memorable Day of My Life
  • Essay on Knowledge is Power
  • Essay on Gurpurab
  • Essay on My Favourite Season
  • Essay on Types of Sports

Leave a Reply Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Download the App

Google Play

  • CBSE Class 10th

CBSE Class 12th

  • UP Board 10th
  • UP Board 12th
  • Bihar Board 10th
  • Bihar Board 12th
  • Top Schools in India
  • Top Schools in Delhi
  • Top Schools in Mumbai
  • Top Schools in Chennai
  • Top Schools in Hyderabad
  • Top Schools in Kolkata
  • Top Schools in Pune
  • Top Schools in Bangalore

Products & Resources

  • JEE Main Knockout April
  • Free Sample Papers
  • Free Ebooks
  • NCERT Notes

NCERT Syllabus

  • NCERT Books
  • RD Sharma Solutions
  • Navodaya Vidyalaya Admission 2024-25

NCERT Solutions

  • NCERT Solutions for Class 12
  • NCERT Solutions for Class 11
  • NCERT solutions for Class 10
  • NCERT solutions for Class 9
  • NCERT solutions for Class 8
  • NCERT Solutions for Class 7
  • JEE Main 2024
  • MHT CET 2024
  • JEE Advanced 2024
  • BITSAT 2024
  • View All Engineering Exams
  • Colleges Accepting B.Tech Applications
  • Top Engineering Colleges in India
  • Engineering Colleges in India
  • Engineering Colleges in Tamil Nadu
  • Engineering Colleges Accepting JEE Main
  • Top IITs in India
  • Top NITs in India
  • Top IIITs in India
  • JEE Main College Predictor
  • JEE Main Rank Predictor
  • MHT CET College Predictor
  • AP EAMCET College Predictor
  • GATE College Predictor
  • KCET College Predictor
  • JEE Advanced College Predictor
  • View All College Predictors
  • JEE Advanced Cutoff
  • JEE Main Cutoff
  • MHT CET Result 2024
  • JEE Advanced Result
  • Download E-Books and Sample Papers
  • Compare Colleges
  • B.Tech College Applications
  • AP EAMCET Result 2024
  • MAH MBA CET Exam
  • View All Management Exams

Colleges & Courses

  • MBA College Admissions
  • MBA Colleges in India
  • Top IIMs Colleges in India
  • Top Online MBA Colleges in India
  • MBA Colleges Accepting XAT Score
  • BBA Colleges in India
  • XAT College Predictor 2024
  • SNAP College Predictor
  • NMAT College Predictor
  • MAT College Predictor 2024
  • CMAT College Predictor 2024
  • CAT Percentile Predictor 2024
  • CAT 2024 College Predictor
  • TS ICET 2024 Results
  • AP ICET Counselling 2024
  • CMAT Result 2024
  • MAH MBA CET Cutoff 2024
  • Download Helpful Ebooks
  • List of Popular Branches
  • QnA - Get answers to your doubts
  • IIM Fees Structure
  • AIIMS Nursing
  • Top Medical Colleges in India
  • Top Medical Colleges in India accepting NEET Score
  • Medical Colleges accepting NEET
  • List of Medical Colleges in India
  • List of AIIMS Colleges In India
  • Medical Colleges in Maharashtra
  • Medical Colleges in India Accepting NEET PG
  • NEET College Predictor
  • NEET PG College Predictor
  • NEET MDS College Predictor
  • NEET Rank Predictor
  • DNB PDCET College Predictor
  • NEET Result 2024
  • NEET Asnwer Key 2024
  • NEET Cut off
  • NEET Online Preparation
  • Download Helpful E-books
  • Colleges Accepting Admissions
  • Top Law Colleges in India
  • Law College Accepting CLAT Score
  • List of Law Colleges in India
  • Top Law Colleges in Delhi
  • Top NLUs Colleges in India
  • Top Law Colleges in Chandigarh
  • Top Law Collages in Lucknow

Predictors & E-Books

  • CLAT College Predictor
  • MHCET Law ( 5 Year L.L.B) College Predictor
  • AILET College Predictor
  • Sample Papers
  • Compare Law Collages
  • Careers360 Youtube Channel
  • CLAT Syllabus 2025
  • CLAT Previous Year Question Paper
  • NID DAT Exam
  • Pearl Academy Exam

Predictors & Articles

  • NIFT College Predictor
  • UCEED College Predictor
  • NID DAT College Predictor
  • NID DAT Syllabus 2025
  • NID DAT 2025
  • Design Colleges in India
  • Top NIFT Colleges in India
  • Fashion Design Colleges in India
  • Top Interior Design Colleges in India
  • Top Graphic Designing Colleges in India
  • Fashion Design Colleges in Delhi
  • Fashion Design Colleges in Mumbai
  • Top Interior Design Colleges in Bangalore
  • NIFT Result 2024
  • NIFT Fees Structure
  • NIFT Syllabus 2025
  • Free Design E-books
  • List of Branches
  • Careers360 Youtube channel
  • IPU CET BJMC
  • JMI Mass Communication Entrance Exam
  • IIMC Entrance Exam
  • Media & Journalism colleges in Delhi
  • Media & Journalism colleges in Bangalore
  • Media & Journalism colleges in Mumbai
  • List of Media & Journalism Colleges in India
  • CA Intermediate
  • CA Foundation
  • CS Executive
  • CS Professional
  • Difference between CA and CS
  • Difference between CA and CMA
  • CA Full form
  • CMA Full form
  • CS Full form
  • CA Salary In India

Top Courses & Careers

  • Bachelor of Commerce (B.Com)
  • Master of Commerce (M.Com)
  • Company Secretary
  • Cost Accountant
  • Charted Accountant
  • Credit Manager
  • Financial Advisor
  • Top Commerce Colleges in India
  • Top Government Commerce Colleges in India
  • Top Private Commerce Colleges in India
  • Top M.Com Colleges in Mumbai
  • Top B.Com Colleges in India
  • IT Colleges in Tamil Nadu
  • IT Colleges in Uttar Pradesh
  • MCA Colleges in India
  • BCA Colleges in India

Quick Links

  • Information Technology Courses
  • Programming Courses
  • Web Development Courses
  • Data Analytics Courses
  • Big Data Analytics Courses
  • RUHS Pharmacy Admission Test
  • Top Pharmacy Colleges in India
  • Pharmacy Colleges in Pune
  • Pharmacy Colleges in Mumbai
  • Colleges Accepting GPAT Score
  • Pharmacy Colleges in Lucknow
  • List of Pharmacy Colleges in Nagpur
  • GPAT Result
  • GPAT 2024 Admit Card
  • GPAT Question Papers
  • NCHMCT JEE 2024
  • Mah BHMCT CET
  • Top Hotel Management Colleges in Delhi
  • Top Hotel Management Colleges in Hyderabad
  • Top Hotel Management Colleges in Mumbai
  • Top Hotel Management Colleges in Tamil Nadu
  • Top Hotel Management Colleges in Maharashtra
  • B.Sc Hotel Management
  • Hotel Management
  • Diploma in Hotel Management and Catering Technology

Diploma Colleges

  • Top Diploma Colleges in Maharashtra
  • UPSC IAS 2024
  • SSC CGL 2024
  • IBPS RRB 2024
  • Previous Year Sample Papers
  • Free Competition E-books
  • Sarkari Result
  • QnA- Get your doubts answered
  • UPSC Previous Year Sample Papers
  • CTET Previous Year Sample Papers
  • SBI Clerk Previous Year Sample Papers
  • NDA Previous Year Sample Papers

Upcoming Events

  • NDA Application Form 2024
  • UPSC IAS Application Form 2024
  • CDS Application Form 2024
  • CTET Admit card 2024
  • HP TET Result 2023
  • SSC GD Constable Admit Card 2024
  • UPTET Notification 2024
  • SBI Clerk Result 2024

Other Exams

  • SSC CHSL 2024
  • UP PCS 2024
  • UGC NET 2024
  • RRB NTPC 2024
  • IBPS PO 2024
  • IBPS Clerk 2024
  • IBPS SO 2024
  • Top University in USA
  • Top University in Canada
  • Top University in Ireland
  • Top Universities in UK
  • Top Universities in Australia
  • Best MBA Colleges in Abroad
  • Business Management Studies Colleges

Top Countries

  • Study in USA
  • Study in UK
  • Study in Canada
  • Study in Australia
  • Study in Ireland
  • Study in Germany
  • Study in China
  • Study in Europe

Student Visas

  • Student Visa Canada
  • Student Visa UK
  • Student Visa USA
  • Student Visa Australia
  • Student Visa Germany
  • Student Visa New Zealand
  • Student Visa Ireland
  • CUET PG 2024
  • IGNOU B.Ed Admission 2024
  • DU Admission 2024
  • UP B.Ed JEE 2024
  • LPU NEST 2024
  • IIT JAM 2024
  • IGNOU Online Admission 2024
  • Universities in India
  • Top Universities in India 2024
  • Top Colleges in India
  • Top Universities in Uttar Pradesh 2024
  • Top Universities in Bihar
  • Top Universities in Madhya Pradesh 2024
  • Top Universities in Tamil Nadu 2024
  • Central Universities in India
  • CUET DU Cut off 2024
  • IGNOU Date Sheet
  • CUET DU CSAS Portal 2024
  • CUET Response Sheet 2024
  • CUET Result 2024
  • CUET Participating Universities 2024
  • CUET Previous Year Question Paper
  • CUET Syllabus 2024 for Science Students
  • E-Books and Sample Papers
  • CUET Exam Pattern 2024
  • CUET Exam Date 2024
  • CUET Cut Off 2024
  • CUET Exam Analysis 2024
  • IGNOU Exam Form 2024
  • CUET PG Counselling 2024
  • CUET Answer Key 2024

Engineering Preparation

  • Knockout JEE Main 2024
  • Test Series JEE Main 2024
  • JEE Main 2024 Rank Booster

Medical Preparation

  • Knockout NEET 2024
  • Test Series NEET 2024
  • Rank Booster NEET 2024

Online Courses

  • JEE Main One Month Course
  • NEET One Month Course
  • IBSAT Free Mock Tests
  • IIT JEE Foundation Course
  • Knockout BITSAT 2024
  • Career Guidance Tool

Top Streams

  • IT & Software Certification Courses
  • Engineering and Architecture Certification Courses
  • Programming And Development Certification Courses
  • Business and Management Certification Courses
  • Marketing Certification Courses
  • Health and Fitness Certification Courses
  • Design Certification Courses

Specializations

  • Digital Marketing Certification Courses
  • Cyber Security Certification Courses
  • Artificial Intelligence Certification Courses
  • Business Analytics Certification Courses
  • Data Science Certification Courses
  • Cloud Computing Certification Courses
  • Machine Learning Certification Courses
  • View All Certification Courses
  • UG Degree Courses
  • PG Degree Courses
  • Short Term Courses
  • Free Courses
  • Online Degrees and Diplomas
  • Compare Courses

Top Providers

  • Coursera Courses
  • Udemy Courses
  • Edx Courses
  • Swayam Courses
  • upGrad Courses
  • Simplilearn Courses
  • Great Learning Courses

हिंदी निबंध (Hindi Nibandh / Essay in Hindi) - हिंदी निबंध लेखन, हिंदी निबंध 100, 200, 300, 500 शब्दों में

हिंदी में निबंध (Essay in Hindi) - छात्र जीवन में विभिन्न विषयों पर हिंदी निबंध (essay in hindi) लिखने की आवश्यकता होती है। हिंदी निबंध लेखन (essay writing in hindi) के कई फायदे हैं। हिंदी निबंध से किसी विषय से जुड़ी जानकारी को व्यवस्थित रूप देना आ जाता है और विचारों को अभिव्यक्त करने का कौशल विकसित होता है। हिंदी निबंध (hindi nibandh) लिखने की गतिविधि से इन विषयों पर छात्रों के ज्ञान के दायरे का विस्तार होता है जो कि शिक्षा के अहम उद्देश्यों में से एक है। हिंदी में निबंध या लेख लिखने से विषय के बारे में समालोचनात्मक दृष्टिकोण विकसित होता है। साथ ही अच्छा हिंदी निबंध (hindi nibandh) लिखने पर अंक भी अच्छे प्राप्त होते हैं। इसके अलावा हिंदी निबंध (hindi nibandh) किसी विषय से जुड़े आपके पूर्वाग्रहों को दूर कर सटीक जानकारी प्रदान करते हैं जिससे अज्ञानता की वजह से हम लोगों के सामने शर्मिंदा होने से बच जाते हैं।

आइए सबसे पहले जानते हैं कि हिंदी में निबंध की परिभाषा (definition of essay) क्या होती है?

हिंदी निबंध (hindi nibandh) : निबंध के अंग कौन-कौन से होते हैं, हिंदी निबंध (hindi nibandh) : निबंध के प्रकार (types of essay), हिंदी निबंध (hindi nibandh) : निबंध में उद्धरण का महत्व, स्वतंत्रता दिवस पर निबंध (independence day essay), सुभाष चंद्र बोस पर निबंध (subhash chandra bose essay in hindi), गणतंत्र दिवस पर निबंध (republic day essay in hindi), गणतंत्र दिवस पर भाषण (republic day speech in hindi), मोबाइल फोन पर निबंध (essay on mobile phone in hindi), हिंदी दिवस पर निबंध (essay on hindi diwas in hindi), मजदूर दिवस पर निबंध (labour day essay in hindi) - 10 लाइन, 300 शब्द, संक्षिप्त भाषण, मकर संक्रांति पर निबंध (essay on makar sankranti in hindi), ग्लोबल वार्मिंग पर निबंध - कारण और समाधान (global warming essay in hindi), भारत में भ्रष्टाचार पर निबंध (corruption in india essay in hindi), गुरु नानक जयंती पर निबंध (essay on guru nanak jayanti in hindi), मेरा पालतू कुत्ता पर निबंध ( my pet dog essay in hindi), स्वामी विवेकानंद पर निबंध ( swami vivekananda essay in hindi), महिला सशक्तीकरण पर निबंध (women empowerment essay), भगत सिंह निबंध (bhagat singh essay in hindi), वसुधैव कुटुंबकम् पर निबंध (vasudhaiva kutumbakam essay), गाय पर निबंध (essay on cow in hindi), क्रिसमस पर निबंध (christmas in hindi), रक्षाबंधन पर निबंध (rakshabandhan par nibandh), होली का निबंध (essay on holi in hindi), विजयदशमी अथवा दशहरा पर हिंदी में निबंध (essay in hindi on dussehra or vijayadashmi), दिवाली पर हिंदी में निबंध (essay in hindi on diwali), बाल दिवस पर हिंदी में भाषण (children’s day speech in hindi), हिंदी दिवस पर भाषण (hindi diwas speech), हिंदी दिवस पर कविता (hindi diwas poem), प्रदूषण पर निबंध (essay on pollution in hindi), वायु प्रदूषण पर हिंदी में निबंध (essay in hindi on air pollution), जलवायु परिवर्तन पर हिंदी में निबंध (essay in hindi on climate change), पर्यावरण दिवस पर निबंध (essay on environment day in hindi), मेरा प्रिय खेल पर निबंध (essay on my favourite game in hindi), विज्ञान के चमत्कार पर निबंध (wonder of science essay in hindi), शिक्षक दिवस पर निबंध (teachers day essay in hindi), अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर निबंध (essay on international women’s day in hindi), बाल श्रम पर निबंध (child labour essay in hindi), मेरा प्रिय नेता: एपीजे अब्दुल कलाम पर निबंध (apj abdul kalam essay in hindi), मेरा प्रिय मित्र (my best friend nibandh), सरोजिनी नायडू पर निबंध (sarojini naidu essay in hindi).

हिंदी निबंध (Hindi Nibandh / Essay in Hindi) - हिंदी निबंध लेखन, हिंदी निबंध 100, 200, 300, 500 शब्दों में

कुछ सामान्य विषयों (common topics) पर जानकारी जुटाने में छात्रों की सहायता करने के उद्देश्य से हमने हिंदी में निबंध (Essay in Hindi) तथा भाषणों के रूप में कई लेख तैयार किए हैं। स्कूली छात्रों (कक्षा 1 से 12 तक) एवं प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी में लगे विद्यार्थियों के लिए उपयोगी हिंदी निबंध (hindi nibandh), भाषण तथा कविता (useful essays, speeches and poems) से उनको बहुत मदद मिलेगी तथा उनके ज्ञान के दायरे में विस्तार होगा। ऐसे में यदि कभी परीक्षा में इससे संबंधित निबंध आ जाए या भाषण देना होगा, तो छात्र उन परिस्थितियों / प्रतियोगिता में बेहतर प्रदर्शन कर पाएँगे।

महत्वपूर्ण लेख :

  • 10वीं के बाद लोकप्रिय कोर्स
  • 12वीं के बाद लोकप्रिय कोर्स
  • क्या एनसीईआरटी पुस्तकें जेईई मेन की तैयारी के लिए काफी हैं?
  • कक्षा 9वीं से नीट की तैयारी कैसे करें

छात्र जीवन प्रत्येक व्यक्ति के जीवन के सबसे सुनहरे समय में से एक होता है जिसमें उसे बहुत कुछ सीखने को मिलता है। वास्तव में जीवन की आपाधापी और चिंताओं से परे मस्ती से भरा छात्र जीवन ज्ञान अर्जित करने को समर्पित होता है। छात्र जीवन में अर्जित ज्ञान भावी जीवन तथा करियर के लिए सशक्त आधार तैयार करने का काम करता है। नींव जितनी अच्छी और मजबूत होगी उस पर तैयार होने वाला भवन भी उतना ही मजबूत होगा और जीवन उतना ही सुखद और चिंतारहित होगा। इसे देखते हुए स्कूलों में शिक्षक छात्रों को विषयों से संबंधित अकादमिक ज्ञान से लैस करने के साथ ही विभिन्न प्रकार की पाठ्येतर गतिविधियों के जरिए उनके ज्ञान के दायरे का विस्तार करने का प्रयास करते हैं। इन पाठ्येतर गतिविधियों में समय-समय पर हिंदी निबंध (hindi nibandh) या लेख और भाषण प्रतियोगिताओं का आयोजन करना शामिल है।

करियर संबंधी महत्वपूर्ण लेख :

  • डॉक्टर कैसे बनें?
  • सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बनें
  • इंजीनियर कैसे बन सकते हैं?

निबंध, गद्य विधा की एक लेखन शैली है। हिंदी साहित्य कोष के अनुसार निबंध ‘किसी विषय या वस्तु पर उसके स्वरूप, प्रकृति, गुण-दोष आदि की दृष्टि से लेखक की गद्यात्मक अभिव्यक्ति है।’ एक अन्य परिभाषा में सीमित समय और सीमित शब्दों में क्रमबद्ध विचारों की अभिव्यक्ति को निबंध की संज्ञा दी गई है। इस तरह कह सकते हैं कि मोटे तौर पर किसी विषय पर अपने विचारों को लिखकर की गई अभिव्यक्ति ही निबंध है।

अन्य महत्वपूर्ण लेख :

  • हिंदी दिवस पर भाषण
  • हिंदी दिवस पर कविता
  • हिंदी पत्र लेखन

आइए अब जानते हैं कि निबंध के कितने अंग होते हैं और इन्हें किस प्रकार प्रभावपूर्ण ढंग से लिखकर आकर्षक बनाया जा सकता है। किसी भी हिंदी निबंध (Essay in hindi) के मोटे तौर पर तीन भाग होते हैं। ये हैं - प्रस्तावना या भूमिका, विषय विस्तार और उपसंहार।

प्रस्तावना (भूमिका)- हिंदी निबंध के इस हिस्से में विषय से पाठकों का परिचय कराया जाता है। निबंध की भूमिका या प्रस्तावना, इसका बेहद अहम हिस्सा होती है। जितनी अच्छी भूमिका होगी पाठकों की रुचि भी निबंध में उतनी ही अधिक होगी। प्रस्तावना छोटी और सटीक होनी चाहिए ताकि पाठक संपूर्ण हिंदी लेख (hindi me lekh) पढ़ने को प्रेरित हों और जुड़ाव बना सकें।

विषय विस्तार- निबंध का यह मुख्य भाग होता है जिसमें विषय के बारे में विस्तार से जानकारी दी जाती है। इसमें इसके सभी संभव पहलुओं की जानकारी दी जाती है। हिंदी निबंध (hindi nibandh) के इस हिस्से में अपने विचारों को सिलसिलेवार ढंग से लिखकर अभिव्यक्त करने की खूबी का प्रदर्शन करना होता है।

उपसंहार- निबंध का यह अंतिम भाग होता है, इसमें हिंदी निबंध (hindi nibandh) के विषय पर अपने विचारों का सार रखते हुए पाठक के सामने निष्कर्ष रखा जाता है।

ये भी देखें :

अग्निपथ योजना रजिस्ट्रेशन

अग्निपथ योजना एडमिट कार्ड

अग्निपथ योजना सिलेबस

अंत में यह जानना भी अत्यधिक आवश्यक है कि निबंध कितने प्रकार के होते हैं। मोटे तौर निबंध को निम्नलिखित श्रेणियों में रखा जाता है-

वर्णनात्मक निबंध - इस तरह के निबंधों में किसी घटना, वस्तु, स्थान, यात्रा आदि का वर्णन किया जाता है। इसमें त्योहार, यात्रा, आयोजन आदि पर लेखन शामिल है। इनमें घटनाओं का एक क्रम होता है और इस तरह के निबंध लिखने आसान होते हैं।

विचारात्मक निबंध - इस तरह के निबंधों में मनन-चिंतन की अधिक आवश्यकता होती है। अक्सर ये किसी समस्या – सामाजिक, राजनीतिक या व्यक्तिगत- पर लिखे जाते हैं। विज्ञान वरदान या अभिशाप, राष्ट्रीय एकता की समस्या, बेरोजगारी की समस्या आदि ऐसे विषय हो सकते हैं। इन हिंदी निबंधों (hindi nibandh) में विषय के अच्छे-बुरे पहलुओं पर विचार व्यक्त किया जाता है और समस्या को दूर करने के उपाय भी सुझाए जाते हैं।

भावात्मक निबंध - ऐसे निबंध जिनमें भावनाओं को व्यक्त करने की अधिक स्वतंत्रता होती है। इनमें कल्पनाशीलता के लिए अधिक छूट होती है। भाव की प्रधानता के कारण इन निबंधों में लेखक की आत्मीयता झलकती है। मेरा प्रिय मित्र, यदि मैं डॉक्टर होता जैसे विषय इस श्रेणी में रखे जा सकते हैं।

इसके साथ ही विषय वस्तु की दृष्टि से भी निबंधों को सामाजिक, आर्थिक, सांस्कृतिक, खेल, विज्ञान और प्रौद्योगिकी जैसी बहुत सी श्रेणियों में बाँटा जा सकता है।

ये भी पढ़ें-

  • केंद्रीय विद्यालय एडमिशन
  • नवोदय कक्षा 6 प्रवेश
  • एनवीएस एडमिशन कक्षा 9

जिस प्रकार बातचीत को आकर्षक और प्रभावी बनाने के लिए लोग मुहावरे, लोकोक्तियों, सूक्तियों, दोहों, कविताओं आदि की मदद लेते हैं, ठीक उसी तरह निबंध को भी प्रभावी बनाने के लिए इनकी सहायता ली जानी चाहिए। उदाहरण के लिए मित्रता पर हिंदी निबंध (hindi nibandh) लिखते समय तुलसीदास जी की इन पंक्तियों की मदद ले सकते हैं -

जे न मित्र दुख होंहि दुखारी, तिन्हिं बिलोकत पातक भारी।

यानि कि जो व्यक्ति मित्र के दुख से दुखी नहीं होता है, उनको देखने से बड़ा पाप होता है।

हिंदी या मातृभाषा पर निबंध लिखते समय भारतेंदु हरिश्चंद्र की पंक्तियों का प्रयोग करने से चार चाँद लग जाएगा-

निज भाषा उन्नति अहै, सब उन्नति को मूल

बिन निज भाषा-ज्ञान के, मिटत न हिय को सूल।

प्रासंगिकता और अपने विवेक के अनुसार लेखक निबंधों में ऐसी सामग्री का उपयोग निबंध को प्रभावी बनाने के लिए कर सकते हैं। इनका भंडार तैयार करने के लिए जब कभी कोई पंक्ति या उद्धरण अच्छा लगे, तो एकत्रित करते रहें और समय-समय पर इनको दोहराते रहें।

उपरोक्त सभी प्रारूपों का उपयोग कर छात्रों के लिए हमने निम्नलिखित हिंदी में निबंध (Essay in Hindi) तैयार किए हैं -

15 अगस्त, 1947 को हमारा देश भारत 200 सालों के अंग्रेजी हुकूमत से आजाद हुआ था। यही वजह है कि यह दिन इतिहास में दर्ज हो गया तथा इसे भारत के स्वतंत्रता दिवस के तौर पर मनाया जाने लगा। इस दिन देश के प्रधानमंत्री लालकिले पर राष्ट्रीय ध्वज फहराते तो हैं ही और साथ ही इसके बाद वे पूरे देश को लालकिले से संबोधित भी करते हैं। इस दौरान प्रधानमंत्री का पूरा भाषण टीवी व रेडियो के माध्यम से पूरे देश में प्रसारित किया जाता है। इसके अलावा देश भर में इस दिन सभी कार्यालयों में छुट्टी होती है। स्कूल्स व कॉलेज में रंगारंग कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। स्वतंत्रता दिवस से संबंधित संपूर्ण जानकारी आपको इस लेख में मिलेगी जो निश्चित तौर पर आपके लिए लेख लिखने में सहायक सिद्ध होगी।

सुभाष चंद्र बोस ने ब्रिटिश शासन के खिलाफ भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। सुभाष चंद्र बोस भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (आईएनसी) के नेता थे और बाद में उन्होंने फॉरवर्ड ब्लॉक का गठन किया। इसके माध्यम से भारत में सभी ब्रिटिश विरोधी ताकतों को एकजुट करने की पहल की थी। बोस ब्रिटिश सरकार के मुखर आलोचक थे और स्वतंत्रता प्राप्त करने के लिए और अधिक आक्रामक कार्रवाई की वकालत करते थे। विद्यार्थियों को अक्सर कक्षा और परीक्षा में सुभाष चंद्र बोस जयंती (subhash chandra bose jayanti) या सुभाष चंद्र बोस पर हिंदी में निबंध (subhash chandra bose essay in hindi) लिखने को कहा जाता है। यहां सुभाष चंद्र बोस पर 100, 200 और 500 शब्दों का निबंध दिया गया है।

भारत में 26 जनवरी 1950 को संविधान लागू हुआ। इस दिन को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है। गणतंत्र दिवस के सम्मान में स्कूलों में विभिन्न प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित होते हैं। गणतंत्र दिवस के दिन सभी स्कूलों, सरकारी व गैर सरकारी दफ्तरों में झंडोत्तोलन होता है। राष्ट्रगान गाया जाता है। मिठाईयां बांटी जाती है और अवकाश रहता है। छात्रों और बच्चों के लिए 100, 200 और 500 शब्दों में गणतंत्र दिवस पर निबंध पढ़ें।

26 जनवरी, 1950 को हमारे देश का संविधान लागू किया गया, इसमें भारत को गणतांत्रिक व्यवस्था वाला देश बनाने की राह तैयार की गई। गणतंत्र दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में भाषण (रिपब्लिक डे स्पीच) देने के लिए हिंदी भाषण की उपयुक्त सामग्री (Republic Day Speech Ideas) की यदि आपको भी तलाश है तो समझ लीजिए कि गणतंत्र दिवस पर भाषण (Republic Day speech in Hindi) की आपकी तलाश यहां खत्म होती है। इस राष्ट्रीय पर्व के बारे में विद्यार्थियों को जागरूक बनाने और उनके ज्ञान को परखने के लिए गणतत्र दिवस पर निबंध (Republic day essay) लिखने का प्रश्न भी परीक्षाओं में पूछा जाता है। इस लेख में दी गई जानकारी की मदद से Gantantra Diwas par nibandh लिखने में भी मदद मिलेगी। Gantantra Diwas par lekh bhashan तैयार करने में इस लेख में दी गई जानकारी की मदद लें और अच्छा प्रदर्शन करें।

मोबाइल फ़ोन को सेल्युलर फ़ोन भी कहा जाता है। मोबाइल आज आधुनिक प्रौद्योगिकी का एक अहम हिस्सा है जिसने दुनिया को एक साथ लाकर हमारे जीवन को बहुत प्रभावित किया है। मोबाइल हमारे जीवन का अभिन्न अंग बन गया है। मोबाइल में इंटरनेट के इस्तेमाल ने कई कामों को बेहद आसान कर दिया है। मनोरंजन, संचार के साथ रोजमर्रा के कामों में भी इसकी अहम भूमिका हो गई है। इस निबंध में मोबाइल फोन के बारे में बताया गया है।

भारत में प्रत्येक वर्ष 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाता है। 14 सितंबर, 1949 को संविधान सभा ने जनभाषा हिंदी को राजभाषा का दर्जा प्रदान किया। इस दिन की याद में हर वर्ष 14 सितंबर को राष्ट्रीय हिंदी दिवस मनाया जाता है। वहीं हिंदी भाषा को सम्मान देने के लिए 10 जनवरी को प्रतिवर्ष विश्व हिंदी दिवस (World Hindi Diwas) मनाया जाता है। इस लेख में राष्ट्रीय हिंदी दिवस (14 सितंबर) और विश्व हिंदी दिवस (10 जनवरी) के बारे में चर्चा की गई है।

दुनिया के कई देशों में मजदूरों और श्रमिकों को सम्मान देने के उद्देश्य से हर वर्ष 1 मई को मजदूर दिवस मनाया जाता है। इसे लेबर डे, श्रमिक दिवस या मई डे भी कहा जाता है। श्रम दिवस एक विशेष दिन है जो मजदूरों और श्रम वर्ग को समर्पित है। यह मजदूरों की कड़ी मेहनत को सम्मानित करने का दिन है। ज्यादातर देशों में इसे 1 मई को अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस के रूप में मनाया जाता है। श्रम दिवस का इतिहास और उत्पत्ति अलग-अलग देशों में अलग-अलग है। विद्यार्थियों को कक्षा में मजदूर दिवस पर निबंध लिखने, मजदूर दिवस पर भाषण देने के लिए कहा जाता है। इस निबंध की मदद से विद्यार्थी अपनी तैयारी कर सकते हैं।

मकर संक्रांति का त्योहार यूपी, बिहार, दिल्ली, राजस्थान, मध्यप्रदेश सहित देश के विभिन्न राज्यों में 14 जनवरी को मनाया जाता है। इसे खिचड़ी के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन लोग पवित्र नदियों में स्नान के बाद पूजा करके दान करते हैं। इस दिन खिचड़ी, तिल-गुड, चिउड़ा-दही खाने का रिवाज है। प्रयागराज में इस दिन से कुंभ मेला आरंभ होता है। इस लेख में मकर संक्रांति के बारे में बताया गया है।

पर्यावरण से संबंधित मुद्दों की चर्चा करते समय ग्लोबल वार्मिंग की चर्चा अक्सर होती है। ग्लोबल वार्मिंग का संबंध वैश्विक तापमान में वृद्धि से है। इसके अनेक कारण हैं। इनमें वनों का लगातार कम होना और ग्रीन हाउस गैसों का उत्सर्जन प्रमुख है। वनों का विस्तार करके और ग्रीन हाउस गैसों पर नियंत्रण करके हम ग्लोबल वार्मिंग की समस्या के समाधान की दिशा में कदम उठा सकते हैं। ग्लोबल वार्मिंग पर निबंध- कारण और समाधान में इस विषय पर चर्चा की गई है।

भारत में भ्रष्टाचार एक बड़ी समस्या है। समाचारों में अक्सर भ्रष्टाचार से जुड़े मामले प्रकाश में आते रहते हैं। सरकार ने भ्रष्टाचार पर नियंत्रण के लिए कई उपाय किए हैं। अलग-अलग एजेंसियां भ्रष्टाचार करने वालों पर कार्रवाई करती रहती हैं। फिर भी आम जनता को भ्रष्टाचार का सामना करना पड़ता है। हालांकि डिजीटल इंडिया की पहल के बाद कई मामलों में पारदर्शिता आई है। लेकिन भ्रष्टाचार के मामले कम हुए है, समाप्त नहीं हुए हैं। भ्रष्टाचार पर निबंध के माध्यम से आपको इस विषय पर सभी पहलुओं की जानकारी मिलेगी।

समय-समय पर ईश्वरीय शक्ति का एहसास कराने के लिए संत-महापुरुषों का जन्म होता रहा है। गुरु नानक भी ऐसे ही विभूति थे। उन्होंने अपने कार्यों से लोगों को चमत्कृत कर दिया। गुरु नानक की तर्कसम्मत बातों से आम जनमानस उनका मुरीद हो गया। उन्होंने दुनिया को मानवता, प्रेम और भाईचारे का संदेश दिया। भारत, पाकिस्तान, अरब और अन्य जगहों पर वर्षों तक यात्रा की और लोगों को उपदेश दिए। गुरु नानक जयंती पर निबंध से आपको उनके व्यक्तित्व और कृतित्व की जानकारी मिलेगी।

कुत्ता हमारे आसपास रहने वाला जानवर है। सड़कों पर, गलियों में कहीं भी कुत्ते घूमते हुए दिख जाते हैं। शौक से लोग कुत्तों को पालते भी हैं। क्योंकि वे घर की रखवाली में सहायक होते हैं। बच्चों को अक्सर परीक्षा में मेरा पालतू कुत्ता विषय पर निबंध लिखने को कहा जाता है। यह लेख बच्चों को मेरा पालतू कुत्ता विषय पर निबंध लिखने में सहायक होगा।

स्वामी विवेकानंद जी हमारे देश का गौरव हैं। विश्व-पटल पर वास्तविक भारत को उजागर करने का कार्य सबसे पहले किसी ने किया तो वें स्वामी विवेकानंद जी ही थे। उन्होंने ही विश्व को भारतीय मानसिकता, विचार, धर्म, और प्रवृति से परिचित करवाया। स्वामी विवेकानंद जी के बारे में जानने के लिए आपको इस लेख को पढ़ना चाहिए। यह लेख निश्चित रूप से आपके व्यक्तित्व में सकारात्मक परिवर्तन करेगा।

हम सभी ने "महिला सशक्तिकरण" या नारी सशक्तिकरण के बारे में सुना होगा। "महिला सशक्तिकरण"(mahila sashaktikaran essay) समाज में महिलाओं की स्थिति को सुदृढ़ बनाने और सभी लैंगिक असमानताओं को कम करने के लिए किए गए कार्यों को संदर्भित करता है। व्यापक अर्थ में, यह विभिन्न नीतिगत उपायों को लागू करके महिलाओं के आर्थिक और सामाजिक सशक्तिकरण से संबंधित है। प्रत्येक बालिका की स्कूल में उपस्थिति सुनिश्चित करना और उनकी शिक्षा को अनिवार्य बनाना, महिलाओं को सशक्त बनाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। इस लेख में "महिला सशक्तिकरण"(mahila sashaktikaran essay) पर कुछ सैंपल निबंध दिए गए हैं, जो निश्चित रूप से सभी के लिए सहायक होंगे।

भगत सिंह एक युवा क्रांतिकारी थे जिन्होंने भारत की आजादी के लिए लड़ते हुए बहुत कम उम्र में ही अपने प्राण न्यौछावर कर दिए थे। देश के लिए उनकी भक्ति निर्विवाद है। शहीद भगत सिंह महज 23 साल की उम्र में शहीद हो गए। उन्होंने न केवल भारत की आजादी के लिए लड़ाई लड़ी, बल्कि वह इसे हासिल करने के लिए अपनी जान जोखिम में डालने को भी तैयार थे। उनके निधन से पूरे देश में देशभक्ति की भावना प्रबल हो गई। उनके समर्थकों द्वारा उन्हें शहीद के रूप में सम्मानित किया गया था। वह हमेशा हमारे बीच शहीद भगत सिंह के नाम से ही जाने जाएंगे। भगत सिंह के जीवन परिचय के लिए अक्सर छोटी कक्षा के छात्रों को भगत सिंह पर निबंध तैयार करने को कहा जाता है। इस लेख के माध्यम से आपको भगत सिंह पर निबंध तैयार करने में सहायता मिलेगी।

वसुधैव कुटुंबकम एक संस्कृत वाक्यांश है जिसका अर्थ है "संपूर्ण विश्व एक परिवार है"। यह महा उपनिषद् से लिया गया है। वसुधैव कुटुंबकम वह दार्शनिक अवधारणा है जो सार्वभौमिक भाईचारे और सभी प्राणियों के परस्पर संबंध के विचार को पोषित करती है। यह वाक्यांश संदेश देता है कि प्रत्येक व्यक्ति वैश्विक समुदाय का सदस्य है और हमें एक-दूसरे का सम्मान करना चाहिए, सभी की गरिमा का ध्यान रखने के साथ ही सबके प्रति दयाभाव रखना चाहिए। वसुधैव कुटुंबकम की भावना को पोषित करने की आवश्यकता सदैव रही है पर इसकी आवश्यकता इस समय में पहले से कहीं अधिक है। समय की जरूरत को देखते हुए इसके महत्व से भावी नागरिकों को अवगत कराने के लिए वसुधैव कुटुंबकम विषय पर निबंध या भाषणों का आयोजन भी स्कूलों में किया जाता है। कॅरियर्स360 के द्वारा छात्रों की इसी आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए वसुधैव कुटुंबकम विषय पर यह लेख तैयार किया गया है।

गाय भारत के एक बेहद महत्वपूर्ण पशु में से एक है जिस पर न जाने कितने ही लोगों की आजीविका आश्रित है क्योंकि गाय के शरीर से प्राप्त होने वाली हर वस्तु का उपयोग भारतीय लोगों द्वारा किसी न किसी रूप में किया जाता है। ना सिर्फ आजीविका के लिहाज से, बल्कि आस्था के दृष्टिकोण से भी भारत में गाय एक महत्वपूर्ण पशु है क्योंकि भारत में मौजूद सबसे बड़ी आबादी यानी हिन्दू धर्म में आस्था रखने वाले लोगों के लिए गाय आस्था का प्रतीक है। ऐसे में विद्यालयों में गाय को लेकर निबंध लिखने का कार्य दिया जाना आम है। गाय के इस निबंध के माध्यम से छात्रों को परीक्षा में पूछे जाने वाले गाय पर निबंध को लिखने में भी सहायता मिलेगी।

क्रिसमस (christmas in hindi) भारत सहित दुनिया भर में मनाए जाने वाले बेहद महत्वपूर्ण त्योहारों में से एक है। यह ईसाइयों का प्रमुख त्योहार है। प्रत्येक वर्ष इसे 25 दिसंबर को मनाया जाता है। क्रिसमस का महत्व समझाने के लिए कई बार स्कूलों में बच्चों को क्रिसमस पर निबंध (christmas in hindi) लिखने का कार्य दिया जाता है। क्रिसमस पर एग्जाम के लिए प्रभावी निबंध तैयार करने का तरीका सीखें।

रक्षाबंधन हिंदुओं के प्रमुख त्योहारों में से एक है। यह पर्व पूरी तरह से भाई और बहन के रिश्ते को समर्पित त्योहार है। इस दिन बहनें अपने भाइयों की कलाई पर रक्षाबंधन बांध कर उनके लंबी उम्र की कामना करती हैं। वहीं भाई अपनी बहनों को कोई तोहफा देने के साथ ही जीवन भर उनके सुख-दुख में उनका साथ देने का वचन देते हैं। इस दिन छोटी बच्चियाँ देश के प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति को राखी बांधती हैं। रक्षाबंधन पर हिंदी में निबंध (essay on rakshabandhan in hindi) आधारित इस लेख से विद्यार्थियों को रक्षाबंधन के त्योहार पर न सिर्फ लेख लिखने में सहायता प्राप्त होगी, बल्कि वे इसकी सहायता से रक्षाबंधन के पर्व का महत्व भी समझ सकेंगे।

होली त्योहार जल्द ही देश भर में हर्षोल्लास के साथ मनाया जाने वाला है। होली आकर्षक और मनोहर रंगों का त्योहार है, यह एक ऐसा त्योहार है जो हर धर्म, संप्रदाय, जाति के बंधन की सीमा से परे जाकर लोगों को भाई-चारे का संदेश देता है। होली अंदर के अहंकार और बुराई को मिटा कर सभी के साथ हिल-मिलकर, भाई-चारे, प्रेम और सौहार्द्र के साथ रहने का त्योहार है। होली पर हिंदी में निबंध (hindi mein holi par nibandh) को पढ़ने से होली के सभी पहलुओं को जानने में मदद मिलेगी और यदि परीक्षा में holi par hindi mein nibandh लिखने को आया तो अच्छा अंक लाने में भी सहायता मिलेगी।

दशहरा हिंदू धर्म में मनाया जाने वाला एक महत्वपूर्ण त्योहार है। बच्चों को विद्यालयों में दशहरा पर निबंध (Essay in hindi on Dussehra) लिखने को भी कहा जाता है, जिससे उनकी दशहरा के प्रति उत्सुकता बनी रहे और उन्हें दशहरा के बारे पूर्ण जानकारी भी मिले। दशहरा पर निबंध (Essay on Dussehra in Hindi) के इस लेख में हम देखेंगे कि लोग दशहरा कैसे और क्यों मनाते हैं, इसलिए हिंदी में दशहरा पर निबंध (Essay on Dussehra in Hindi) के इस लेख को पूरा जरूर पढ़ें।

हमें उम्मीद है कि दीवाली त्योहार पर हिंदी में निबंध उन युवा शिक्षार्थियों के लिए फायदेमंद साबित होगा जो इस विषय पर निबंध लिखना चाहते हैं। हमने नीचे दिए गए निबंध में शुभ दिवाली त्योहार (Diwali Festival) के सार को सही ठहराने के लिए अपनी ओर से एक मामूली प्रयास किया है। बच्चे दिवाली पर हिंदी के इस निबंध से कुछ सीख कर लाभ उठा सकते हैं कि वाक्यों को कैसे तैयार किया जाए, Class 1 से 10 तक के लिए दीपावली पर निबंध हिंदी में तैयार करने के लिए इसके लिंक पर जाएँ।

बाल दिवस पर भाषण (Children's Day Speech In Hindi), बाल दिवस पर हिंदी में निबंध (Children's Day essay In Hindi), बाल दिवस गीत, कविता पाठ, चित्रकला, खेलकूद आदि से जुड़ी प्रतियोगिताएं बाल दिवस के मौके पर आयोजित की जाती हैं। स्कूलों में बाल दिवस पर भाषण देने और बाल दिवस पर हिंदी में निबंध लिखने के लिए उपयोगी सामग्री इस लेख में मिलेगी जिसकी मदद से बाल दिवस पर भाषण देने और बाल दिवस के लिए निबंध तैयार करने में मदद मिलेगी। कई बार तो परीक्षाओं में भी बाल दिवस पर लेख लिखने का प्रश्न पूछा जाता है। इसमें भी यह लेख मददगार होगा।

हिंदी दिवस हर साल 14 सितंबर को मनाया जाता है। भारत देश अनेकता में एकता वाला देश है। अपने विविध धर्म, संस्कृति, भाषाओं और परंपराओं के साथ, भारत के लोग सद्भाव, एकता और सौहार्द के साथ रहते हैं। भारत में बोली जाने वाली विभिन्न भाषाओं में, हिंदी सबसे अधिक उपयोग की जाने वाली और बोली जाने वाली भाषा है। भारतीय संविधान के अनुच्छेद 343 के अनुसार 14 सितंबर 1949 को हिंदी भाषा को राजभाषा के रूप में अपनाया गया था। हमारी मातृभाषा हिंदी और देश के प्रति सम्मान दिखाने के लिए हिंदी दिवस का आयोजन किया जाता है। हिंदी दिवस पर भाषण के लिए उपयोगी जानकारी इस लेख में मिलेगी।

हिन्दी में कवियों की परम्परा बहुत लम्बी है। हिंदी के महान कवियों ने कालजयी रचनाएं लिखी हैं। हिंदी में निबंध और वाद-विवाद आदि का जितना महत्व है उतना ही महत्व हिंदी कविताओं और कविता-पाठ का भी है। हिंदी दिवस पर विद्यालय या अन्य किसी आयोजन पर हिंदी कविता भी चार चाँद लगाने का काम करेगी। हिंदी दिवस कविता के इस लेख में हम हिंदी भाषा के सम्मान में रचित, हिंदी का महत्व बतलाती विभिन्न कविताओं की जानकारी दी गई है।

प्रदूषण पृथ्वी पर वर्तमान के उन प्रमुख मुद्दों में से एक है, जो हमारी पृथ्वी को व्यापक स्तर पर प्रभावित कर रहा है। यह एक ऐसा मुद्दा है जो लंबे समय से चर्चा में है, 21वीं सदी में इसका हानिकारक प्रभाव बड़े पैमाने पर महसूस किया जा रहा है। हालांकि विभिन्न देशों की सरकारों ने इन प्रभावों को रोकने के लिए कई बड़े कदम उठाए हैं, लेकिन अभी भी एक लंबा रास्ता तय करना बाकी है। इससे कई प्राकृतिक प्रक्रियाओं में गड़बड़ी आती है। इतना ही नहीं, आज कई वनस्पतियां और जीव-जंतु या तो विलुप्त हो चुके हैं या विलुप्त होने की कगार पर हैं। प्रदूषण की मात्रा में तेजी से वृद्धि के कारण पशु तेजी से न सिर्फ अपना घर खो रहे हैं, बल्कि जीने लायक प्रकृति को भी खो रहे हैं। प्रदूषण ने दुनिया भर के कई प्रमुख शहरों को प्रभावित किया है। इन प्रदूषित शहरों में से अधिकांश भारत में ही स्थित हैं। दुनिया के कुछ सबसे प्रदूषित शहरों में दिल्ली, कानपुर, बामेंडा, मॉस्को, हेज़, चेरनोबिल, बीजिंग शामिल हैं। हालांकि इन शहरों ने प्रदूषण पर अंकुश लगाने के लिए कई कदम उठाए हैं, लेकिन अभी बहुत कुछ और बहुत ही तेजी के साथ किए जाने की जरूरत है।

वायु प्रदूषण पर हिंदी में निबंध के ज़रिए हम इसके बारे में थोड़ा गहराई से जानेंगे। वायु प्रदूषण पर लेख (Essay on Air Pollution) से इस समस्या को जहाँ समझने में आसानी होगी वहीं हम वायु प्रदूषण के लिए जिम्मेदार पहलुओं के बारे में भी जान सकेंगे। इससे स्कूली विद्यार्थियों को वायु प्रदूषण पर निबंध (Essay on Air Pollution) तैयार करने में भी मदद होगी। हिंदी में वायु प्रदूषण पर निबंध से परीक्षा में बेहतर स्कोर लाने में मदद मिलेगी।

एक बड़े भू-क्षेत्र में लंबे समय तक रहने वाले मौसम की औसत स्थिति को जलवायु की संज्ञा दी जाती है। किसी भू-भाग की जलवायु पर उसकी भौगोलिक स्थिति का सर्वाधिक असर पड़ता है। पृथ्वी ग्रह का बुखार (तापमान) लगातार बढ़ रहा है। सरकारों को इसमें नागरिकों की सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए उपयुक्त कदम उठाने होंगे। जलवायु परिवर्तन को नियंत्रित करने के लिए सरकारों को सतत विकास के उपायों में निवेश करने, ग्रीन जॉब, हरित अर्थव्यवस्था के निर्माण की ओर आगे बढ़ने की जरूरत है। पृथ्वी पर जीवन को बचाए रखने, इसे स्वस्थ रखने और ग्लोबल वार्मिंग के खतरों से निपटने के लिए सभी देशों को मिलकर ईमानदारी से काम करना होगा। ग्लोबल वार्मिंग या जलवायु परिवर्तन पर निबंध के जरिए छात्रों को इस विषय और इससे जुड़ी समस्याओं और समाधान के बारे में जानने को मिलेगा।

हमारी यह पृथ्वी जिस पर हम सभी निवास करते हैं इसके पर्यावरण के संरक्षण के लिए विश्व पर्यावरण दिवस (World Environment Day) हर साल 5 जून को मनाया जाता है। इसकी शुरुआत 1972 में मानव पर्यावरण पर आयोजित संयुक्त राष्ट्र सम्मलेन के दौरान हुई थी। पहला विश्व पर्यावरण दिवस (Environment Day) 5 जून 1974 को “केवल एक पृथ्वी” (Only One Earth) स्लोगन/थीम के साथ मनाया गया था, जिसमें तत्कालीन प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गाँधी ने भी भाग लिया था। इसी सम्मलेन में संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (UNEP) की भी स्थापना की गई थी। इस विश्व पर्यावरण दिवस (World Environment Day) को मनाने का उद्देश्य विश्व के लोगों के भीतर पर्यावरण (Environment) के प्रति जागरूकता लाना और साथ ही प्रकृति के प्रति अपने कर्तव्य का निर्वहन करना भी है। इसी विषय पर विचार करते हुए 19 नवंबर, 1986 को पर्यवरण संरक्षण अधिनियम लागू किया गया तथा 1987 से हर वर्ष पर्यावरण दिवस की मेजबानी करने के लिए अलग-अलग देश को चुना गया।

आज के युग में जब हम अपना अधिकतर समय पढाई पर केंद्रित करने का प्रयास करते नजर आते हैं और साथ ही अपना ज़्यादातर समय ऑनलाइन रह कर व्यतीत करना पसंद करते हैं, ऐसे में हमारे जीवन में खेलों का महत्व कई गुना बढ़ जाता है। खेल हमारे लिए केवल मनोरंजन का साधन ही नहीं, अपितु हमारे सर्वांगीण विकास का एक माध्यम भी है। हमारे जीवन में खेल उतना ही जरूरी है, जितना पढाई करना। आज कल के युग में मानव जीवन में शारीरिक कार्य की तुलना में मानसिक कार्य में बढ़ोतरी हुई है और हमारी जीवन शैली भी बदल गई है, हम रात को देर से सोते हैं और साथ ही सुबह देर से उठते हैं। जाहिर है कि यह दिनचर्या स्वास्थ्य के लिए अच्छी नहीं है और इसके साथ ही कार्य या पढाई की वजह से मानसिक तनाव पहले की तुलना में वृद्धि महसूस की जा सकती है। ऐसी स्थिति में जब हमारे जीवन में शारीरिक परिश्रम अधिक नहीं है, तो हमारे जीवन में खेलो का महत्व बहुत अधिक बढ़ जाता है।

  • यूपी बोर्ड कक्षा 10वीं सिलेबस 2024
  • यूपी बोर्ड 12वीं सिलेबस 2024
  • आरबीएसई 10वीं का सिलेबस 2023

हमेशा से कहा जाता रहा है कि ‘आवश्यकता ही अविष्कार की जननी है’, जैसे-जैसे मानव की आवश्यकता बढती गई, वैसे-वैसे उसने अपनी सुविधा के लिए अविष्कार करना आरंभ किया। विज्ञान से तात्पर्य एक ऐसे व्यवस्थित ज्ञान से है जो विचार, अवलोकन तथा प्रयोगों से प्राप्त किया जाता है, जो कि किसी अध्ययन की प्रकृति या सिद्धांतों की जानकारी प्राप्त करने के लिए किए जाते हैं। विज्ञान शब्द का प्रयोग ज्ञान की ऐसी शाखा के लिए भी किया जाता है, जो तथ्य, सिद्धांत और तरीकों का प्रयोग और परिकल्पना से स्थापित और व्यवस्थित करता है।

शिक्षक अपने शिष्य के जीवन के साथ साथ उसके चरित्र निर्माण में भी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। कहा जाता है कि सबसे पहली गुरु माँ होती है, जो अपने बच्चों को जीवन प्रदान करने के साथ-साथ जीवन के आधार का ज्ञान भी देती है। इसके बाद अन्य शिक्षकों का स्थान होता है। किसी व्यक्ति के व्यक्तित्व का निर्माण करना बहुत ही बड़ा और कठिन कार्य है। व्यक्ति को शिक्षा प्रदान करने के साथ-साथ उसके चरित्र और व्यक्तित्व का निर्माण करना भी उसी प्रकार का कार्य है, जैसे कोई कुम्हार मिट्टी से बर्तन बनाने का कार्य करता है। इसी प्रकार शिक्षक अपने छात्रों को शिक्षा प्रदान करने के साथ साथ उसके व्यक्तित्व का निर्माण भी करते हैं।

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की शुरुआत 1908 में हुई थी, जब न्यूयॉर्क शहर की सड़को पर हजारों महिलाएं घंटों काम के लिए बेहतर वेतन और सम्मान तथा समानता के अधिकार को प्राप्त करने के लिए उतरी थीं। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मनाने का प्रस्ताव क्लारा जेटकिन का था जिन्होंने 1910 में यह प्रस्ताव रखा था। पहला अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 1911 में ऑस्ट्रिया, डेनमार्क, जर्मनी और स्विट्ज़रलैंड में मनाया गया था।

हम उम्मीद करते हैं कि स्कूली छात्रों के लिए तैयार उपयोगी हिंदी में निबंध, भाषण और कविता (Essays, speech and poems for school students) के इस संकलन से निश्चित तौर पर छात्रों को मदद मिलेगी।

  • आरबीएसई 12वीं का सिलेबस
  • एमपी बोर्ड 10वीं सिलेबस
  • एमपी बोर्ड 12वीं सिलेबस

बाल श्रम को बच्चो द्वारा रोजगार के लिए किसी भी प्रकार के कार्य को करने के रूप में परिभाषित किया गया है जो उनके शारीरिक और मानसिक विकास में बाधा डालता है और उन्हें मूलभूत शैक्षिक और मनोरंजक जरूरतों तक पहुंच से वंचित करता है। एक बच्चे को आम तौर व्यस्क तब माना जाता है जब वह पंद्रह वर्ष या उससे अधिक का हो जाता है। इस आयु सीमा से कम के बच्चों को किसी भी प्रकार के जबरन रोजगार में संलग्न होने की अनुमति नहीं है। बाल श्रम बच्चों को सामान्य परवरिश का अनुभव करने, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त करने और उनके शारीरिक और भावनात्मक विकास में बाधा के रूप में देखा जाता है। जानिए कैसे तैयार करें बाल श्रम या फिर कहें तो बाल मजदूरी पर निबंध।

एपीजे अब्दुल कलाम की गिनती आला दर्जे के वैज्ञानिक होने के साथ ही प्रभावी नेता के तौर पर भी होती है। वह 21वीं सदी के प्रसिद्ध वैज्ञानिकों में से एक हैं। कलाम देश के 11वें राष्ट्रपति बने, अपने कार्यकाल में समाज को लाभ पहुंचाने वाली कई पहलों की शुरुआत की। मेरा प्रिय नेता विषय पर अक्सर परीक्षा में निबंध लिखने का प्रश्न पूछा जाता है। जानिए कैसे तैयार करें अपने प्रिय नेता: एपीजे अब्दुल कलाम पर निबंध।

हमारे जीवन में बहुत सारे लोग आते हैं। उनमें से कई को भुला दिया जाता है, लेकिन कुछ का हम पर स्थायी प्रभाव पड़ता है। भले ही हमारे कई दोस्त हों, उनमें से कम ही हमारे अच्छे दोस्त होते हैं। कहा भी जाता है कि सौ दोस्तों की भीड़ के मुक़ाबले जीवन में एक सच्चा/अच्छा दोस्त होना काफी है। यह लेख छात्रों को 'मेरे प्रिय मित्र'(My Best Friend Nibandh) पर निबंध तैयार करने में सहायता करेगा।

3 फरवरी, 1879 को भारत के हैदराबाद में एक बंगाली परिवार ने सरोजिनी नायडू का दुनिया में स्वागत किया। उन्होंने कम उम्र में ही कविता लिखना शुरू कर दिया था। उन्होंने कैम्ब्रिज में किंग्स कॉलेज और गिर्टन, दोनों ही पाठ्यक्रमों में दाखिला लेकर अपनी पढ़ाई पूरी की। जब वह एक बच्ची थी, तो कुछ भारतीय परिवारों ने अपनी बेटियों को स्वतंत्रता आंदोलन में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित किया। हालाँकि, सरोजिनी नायडू के परिवार ने लगातार उदार मूल्यों का समर्थन किया। वह न्याय की लड़ाई में विरोध की प्रभावशीलता पर विश्वास करते हुए बड़ी हुई। सरोजिनी नायडू से संबंधित अधिक जानकारी के लिए इस लेख को पढ़ें।

  • 12वीं के बाद यूपीएससी की तैयारी कैसे करें?
  • 10वीं क्लास से नीट की तैयारी कैसे करें?
  • 12वीं के बाद नीट के बिना किए जा सकने वाले मेडिकल कोर्स

Frequently Asked Question (FAQs)

किसी भी हिंदी निबंध (Essay in hindi) को तीन भागों में विभाजित किया जा सकता है- ये हैं- प्रस्तावना या भूमिका, विषय विस्तार और उपसंहार (conclusion)।

हिंदी निबंध लेखन शैली की दृष्टि से मुख्य रूप से तीन प्रकार के होते हैं-

वर्णनात्मक हिंदी निबंध - इस तरह के निबंधों में किसी घटना, वस्तु, स्थान, यात्रा आदि का वर्णन किया जाता है।

विचारात्मक निबंध - इस तरह के निबंधों में मनन-चिंतन की अधिक आवश्यकता होती है।

भावात्मक निबंध - ऐसे निबंध जिनमें भावनाओं को व्यक्त करने की अधिक स्वतंत्रता होती है।

विषय वस्तु की दृष्टि से भी निबंधों को सामाजिक, आर्थिक, सांस्कृतिक, खेल, विज्ञान और प्रौद्योगिकी जैसी बहुत सी श्रेणियों में बाँटा जा सकता है।

निबंध में समुचित जगहों पर मुहावरे, लोकोक्तियों, सूक्तियों, दोहों, कविता का प्रयोग करके इसे प्रभावी बनाने में मदद मिलती है। हिंदी निबंध के प्रभावी होने पर न केवल बेहतर अंक मिलेंगी बल्कि असल जीवन में अपनी बात रखने का कौशल भी विकसित होगा।

कुछ उपयोगी विषयों पर हिंदी में निबंध के लिए ऊपर लेख में दिए गए लिंक्स की मदद ली जा सकती है।

निबंध, गद्य विधा की एक लेखन शैली है। हिंदी साहित्य कोष के अनुसार निबंध ‘किसी विषय या वस्तु पर उसके स्वरूप, प्रकृति, गुण-दोष आदि की दृष्टि से लेखक की गद्यात्मक अभिव्यक्ति है।’ एक अन्य परिभाषा में सीमित समय और सीमित शब्दों में क्रमबद्ध विचारों की अभिव्यक्ति को निबंध की संज्ञा दी गई है। इस तरह कह सकते हैं कि मोटे तौर पर किसी विषय पर अपने विचारों को लिखकर की गई अभिव्यक्ति निबंध है।

  • Latest Articles
  • Popular Articles

Upcoming School Exams

Maharashtra school leaving certificate examination.

Application Date : 28 May,2024 - 11 June,2024

Odisha Board 10th Examination

Application Date : 29 May,2024 - 12 June,2024

Central Board of Secondary Education Class 12th Examination

Application Date : 31 May,2024 - 15 June,2024

Central Board of Secondary Education Class 10th Examination

Madhya pradesh board 10th examination.

Admit Card Date : 01 June,2024 - 20 June,2024

Applications for Admissions are open.

Aakash iACST Scholarship Test 2024

Aakash iACST Scholarship Test 2024

Get up to 90% scholarship on NEET, JEE & Foundation courses

ALLEN Digital Scholarship Admission Test (ADSAT)

ALLEN Digital Scholarship Admission Test (ADSAT)

Register FREE for ALLEN Digital Scholarship Admission Test (ADSAT)

JEE Main Important Physics formulas

JEE Main Important Physics formulas

As per latest 2024 syllabus. Physics formulas, equations, & laws of class 11 & 12th chapters

PW JEE Coaching

PW JEE Coaching

Enrol in PW Vidyapeeth center for JEE coaching

JEE Main Important Chemistry formulas

JEE Main Important Chemistry formulas

As per latest 2024 syllabus. Chemistry formulas, equations, & laws of class 11 & 12th chapters

ALLEN JEE Exam Prep

ALLEN JEE Exam Prep

Start your JEE preparation with ALLEN

Explore on Careers360

  • Board Exams
  • Top Schools
  • Navodaya Vidyalaya
  • NCERT Solutions for Class 10
  • NCERT Solutions for Class 9
  • NCERT Solutions for Class 8
  • NCERT Solutions for Class 6

NCERT Exemplars

  • NCERT Exemplar
  • NCERT Exemplar Class 9 solutions
  • NCERT Exemplar Class 10 solutions
  • NCERT Exemplar Class 11 Solutions
  • NCERT Exemplar Class 12 Solutions
  • NCERT Books for class 6
  • NCERT Books for class 7
  • NCERT Books for class 8
  • NCERT Books for class 9
  • NCERT Books for Class 10
  • NCERT Books for Class 11
  • NCERT Books for Class 12
  • NCERT Notes for Class 9
  • NCERT Notes for Class 10
  • NCERT Notes for Class 11
  • NCERT Notes for Class 12
  • NCERT Syllabus for Class 6
  • NCERT Syllabus for Class 7
  • NCERT Syllabus for class 8
  • NCERT Syllabus for class 9
  • NCERT Syllabus for Class 10
  • NCERT Syllabus for Class 11
  • NCERT Syllabus for Class 12
  • CBSE Date Sheet
  • CBSE Syllabus
  • CBSE Admit Card
  • CBSE Result
  • CBSE Result Name and State Wise
  • CBSE Passing Marks

CBSE Class 10

  • CBSE Board Class 10th
  • CBSE Class 10 Date Sheet
  • CBSE Class 10 Syllabus
  • CBSE 10th Exam Pattern
  • CBSE Class 10 Answer Key
  • CBSE 10th Admit Card
  • CBSE 10th Result
  • CBSE 10th Toppers
  • CBSE Board Class 12th
  • CBSE Class 12 Date Sheet
  • CBSE Class 12 Admit Card
  • CBSE Class 12 Syllabus
  • CBSE Class 12 Exam Pattern
  • CBSE Class 12 Answer Key
  • CBSE 12th Result
  • CBSE Class 12 Toppers

CISCE Board 10th

  • ICSE 10th time table
  • ICSE 10th Syllabus
  • ICSE 10th exam pattern
  • ICSE 10th Question Papers
  • ICSE 10th Result
  • ICSE 10th Toppers
  • ISC 12th Board
  • ISC 12th Time Table
  • ISC Syllabus
  • ISC 12th Question Papers
  • ISC 12th Result
  • IMO Syllabus
  • IMO Sample Papers
  • IMO Answer Key
  • IEO Syllabus
  • IEO Answer Key
  • NSO Syllabus
  • NSO Sample Papers
  • NSO Answer Key
  • NMMS Application form
  • NMMS Scholarship
  • NMMS Eligibility
  • NMMS Exam Pattern
  • NMMS Admit Card
  • NMMS Question Paper
  • NMMS Answer Key
  • NMMS Syllabus
  • NMMS Result
  • NTSE Application Form
  • NTSE Eligibility Criteria
  • NTSE Exam Pattern
  • NTSE Admit Card
  • NTSE Syllabus
  • NTSE Question Papers
  • NTSE Answer Key
  • NTSE Cutoff
  • NTSE Result

Schools By Medium

  • Malayalam Medium Schools in India
  • Urdu Medium Schools in India
  • Telugu Medium Schools in India
  • Karnataka Board PUE Schools in India
  • Bengali Medium Schools in India
  • Marathi Medium Schools in India

By Ownership

  • Central Government Schools in India
  • Private Schools in India
  • Schools in Delhi
  • Schools in Lucknow
  • Schools in Kolkata
  • Schools in Pune
  • Schools in Bangalore
  • Schools in Chennai
  • Schools in Mumbai
  • Schools in Hyderabad
  • Schools in Gurgaon
  • Schools in Ahmedabad
  • Schools in Uttar Pradesh
  • Schools in Maharashtra
  • Schools in Karnataka
  • Schools in Haryana
  • Schools in Punjab
  • Schools in Andhra Pradesh
  • Schools in Madhya Pradesh
  • Schools in Rajasthan
  • Schools in Tamil Nadu
  • NVS Admit Card
  • Navodaya Result
  • Navodaya Exam Date
  • Navodaya Vidyalaya Admission Class 6
  • JNVST admit card for class 6
  • JNVST class 6 answer key
  • JNVST class 6 Result
  • JNVST Class 6 Exam Pattern
  • Navodaya Vidyalaya Admission
  • JNVST class 9 exam pattern
  • JNVST class 9 answer key
  • JNVST class 9 Result

Download Careers360 App's

Regular exam updates, QnA, Predictors, College Applications & E-books now on your Mobile

student

Certifications

student

We Appeared in

Economic Times

PSB

Press ESC to close

Or check our popular categories....

Home » Essay Writing » My Vision for India in 2047 Essay in English & Hindi

my india is great essay in hindi

My Vision for India in 2047 Essay in English & Hindi

On this page, you will find an essay on “My Vision for India in 2047” provided in both English and Hindi languages. The essay discusses the author’s perspective on what India should aspire to achieve by 2047 , which marks the centenary of India’s independence . The author emphasizes the need to address various challenges facing India in areas such as education, healthcare, technology, and social inclusion. The essay concludes by highlighting the importance of a collective effort to achieve this vision.

My Vision for India in 2047 (English)

India is a country with a rich cultural heritage and a diverse population. Over the past few decades, India has made significant progress in various fields, including technology, healthcare, and education. However, there are still many challenges that need to be addressed to ensure that India continues to grow and thrive in the coming decades.

My vision for India in 2047 is one where every citizen has access to quality education, healthcare, and basic necessities such as clean water and sanitation. In this vision, India is a leader in technology, innovation, and sustainability, and the country is known for its strong economy, vibrant culture, and inclusive society.

One of the key areas where India needs to make progress is in education . While there has been significant progress in increasing access to education, there is still a significant gap in the quality of education provided in urban and rural areas. To address this, my vision for India in 2047 includes a strong focus on improving the quality of education at all levels, from primary to higher education. This includes investing in teacher training, developing modern and relevant curricula, and ensuring that all students have access to digital technologies.

In addition to education, healthcare is another critical area where India needs to make progress. While there have been significant improvements in healthcare access and outcomes in recent years, there is still a long way to go. In my vision for India in 2047, every citizen has access to quality healthcare, regardless of their socioeconomic status. This includes investing in healthcare infrastructure, increasing the number of healthcare professionals, and leveraging technology to improve healthcare delivery and outcomes.

my india is great essay in hindi

In terms of technology, my vision for India in 2047 is one where India is a leader in innovation and sustainability. This includes investing in research and development in emerging technologies such as artificial intelligence, renewable energy, and biotechnology. It also means developing sustainable infrastructure and implementing policies that promote sustainable development.

my india is great essay in hindi

Finally , my vision for India in 2047 includes a strong focus on building an inclusive society. This means promoting gender equality, ending discrimination based on caste, religion, or ethnicity, and ensuring that every citizen has equal opportunities to succeed. This includes investing in social welfare programs, developing policies that promote diversity and inclusion, and creating a culture that values and celebrates diversity.

In conclusion, my vision for India in 2047 is one where every citizen has access to quality education, healthcare, and basic necessities, and where India is a leader in technology, innovation, and sustainability. Achieving this vision will require a collective effort from government, civil society, and the private sector, but I believe that it is possible if we work together with dedication and commitment.

My Vision for India in 2047 (Hindi)

भारत एक ऐसा देश है जिसमें समृद्ध सांस्कृतिक विरासत और विविध जनसंख्या है। पिछले कुछ दशकों से, भारत ने प्रौद्योगिकी, स्वास्थ्य सेवाएं और शिक्षा जैसे विभिन्न क्षेत्रों में महत्वपूर्ण प्रगति की है। हालांकि, भारत को आगे बढ़ने और विकास करने के लिए अभी भी कई चुनौतियों का सामना करना होगा।

मेरी दृष्टि में, भारत 2047 में एक ऐसा देश होगा जहाँ हर नागरिक को गुणवत्ता वाली शिक्षा, स्वास्थ्य सेवाएं और साफ़ पानी और स्वच्छता जैसी आधारभूत आवश्यकताएं होंगी। इस दृष्टि में, भारत प्रौद्योगिकी, नवाचार और पर्यावरण संरक्षण में एक नेता होगा, और देश मजबूत अर्थव्यवस्था, जीवंत संस्कृति और समावेशी समाज के लिए जाना जाएगा।

प्रमुख क्षेत्रों में से एक जहां भारत को प्रगति करने की आवश्यकता है, शिक्षा में है। जहां शिक्षा की पहुंच बढ़ाने में महत्वपूर्ण प्रगति हुई है, वहीं शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में प्रदान की जाने वाली शिक्षा की गुणवत्ता में अभी भी महत्वपूर्ण अंतर है। इसे संबोधित करने के लिए, 2047 में भारत के लिए मेरी दृष्टि में प्राथमिक से उच्च शिक्षा तक, सभी स्तरों पर शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार पर एक मजबूत फोकस शामिल है। इसमें शिक्षक प्रशिक्षण में निवेश, आधुनिक और प्रासंगिक पाठ्यक्रम विकसित करना और यह सुनिश्चित करना शामिल है कि सभी छात्रों की डिजिटल तकनीकों तक पहुंच हो।

शिक्षा के अलावा, स्वास्थ्य सेवा एक अन्य महत्वपूर्ण क्षेत्र है जहां भारत को प्रगति करने की आवश्यकता है। जबकि हाल के वर्षों में स्वास्थ्य सेवा की पहुंच और परिणामों में महत्वपूर्ण सुधार हुए हैं, अभी भी एक लंबा रास्ता तय करना है। 2047 में भारत के लिए मेरे दृष्टिकोण में, प्रत्येक नागरिक की सामाजिक आर्थिक स्थिति की परवाह किए बिना गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवा तक पहुंच है। इसमें हेल्थकेयर इंफ्रास्ट्रक्चर में निवेश करना, हेल्थकेयर प्रोफेशनल्स की संख्या बढ़ाना और हेल्थकेयर डिलीवरी और परिणामों को बेहतर बनाने के लिए टेक्नोलॉजी का लाभ उठाना शामिल है।

प्रौद्योगिकी के संदर्भ में, 2047 में भारत के लिए मेरा दृष्टिकोण वह है जहां भारत नवाचार और स्थिरता में अग्रणी है। इसमें आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, रिन्यूएबल एनर्जी और बायोटेक्नोलॉजी जैसी उभरती प्रौद्योगिकियों में अनुसंधान और विकास में निवेश शामिल है। इसका मतलब टिकाऊ बुनियादी ढाँचे का विकास करना और टिकाऊ विकास को बढ़ावा देने वाली नीतियों को लागू करना भी है।

अंत में, 2047 में भारत के लिए मेरे दृष्टिकोण में एक समावेशी समाज के निर्माण पर एक मजबूत फोकस शामिल है। इसका अर्थ है लैंगिक समानता को बढ़ावा देना, जाति, धर्म या जातीयता के आधार पर भेदभाव को समाप्त करना और यह सुनिश्चित करना कि प्रत्येक नागरिक को सफल होने के समान अवसर प्राप्त हों। इसमें सामाजिक कल्याण कार्यक्रमों में निवेश करना, विविधता और समावेशन को बढ़ावा देने वाली नीतियों का विकास करना और एक ऐसी संस्कृति का निर्माण करना शामिल है जो विविधता को महत्व देती है और उसका जश्न मनाती है।

अंत में, 2047 में भारत के लिए मेरा दृष्टिकोण वह है जहां प्रत्येक नागरिक को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा, स्वास्थ्य देखभाल और बुनियादी आवश्यकताएं उपलब्ध हों, और जहां भारत प्रौद्योगिकी, नवाचार और स्थिरता में अग्रणी हो। इस दृष्टि को प्राप्त करने के लिए सरकार, नागरिक समाज और निजी क्षेत्र के सामूहिक प्रयास की आवश्यकता होगी, लेकिन मेरा मानना ​​है कि अगर हम समर्पण और प्रतिबद्धता के साथ मिलकर काम करें तो यह संभव है।

I Hope you like this post. Keep reading and don’t forget to share it with your friends.

Categorized in:

Share Article:

Leave a Reply Cancel reply

Save my name, email, and website in this browser for the next time I comment.

Related Articles

Sine and cosine theta functions in trigonometry [formula, graph, and table], social issues project class 10 pdf [handwritten and expert guide], indian economy by sanjiv verma pdf, indian economy by sriram ias 2022 pdf, other stories, upsc mains previous year question papers pdf [updated to 2023], please enable javascript in your browser to visit this site..

Advertisement

Supported by

A Small Army Combating a Flood of Deepfakes in India’s Election

Social media is awash with A.I.-altered audio, clipped video and manipulated images. Fact-checkers want to save the public from deception.

  • Share full article

my india is great essay in hindi

By Alex Travelli

Reporting from New Delhi

Through the middle of a high-stakes election being held during a mind-melting heat wave, a blizzard of confusing deepfakes blows across India. The variety seems endless: A.I.-powered mimicry, ventriloquy and deceptive editing effects. Some of it is crude, some jokey, some so obviously fake that it could never be expected to be seen as real.

The overall effect is confounding, adding to a social media landscape already inundated with misinformation. The volume of online detritus is far too great for any election commission to track, let alone debunk.

A diverse bunch of vigilante fact-checking outfits have sprung up to fill the breach. While the wheels of law grind slowly and unevenly, the job of tracking down deepfakes has been taken up by hundreds of government workers and private fact-checking groups based in India.

“We have to be ready,” said Surya Sen, a forestry officer in the state of Karnataka who has been reassigned during the election to manage a team of 70 people hunting down deceptive A.I.-generated content. “Social media is a battleground this year.” When Mr. Sen’s team finds content they believe is illegal, they tell social media platforms to take it down, publicize the deception or even ask for criminal charges to filed.

Celebrities have become familiar fodder for politically pointed tricks, including Ranveer Singh, a star in Hindi cinema.

During a videotaped interview with an Indian news agency at the Ganges River in Varanasi, Mr. Singh praised the powerful prime minister, Narendra Modi, for celebrating “our rich cultural heritage.” But that is not what viewers heard when an altered version of the video, with a voice that sounded like Mr. Singh’s and a nearly perfect lip sync, made the rounds on social media.

We are having trouble retrieving the article content.

Please enable JavaScript in your browser settings.

Thank you for your patience while we verify access. If you are in Reader mode please exit and  log into  your Times account, or  subscribe  for all of The Times.

Thank you for your patience while we verify access.

Already a subscriber?  Log in .

Want all of The Times?  Subscribe .

May/June 2024cover

  • All Articles
  • Books & Reviews
  • Anthologies
  • Audio Content
  • Author Directory
  • This Day in History
  • War in Ukraine
  • Israeli-Palestinian Conflict
  • Artificial Intelligence
  • Climate Change
  • Biden Administration
  • Geopolitics
  • Benjamin Netanyahu
  • Vladimir Putin
  • Volodymyr Zelensky
  • Nationalism
  • Authoritarianism
  • Propaganda & Disinformation
  • West Africa
  • North Korea
  • Middle East
  • United States
  • View All Regions

Article Types

  • Capsule Reviews
  • Review Essays
  • Ask the Experts
  • Reading Lists
  • Newsletters
  • Customer Service
  • Frequently Asked Questions
  • Subscriber Resources
  • Group Subscriptions
  • Gift a Subscription

Sign up for the Foreign Affairs Summer Reads newsletter.

India’s Perilous Border Standoff With China

Modi’s tough stance could invite—not deter—chinese aggression, by praveen donthi.

High up in the mostly uninhabitable stretches of the Himalaya Mountains, the world’s two largest armies are facing off. The tensions at the disputed Chinese-Indian border, where around 100,000 troops are garrisoned at remote outposts, rarely makes international headlines. But it is one of the world’s most dangerous flash points. In 2020, clashes at the border left over 20 soldiers dead, marking the most significant fighting between China and India since the two countries fought a war in 1962.

Tensions at the roof of the world have persisted ever since. In the last four years, both sides have sought to build up infrastructure and position yet more troops along the border. Just as China spars with many of its neighbors over competing territorial claims, the unresolved boundary dispute with India is a great source of volatility. The annual threat assessment released in March by the U.S. director of national intelligence warned that sporadic encounters between Indian and Chinese troops “risk miscalculation and escalation into armed conflict.”

The deepening border crisis reflects the growing strategic rivalry between India and China. Bilateral ties sharply deteriorated in the wake of the 2020 clashes. Facing China’s superior military and its increasingly aggressive foreign policy, Indian Prime Minister Narendra Modi has sought to deepen India’s alignment with the United States and other countries wary of Beijing. He has embraced India’s new role as a counterbalance to China in the Indo-Pacific. He has boosted the country’s participation in the so-called Quad, its security partnership with Australia, Japan, and the United States. And he has ensured that in many areas, bilateral relations between China and India are functionally frozen, harking back to the era between 1962 and 1988 when the two countries did not maintain normal diplomatic ties because of the border dispute.

Beyond the border—the most dangerous flash point—Indian officials see Beijing entering their backyard. India has long claimed that China is using its alliance with India’s archnemesis, Pakistan, to keep India pinned down in the region. China’s belligerence also resurrects India’s old strategic concern about a potential two-front war with Pakistan acting in tandem with China. Across South Asia, China and India are also vying for influence in smaller countries, such as Bangladesh, the Maldives, Nepal, and Sri Lanka. Modi seems to have realized that the expansion of India’s role on the international stage will depend on how it manages China militarily and politically. At the time of publication, he looked likely to win a third term as prime minister in this year’s parliamentary elections. If his victory is confirmed, it will be propelled in part by the strength of the image he projects of himself as a confident world leader driving India toward great-power status—and keeping China in check.

This increasingly aggressive stance, however, is likely to invite more trouble. Modi’s tack toward Washington makes the rivalry between India and China look like a subset of the bigger competition between China and the United States . Some Indian analysts fear that this state of play will encourage Beijing to deal with Washington directly rather than with New Delhi, reinforcing perceptions in India that China does not see it as an equal. India’s closer alignment with the United States might also encourage China to use coercive tactics toward India to send a firm message to the United States and its allies. Although it may serve a domestic purpose, Modi’s strongman posturing makes diplomacy with China harder, thereby prolonging the crisis. To be sure, Modi has engaged Beijing before, and little came of those efforts. But getting back to high-level talks with China remains the best bet for both establishing stability on the border and burnishing India’s great-power credentials.

ON THE ROOF OF THE WORLD

The origins of China and India’s border dispute go back to the 1950s, when Chinese forces occupied Tibet, which had long served as a buffer zone between the two countries. The governments of China and India inherited the borders of the regimes they replaced, the Qing dynasty and British India, leading to a welter of overlapping claims. In 1962, a brief war broke out along the disputed border, resulting in a crushing defeat for India. That humiliating loss engendered a deep and lasting distrust of China that haunts Indian policymakers to this day. A de facto border imposed by Beijing after 1962 called the Line of Actual Control (LAC) functions as a working boundary, although the two countries do not agree on exactly where it lies.

Between 1993 and 2013, Indian and Chinese diplomats signed a series of border agreements to try to minimize the dispute and reduce the risk of violent escalation by restricting, for instance, the use of firearms by both armies. But the fundamental disagreement persisted and sparked recurring flare-ups, including a streak of border standoffs in 2013, 2014, 2015, and 2017. Both countries sought to paper over their differences through two informal summits in 2018 and 2019, but the worst was yet to come. In the spring of 2020, thousands of Chinese troops advanced into areas claimed by India, leading to clashes in which at least 20 Indian and four Chinese soldiers were killed.

After every big crisis in the past, both sides tried to work out peace agreements and suppress their differences—but not after the 2020 clash. In an interview in April, Modi finally admitted that the standoff had taken a toll on relations between India and China: “the prolonged situation on our borders,” he said, has led to “abnormality in our bilateral interactions.” China has loomed larger over many of India’s strategic and foreign policy choices in the last four years. Since gaining independence in 1947, India has sought strategic autonomy and pursued a policy of general nonalignment, eschewing formal alliances. But China’s increasingly aggressive posture and growing power in Asia has pushed India’s foreign policymakers toward the United States and its allies.

The two largest armies in the world face off high in the Himalayas.

This is not the turn Modi had hoped for. Before he came to power in 2014, he warned Beijing to shed its “expansionist mindset.” But that tough talk belied tangible moves to establish trust and a one-to-one channel with Chinese President Xi Jinping . Modi enthusiastically sought deeper economic ties, welcomed Xi to India a few months into his first term, and traveled to Beijing in May 2015 to visit Xi. Between 2014 and the outbreak of the COVID-19 pandemic, Modi met with Xi 18 times and visited China five times, an unprecedented level of interaction between the two countries’ leaders.

This bonhomie, however, did not produce any real change in Beijing’s foreign policy. Its long-standing alliance with Islamabad remained intact. And China worked to thwart Modi’s global ambitions. New Delhi resented Beijing for standing in the way of India’s efforts to become a permanent member of the UN Security Council in 2015 and for failing to back India’s entry to the elite Nuclear Suppliers Group in 2016. China blocked Indian appeals to the UN Security Council between 2016 to 2019 to designate the chief of the Pakistani jihadist group Jaish-e-Muhammed, which was responsible for attacks on Indian soil, as a terrorist.

Then China ratcheted up the pressure on the border. In line with other expansionist moves in the South China Sea, where it has sparred with the Philippines and other countries over maritime claims, China grew bolder in asserting its territorial claims in the Himalayas and in criticizing India for any attempt to strengthen its position in those regions. The bloody clash that ensued in 2020 and the resulting Chinese land grabs put Modi in a difficult position, as admitting that China had brazenly taken land claimed by India would make him appear weak. Initially, he flatly denied that Chinese troops had crossed the border and entered Indian territory. He asserted that not even an inch of land has been lost, although by some accounts India has lost access to around 775 square miles that it once patrolled. He continues to avoid talking directly about China, out of fear of inviting scrutiny of the fact that India has lost ground to its neighbor on his watch. At the same time, his government has retaliated through other means. It has banned 59 Chinese apps, targeted Chinese companies with tax raids, and created hurdles for Chinese investment. Indian public opinion has also grown steadily more hostile to China, disincentivizing diplomatic engagement and compromise.

Modi’s domestic critics and political opponents have blamed him for losing territory to China, but that has not hurt his government. By pounding the drum of Hindu nationalism and insisting on India’s great-power status, Modi has deflected domestic criticism of his foreign policy. With the help of a pliant Indian media and a fervently pro-government social media, there is little discussion about India’s China policy in the public sphere, never mind in Parliament. His hardened stance against China has helped him forge stronger ties with the United States and its allies, but it has done little to resolve the underlying dispute or bring stability back to the border.

NOT FRIENDS, NOT ENEMIES

In the words of Foreign Minister Subrahmanyam Jaishankar, India’s foreign policy is now focused on how “to manage a more powerful neighbor while ensuring its own rise.” In line with the ruling Bharatiya Janata Party’s predilection for condemning prior governments, Jaishankar has argued that former Indian leaders were responsible for “consciously underrating the China challenge” until Modi brought about a strategic revolution and more openly aligned with the United States. New Delhi and Washington were already “natural allies,” according to Indian officials in 1998; they signed a civil nuclear deal in 2005 and became “closest partners” in 2013. But the Modi government took this defense and security relationship from fine words to hard fact. In 2016, India signed a military logistics pact with the United States, which soon designated India a “major defense partner” on par with its “closest allies and partners.” Once studiously nonaligned, India under Modi has drifted ever closer to the American camp.

As the rivalry between China and India becomes subsumed by broader geopolitical dynamics, the border is becoming more volatile. The prospect of either side’s ceding ground and striking a territorial compromise appears to be vanishingly small. Over 20 rounds of high-level military talks since the 2020 clash have yielded little progress, and any small provocation or miscalculation could easily provoke another round of fighting. With China consolidating its military positions in the last four years and India trying to mirror those moves, the border has been significantly militarized, and an accidental escalation could carry very serious consequences.

Modi may well feel he has landed on a strategy that wins him domestic popularity. But if he does not change his approach to China, he risks undermining all his gains by taking India to the point of no return with a full-scale armed conflict that he can ill afford. The best way forward for India would be to restart high-level political engagement to address differences related to the Himalayan dispute with China. Many of these disagreements may take a long time to resolve, but some can be broached. In the interim, both sides must make crisis management an urgent priority, reassert their commitment to the existing bilateral agreements, and explore ways to strengthen them, given the fast-changing dynamics on the border. Both China and India can take small steps toward the goal of permanently delineating the LAC by restarting the process of border demarcation, which came to a halt in 2002.

Modi can ill afford to take India to the point of no return and a full-scale armed conflict with China.

New Delhi could take a page out of Washington’s playbook in managing its relationship with Beijing by striving to set up guardrails and prevent a competitive relationship from escalating into an outright feud, without having to achieve a full reconciliation. This would, of course, require Beijing to be willing to engage, which is not guaranteed. But by sticking to his strongman image for domestic purposes, Modi heightens the risk of turning the border into a permanent flash point.

In the past year, China has reached out to the United States, the European Union, Japan, Australia, South Korea, and Vietnam—but not to its neighbor India, sending a message that it’s in no hurry to resolve the crisis. The fact that Indians have a very low opinion of China at the moment is likely dissuading Modi from making any overture lest he appear to be normalizing relations. But he has enough political capital and nationalist credentials to convince the public that leader-to-leader discussions will advance India’s interests.

It will take high-level negotiations to break this impasse. Meetings between Chinese and Indian military officials since 2020 are little more than formalities. Only the engagement of the top leaders will bring about any real change. Any resolution to the border dispute may involve both countries’ exchanging stretches of territory with the other—and Modi will have to convince an increasingly jingoistic Indian public that such compromise is worth it.

But it is in the interest of both Beijing and New Delhi not to let this crisis escalate. China does not want to divert resources from its primary security concern in the east, the near seas in the Pacific, to its western front with India. Modi does not want to get caught in a prolonged crisis with a more powerful neighbor that would impede his domestic and global ambitions. Returning stability to the border between China and India falls short of rapprochement, but it would be a far better outcome than overt war.

You are reading a free article.

Subscribe to foreign affairs to get unlimited access..

  • Paywall-free reading of new articles and over a century of archives
  • Unlock access to iOS/Android apps to save editions for offline reading
  • Six issues a year in print and online, plus audio articles
  • PRAVEEN DONTHI is Senior Analyst for India at the International Crisis Group.
  • More By Praveen Donthi

Most-Read Articles

How hamas ends.

A Strategy for Letting the Group Defeat Itself

Audrey Kurth Cronin

Why would anyone want to run the world.

The Warnings in Cold War History

John Lewis Gaddis

The dangerous myth of deglobalization.

Misperceptions of the Global Economy Are Driving Bad Policies

Brad Setser

A three-theater defense strategy.

How America Can Prepare for War in Asia, Europe, and the Middle East

Thomas G. Mahnken

Recommended articles, china is losing india.

A Clash in the Himalayas Will Push New Delhi Toward Washington

Tanvi Madan

Modi’s middling economy.

How Inequality, Unemployment, and Slow Growth Hold India Back

Rohit Lamba and Raghuram Rajan

Stay informed., thank you for signing up. stay tuned for the latest from foreign affairs ..

Welcome Back!

It looks like you already have created an account in GreatLearning with email . Would you like to link your Google account?

Master AI with our top ranked program

1000+ Courses for Free

Forgot password

Reset Password

If an account with this email id exists, you will receive instructions to reset your password.

Explore 1000+ Free Courses

Provide email consent.

Kindly provide email consent to receive detailed information about our offerings.

Have an account?

Email us at [email protected] to stop receiving future communication.

By signing up/logging in, you agree to our Terms and condition • Privacy Policy

We've sent an OTP to CHANGE

Setting up your account...

1000+ Free Online Courses with Certificates

Upskilling for Professionals from World’s top Universities

We partner with the top universities of the world

Stanford Graduate School of Business Executive Education

Explore new and trending free online courses

Course image

Python Fundamentals for Beginners

Course image

ChatGPT for Beginners

Course image

AI in Healthcare

Course image

Prompt Engineering for ChatGPT

Course image

Introduction to Natural Language Processing

Course image

Getting Started with Gemini (Bard)

Course image

Interview Preparation using Bard

Course image

Customer Service Essentials

Course image

Introduction to Google Ads Campaign

Course image

How to Build your own Chatbot using Python?

Course image

Google Bard for Coders

Course image

Basics of Data Visualization for Data Science

Explore free online courses.

Browse by Domains

Popular Courses

ChatGPT and Generative AI

Artificial Intelligence

Machine Learning

Cyber Security

Data Science

Cloud Computing

Digital Marketing

UI/UX Design

Courses with Spanish Subtitles

IT & Software

Discover All Courses

Course image

Introduction to Machine Learning

Course image

Introduction to Artificial Intelligence

Course image

Basics of Machine Learning

Course image

Introduction to Computer Vision

Course image

Intro to Exploratory Data Analysis with Excel

Course image

ChatGPT for Excel

Course image

Basics of Python Data Wrangling

Course image

Foundations of Data Visualization using Tableau

Chatgpt for hr, chatgpt for business communication, chatgpt for content and seo, getting started with chatgpt-4, chatgpt for digital marketing, chatgpt for coders, introduction to neural networks, introduction to deep learning, digital image processing, introduction to tensorflow and keras, convolutional neural networks, applications of ai, ai as a service, data visualization using python, statistics for machine learning, probability and probability distributions for machine learning, basics of eda with python, machine learning pipeline, machine learning application, supervised machine learning with logistic regression and naïve bayes, supervised machine learning with tree based models, introduction to cyber security, introduction to cyber crime, introduction to cryptography, introduction to information security, introduction to ethical hacking, advanced cyber security - threats and governance, ethical hacking - mobile platforms and network architecture, types of cyber security, cyber security threats, excel for data science for beginners, data analytics using excel, applying analytics to business problems, r in data science, data science foundations, probability for data science, statistical methods for decision making, cloud computing foundations, cloud foundations - advanced, cloud business case, introduction to cloud and airflow, microsoft azure essentials, serverless computing, cloud computing architecture, applications of cloud computing, aws for beginners, introduction to digital marketing, content marketing basics, instagram marketing fundamentals, seo for beginners, search engine marketing, digital transformation, ai in digital marketing, affiliate marketing, how to start blogging, marketing foundations, 4ps of marketing mix, marketing: strategic framework, business finance foundations, introduction to corporate finance, vuca leadership, product management, principles of management, social media marketing, introduction to design thinking, ui / ux for beginners, ux portfolio, career in ux and product design, análisis de datos usando excel, tutorial mysql, programación java, fundamentos de python para principiantes, ingeniería de características para el aprendizaje automático, introduction to database and sql, introduction to nosql, python foundations, java programming, data structures & algorithms in java, front end development - html, front end development - css, register for upcoming webinars.

Introduction to Supervised Learning and Regression

10 June 2024 | 11:00AM UTC

Bhaskarjit Sarmah

VP & Data Scientist, BlackRock

REGISTER NOW

Introduction to Cybersecurity

10 June 2024 | 12:00PM CDT

Mr. Abdul Mateen

Senior Threat Intelligence Analyst, 'Confidential'

Credit Card Fraud Detection using Python

11 June 2024 | 10:00AM UTC

Vincent Koc

Founder & Managing Director, Hyperthink

Intro to Recommendation Systems

Manikant Kandkuri

Consulting Lead Data Scientist

Unlocking the Full Potential of AI for Banking

11 June 2024 | 08:00PM CDT

Mr. Anuj Saboo

Data Scientist, BAT, Canada

Mr. Udit Mehrotra

Data Science Specialist, McKinsey & Company

Unlocking the Full Potential of AI for Retail

12 June 2024 | 10:00AM UTC

Saurabh Kango

Insights Program Manager, LinkedIn

Introduction to Cloud Computing

12 June 2024 | 11:00AM CDT

Mr. Sachin Kumar Trivedi

Enterprise Cloud Architect, AWS

Getting Started with Recommendation Systems

12 June 2024 | 06:00PM EDT

Joel Kowalewski

CTO, AI Scientist, Sensorygen, Inc.

12 June 2024 | 06:00PM CDT

Matthew Nickens

Senior Manager, Data Science, CarMax

Introduction to Python for Data Science

13 June 2024 | 06:00PM CDT

Davood Wadi

AI Research Scientist, intelChain

Exploratory Data Analysis: Uncovering Patterns in Data

13 June 2024 | 07:30PM CDT

Mr. Saurabh Kango

Kickstarting your journey as a full stack developer

17 June 2024 | 11:00AM CDT

Mr. David Stephenson

Software Development Instructor

AI and ML Trends in 2024: A Comprehensive Overview

18 June 2024 | 11:00AM UTC

Anjana Agrawal

Entrepreneur

20 June 2024 | 08:00PM CDT

Mr. Vinicio De Sola

Senior Data Scientist, Aspen Capital, Canada

Select a career path and power ahead

ARTIFICIAL INTELLIGENCE

AI Engineer

DATA SCIENCE

Data Scientist

DIGITAL MARKETING

Digital Marketer

MACHINE LEARNING

Machine Learning Engineer

Download the great learning app.

Learn new skills anywhere anytime

Success stories

Chris Hegeman

Chris Hegeman

Director of Marketing Analytics & Business Intelligence- Embedded Technology/ IoT

Dell, Inc, US

Dell, Inc, US

Javier R. Olaechea

Data Solution Integration Advisor

ExxonMobil, US

ExxonMobil, US

Gabriel Arbe

Director of Operations, Latin America

VMWARE, US

Raghavendra P Setty

Vice President

Charles Schwab & Co. In, US

Charles Schwab & Co. In, US

Gaston Alvarado Maza

Global Category Manager

Materion Corporation,US

Materion Corporation,US

Customer Service Administrator

CMT Limited UK

CMT Limited UK

Hugh Hanlon

Defense Research Analyst-Associate, Booz Allen Hamilton (United States)

Booz Allen, US

Booz Allen, US

Pertuso Dryonis

Sr. Advisor Applied Data Analytics, Hess Corporation (United States))

Hess, US

And thousands more such success stories..

Ready to learn?

Frequently asked questions.

The Great Learning Academy is a free learning platform by Great Learning where you can upskill with thousands of free courses, all of which include certificates.

All the courses listed under Great Learning Academy are completely free. The certificate you will receive after course completion is also free.

You can enroll in as many free courses as you want.

Free courses can boost your chances of getting a job by enhancing your knowledge and skills. Earning a certificate can further add weight to your resume and validate your abilities for employment.

Each course has a Quiz or assignment at the end. If you pass it, the certificate will be available on your dashboard within 24 Hours.

All the free courses are self-paced. You can complete them at your convenience.

You will not require any skills or experience for beginner-level courses. However, you may need some prerequisites for intermediate or advanced courses. If any prerequisites are needed, they will be mentioned in the course itself.

You can enroll in these courses with your Email address or Google account.

You may consider taking the professional programs we offer in collaboration with top global universities. These programs are taught by the world’s renowned faculty and professionals who mentor you to achieve a successful career.

[ Access our professional programs ]

For any query, please contact us at [email protected]

Great Learning Academy

Great learning academy - what do we offer.

Great Learning Academy is our initiative to provide free online courses in various domains so professionals and students can learn the required skills and achieve career success.

We have a library of free content with over 1500+ courses on trending and high-demand topics. Also, we regularly organize free live sessions and webinars with industry experts. You can enroll in these sessions and interact directly with the experts.

So far, our free courses have benefitted more than 12 million learners from around 170 countries. Join these learners and skill up for your dream job, explore new interests, or enhance your knowledge base. All at your own pace and convenience.

Great Learning App

Great Learning App is your go-to mobile learning platform, accessible on Android and iOS devices. You can find all our free courses in the app also. It allows you to download course resources directly onto your device, providing the flexibility to study anytime, anywhere, even without an internet connection.

[ Download for Android ] [ Download for IOS ]

Your Privacy

Strictly necessary cookies, performance cookies, functional cookies, targeting cookies.

  • Privacy Policy

When you visit any web site, it may store or retrieve information on your browser, mostly in the form of cookies. This information might be about you, your preferences or your device and is mostly used to make the site work as you expect it to. The information does not usually directly identify you, but it can give you a more personalized web experience. Because we respect your right to privacy, you can choose not to allow some types of cookies. Click on the different category headings to find out more and change our default settings. However, blocking some types of cookies may impact your experience of the site and the services we are able to offer.

Always Active

These cookies are necessary for the website to function and can't be switched off in our systems. They are usually only set in response to actions you made which result in a request for services, such as setting your privacy preferences, logging in or filling in forms. You can set your browser to block or alert you about these cookies but some parts of the site may not work as a result.

  • Cookies Used:
  • Great Learning
  • Google Tag Manger

These cookies allow us to count visits and traffic sources, so we can measure and improve the performance of our site. They help us know which pages are the most and least popular and see how visitors move around the site. All information these cookies collect is aggregated and therefore anonymous. If you do not allow these cookies, we will not know when you have visited our site.

  • Google Analytics

These cookies allow the provision of enhance functionality and personalization, such as videos and live chats. They may be set by us or by third party providers whose services we have added to our pages. If you don't allow these cookies, then some or all of these functionalities may not function properly.

  • Get Site Control

These cookies are set through our site by our advertising partners. They may be used by those companies to build a profile of your interests and show you relevant ads on other sites. They work by uniquely identifying your browser and device. If you don't allow these cookies, you will not experience our targeted advertising across different websites as a result of these cookies.

  • RLCDN Cookies
  • Google Ad Words
  • OB remarketing

To watch this video

Kindly give us consent for all functional cookies.

IMAGES

  1. मेरा भारत महान पर निबंध : Essay on My Great India in Hindi

    my india is great essay in hindi

  2. मेरा भारत पर निबंध

    my india is great essay in hindi

  3. मेरा भारत महान पर निबंध हिन्दी में My Country India is Great Essay in Hindi

    my india is great essay in hindi

  4. 🔥 My country essay in hindi. Essay on my Country in Hindi. 2022-11-15

    my india is great essay in hindi

  5. ನನ್ನ ಭಾರತ

    my india is great essay in hindi

  6. Long Essay On India In Hindi

    my india is great essay in hindi

VIDEO

  1. I love my india aj buhat khush#independenceday #15august #tiranga #tricolor #india #harghartiranga

  2. Essay on Students Life in Hindi

  3. India of My Dreams Essay in Hindi

  4. Essay on Mahatma Gandhi in Hindi Essay Writing/महात्मा गांधी पर निबंध

  5. सफलता पर हिंदी में निबंध

  6. ये है भारत का महा दानवीर| India's Great Donor #shortvideo #azimpremji

COMMENTS

  1. मेरा भारत महान पर निबंध हिन्दी में My Country India is Great Essay in Hindi

    आज के इस लेख में हमने मेरा भारत महान पर निबंध हिन्दी में (My Country India is Great Essay in Hindi) लिखा है। यह निबंध स्कूल और कॉलेज के छात्रों के लिए 1200 शब्दों में लिखा है। इससे ...

  2. मेरा भारत महान पर निबन्ध

    Article shared by: मेरा भारत महान पर निबन्ध | Essay on My Great Country: India in Hindi! मेरा कृषि प्रधान भारत महान है । जहाँ पुरातन युग में यह आर्यावत नाम से पुकारा जाता ...

  3. मेरा भारत महान पर निबंध, मेरा देश भारत: india essay in hindi, my

    मेरा देश भारत पर निबंध, my country india essay in hindi (100 शब्द) भारत पूरी दुनिया में एक प्रसिद्ध देश है। भौगोलिक रूप से, हमारा देश एशिया महाद्वीप के दक्षिण में स्थित है ...

  4. मेरा भारत महान पर निबंध

    Essay on My Great Country India in Hindi for Class 10, 11 and 12 Students and Teachers. रूपरेखा : प्रस्तावना - प्रकृति का प्यारा देश - भारत के नाम - भारत की महान संस्कृति - भारत हमारी सोने की ...

  5. भारत (इंडिया) पर निबंध

    भारत पर निबंध (India Essay in Hindi) By अर्चना सिंह / July 19, 2023. पूरे विश्व भर में भारत एक प्रसिद्ध देश है। भौगोलिक रुप से, हमारा देश एशिया महाद्वीप के ...

  6. मेरा भारत महान पर निबंध । Hindi Essay on My Great India

    Pingback: 21वी सदी का भारत पर निबंध । Essay on 21st Century India in Hindi - Pingback: Essay on Satyamev Jayate, History, Slogan in English - Pingback: साहित्य का उद्देश्य- प्रेमचंद । Purpose of literature- Premchand in Hindi - Pingback: भारत-अमेरिका संबंध पर ...

  7. भारत पर निबंध (Essay On India in Hindi) 10 lines 100, 150, 200, 250

    भारत पर निबंध 20 लाइन (Essay on India 20 lines in Hindi) 1) भारत विशाल सांस्कृतिक और धार्मिक विविधता वाला विश्व का सबसे बड़ा लोकतंत्र है।. 2) भारत 29 राज्यों और ...

  8. मेरा भारत महान पर निबंध

    Essay In Hindi कक्षा 1 से 4 के लिए निबंध कक्षा 5 से 9 के लिए निबंध कक्षा 10 से 12 के लिए निबंध प्रतियोगी परीक्षा के लिए निबंध ऋतुओं पर निबंध त्योहारों ...

  9. An Essay On India : मेरा प्यारा देश भारत पर हिन्दी निबन्ध

    Essay on Independence Day in hindi. Essay on Republic Day in hindi. Essay on Farmers in hindi. An Essay On India ,मेरा प्यारा देश भारत पर हिन्दी निबन्ध :विविधता में एकता , अनेकता में एकता , वसुधैव ...

  10. Essay on My India is Great in Hindi

    Essay on My India is Great in Hindi - मेरा भारत महान पर निबन्ध, Essay in very simple language with the boundaries of different words here. Here you can find Essay in English or In Hindi language for School Childeren Students or Other exams competitor

  11. मेरा भारत महान पर निबंध

    My India is Great Essay in Hindi for Class 1, 2, 3 and 4 kids, students and Teachers - My India Great Essay in Hindi in 50, 100, 150, 200, 250, 300, 350, 400 Words.

  12. Essay On India In Hindi

    आज इस My India Essay In Hindi में हम आपको बहुत ही आसान भाषा में India Par Nibandh In Hindi के बारे में बात करने वाले हैं। हम इस Bharat Par Nibandh In Hindi में भारत के सौंदर्य, इतिहास, संस्कृति, और विकास ...

  13. मेरे सपनों का भारत पर निबंध (India of My Dreams Essay in Hindi)

    मेरे सपनों का भारत पर छोटे तथा बड़े निबंध (Long and Short Essay on India of My Dreams in Hindi, Mere Sapno ka Bharat par Nibandh Hindi mein) निबंध 1 (300 शब्द) प्रस्तावना

  14. 10 Lines on My Country India in Hindi

    Short Essay on My Country India in Hindi. Pattern 3 - 10 Lines Essay or Shorts Essay is very helpful for class 10,11 12, and Competitive Exams preparing Students.. मैं भारत में रहता हूं। भारत एक विशाल देश है। नई दिल्ली भारत की राजधानी है। हमारे पड़ोसी ...

  15. 10 Lines Essay on My Country India in Hindi 2021

    Essay on my Country in Hindi 10 Lines. 1. ⇒ भारत दुनिया का 7 वां सबसे बड़ा देश है।. 2. ⇒ भारत की राजधानी नई दिल्ली है।. 3. ⇒ भारत की मुद्रा रुपया है।. 4. ⇒ भारत का ...

  16. My Country Essay India In Hindi And English

    Mahatma Gandhi, Jawaharlal Nehru, Lala Lajpat Rai, Subhash Chandra Bose, and many others are the gems of India. it is a great country. it has always been a torch-bearer to the rest of the world. my country is a fit adobe for the gods. 100 words मेरा देश भारत पर निबंध My Country Essay India In Hindi

  17. मेरे सपनों का भारत पर निबंध (India Of My Dreams Essay in Hindi) 200

    मेरे सपनों का भारत पर 10 पंक्तियाँ (10 Lines on India of My Dreams in Hindi) 1) मुझे अपने सपनों का भारत देखना अच्छा लगता है।. 2) मैं अपने देश में सभी को खुश देखना ...

  18. My Country Essay in Hindi

    ND. मेरे देश का नाम भारत है। भारत को इंडिया तथा हिंदुस्तान नाम से भी जाना जाता है। मेरे देश की जनसंख्‍या लगभग 1 अरब 21 करोड़ है। यहां अनेक ...

  19. Essay on India For Students and Children

    500+ Words Essay on India. India is a great country where people speak different languages but the national language is Hindi. India is full of different castes, creeds, religion, and cultures but they live together. That's the reasons India is famous for the common saying of " unity in diversity ". India is the seventh-largest country in ...

  20. Essay On My India Is Great In Hindi

    Essay On My India Is Great In Hindi Essay On My India Is Great In Hindi 2. The Medieval, Catholic Roots Of The Elizabethan Era The Great Chain of Being ideology developed before the Elizabethan Era, and was supported by the people of Catholic religion. The Elizabethan Era took place from 1558 to 1603, during the reign of Queen Elizabeth I, in ...

  21. हिंदी निबंध (Hindi Nibandh / Essay in Hindi)

    हिंदी में निबंध (Essay in Hindi) - छात्र जीवन में विभिन्न विषयों पर हिंदी निबंध (essay in hindi) लिखने की आवश्यकता होती है। हिंदी निबंध लेखन (essay writing in hindi) के कई फायदे हैं। हिंदी ...

  22. My Vision for India in 2047 Essay in English & Hindi

    On this page, you will find an essay on "My Vision for India in 2047" provided in both English and Hindi languages.The essay discusses the author's perspective on what India should aspire to achieve by 2047, which marks the centenary of India's independence.The author emphasizes the need to address various challenges facing India in areas such as education, healthcare, technology, and ...

  23. A Small Army Combating a Flood of Deepfakes in India's Election

    June 1, 2024. Through the middle of a high-stakes election being held during a mind-melting heat wave, a blizzard of confusing deepfakes blows across India. The variety seems endless: A.I.-powered ...

  24. India's Perilous Border Standoff With China

    The origins of China and India's border dispute go back to the 1950s, when Chinese forces occupied Tibet, which had long served as a buffer zone between the two countries. The governments of China and India inherited the borders of the regimes they replaced, the Qing dynasty and British India, leading to a welter of overlapping claims.

  25. Free Online Courses with Certificates [2024]

    Great Learning Academy is our initiative to provide free online courses in various domains so professionals and students can learn the required skills and achieve career success. We have a library of free content with over 1500+ courses on trending and high-demand topics. Also, we regularly organize free live sessions and webinars with industry ...